अडाणी भारतीय अरबपति 154.7 अरब डॉलर ( करीब 12.34 लाख करोड़ रुपए ) की नेटवर्थ के साथ शुक्रवार को दुनिया के दूसरे सबसे अमीर कारोबारी बने । फोर्ब्स की रियल टाइम बिलेनियर्स लिस्ट के मुताबिक, फ्रांस के बर्नार्ड अरनॉल्ट को पछाड़कर गौतम अडाणी ने ये मुकाम हासिल किया था । यह पहली बार हुआ, जब कोई एशियाई फोर्ब्स बिलेनियर्स इंडेक्स के टॉप-2 में शामिल हुआ ।

154.7 अरब डॉलर (करीब 12.34 लाख करोड़ रुपए) की नेटवर्थ के साथ शुक्रवार को दुनिया के दूसरे सबसे अमीर कारोबारी बने । फोर्ब्स की रियल टाइम बिलेनियर्स लिस्ट के मुताबिक, फ्रांस के बर्नार्ड अरनॉल्ट को पछाड़कर गौतम अडाणी ने ये मुकाम हासिल किया था । यह पहली बार हुआ, जब कोई एशियाई फोर्ब्स बिलेनियर्स इंडेक्स के टॉप-2 में शामिल हुआ ।

अडाणी कौन है ?

गौतम अडाणी भारत के जाने माने अडानी एंटरप्राइज लिमिटेड के संस्थापक और अडाणी ग्रुप के फाउंडर है । ऐसा कहा जाता है कि, ये हमेशा मुकेश अंबानी को टक्कर देते हुए दिखाई देते है । अमूमन भारत के बिजनेस घरानों को खड़ा करने के लिए ना जाने कितनी पीढ़ियां गुजर जाती है । जब जाकर एक बिजनेस अंपायर खड़ा होता है । ऐसा ही मुकाम हासिल किया है गौतम अडाणी ने ताकि उनके आने वाली पीढ़ि आसानी से जीवन गुजार सके । आपको बता दें की ये भारत में कोल माइनिंग, एक्सपोर्ट, इलेक्ट्रिसिटी और ग्रीन एनर्जी, गैस और पेट्रोलियम आदि के व्यवसाय संभालते है ।

अडाणी

गौतम अडाणी का जन्म अहमदाबाद के रतनपोल स्थित मध्यमवर्गीय जैन परिवार में 24 जून 1962 में हुआ । इनके पिता का नाम शांतिलाल अडानी है, जो एक कपड़ा व्यापारी थे । इनकी मां का नाम शांताबेन । ये सात भाई-बहन हैं। गौतम अडाणी जिनकी पत्नी का नाम है प्रीति अडानी। वो पेशे से डेंटिस्ट है लेकिन इस समय पर अडानी फाउंडेशन के चेयरपर्सन का कार्यभार संभाल रही हैं। उनकी पत्नी के नेतृत्व में अडानी फाउंडेशन शिक्षा, स्वास्थ्य, आजीविका, ग्रामीण विकास जैसे काम देखे जा रहे है । वो कई संगठनों के साथ मिलकर भी काम कर रही है । वहीं गौतम अडानी के दोनों बेटे करण और जीत अडानी अभी अपनी पढ़ाई कर रहे है ।

अंबानी दुनिया के 8वें सबसे अमीर आदमी

एशिया के सबसे रईस व्यक्ति अडाणी के अलावा रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी फोर्ब्स की टॉप-10 लिस्ट में शामिल होने वाले दूसरे भारतीय है । 7.35 लाख करोड़ (92.1 अरब डॉलर) की नेटवर्थ के साथ मुकेश अंबानी दुनिया के 8वें सबसे अमीर आदमी है ।

 

17 दिन पहले तीसरे सबसे अमीर कारोबारी बने थे

17 दिन पहले अडाणी दुनिया के तीसरे सबसे अमीर कारोबारी बने थे। अडाणी ने अकेले 2022 में अपनी नेटवर्थ में 78.2 बिलियन डॉलर जोड़े है । ये किसी भी कारोबारी से 5 गुना ज्यादा है । उन्होंने पहली बार फरवरी में रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी को सबसे अमीर एशियाई के रूप में पीछे छोड़ा था ।

अडाणी

अडाणी की शिक्षा

गौतम अडाणी की शुरूआती शिक्षा सेठ चिमनलाल नागिदास स्कूल से हुई । इसके बाद उन्होंने गुजरात यूनिवसिर्टी से कोमर्स में ग्रेजुएशन की पढ़ाई शुरू की । लेकिन किसी कारण वो ग्रेजुएशन पूरी नहीं कर पाए और बीच में पढ़ाई छोड़ दी । इसके बाद वो अपने परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए मुंबई आए । जब वो मुंबई पहुंचे तो उनकी जेब में केवल 100 रूपये ही थे ।

 

अडाणी से जुड़ी दिलचस्प बातें और अननोन फैक्ट्स

  • साल 1980 में आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण गौतम अडाणी का परिवार थराद जा बसा ।
  • गौतम अडाणी की इंग्लिश काफी खराब थी, लेकिन उनके दोस्त मलय की इंग्लिश में पकड़ काफी अच्छी थी । आगे चलकर दोनों बिजनेस पार्टनर बने । इसके बाद ही शुरू हुआ गौतम अडानी का फर्श से अर्थ का सफर ।
  • बिजनेस में रूचि रखने वाले गौतम अडाणी अपनी पढ़ाई बीच में छोड़कर 1978 में मुंबई आ पहुंचे । जहां उन्होंने महिंद्रा ब्रदर्स की मुंबई वाली शाखा में नौकरी की । हालांकि गौतम अडानी काफी समझदार और मेहनती थे । इसलिए उन्होंने काम करते-करते व्यापार के सारे नियम और बाजर के बदलते ट्रेंड के बारे में जानकारी अच्छे से लेनी शुरू कर दी । व्यापार की अच्छी समझ होने के बाद उन्होंने वहां से नौकरी छोड़ दी और आभूषणों के सबसे बड़े जावेरी बाजार में अपना खुद का डायमंड ब्रोकरेज खोल लिया ।
  • इम्पोर्ट एक्सपोर्ट के बिजनेस में अडाणी से साल 1981 में अपना सिक्का अजमाया । जहां वो कामयाब रहे। ऐसा कहा जाता है कि, इसमें उनके बड़े भाई मनसुखभाई अडानी ने अहमदाबाद में एक पीवीसी यूनिट खोली थी और उसको मैनेज करने के लिए इन्हें बुलाया था । तबसे ही उन्होंने इसमें भी अपना पैर पक्का कर लिया ।
  • गौतम अडाणी के समूह की कॉर्पोरेट सामाजिक कार्यों में सबसे आगे रहता है । ऐसे में अडानी फाउंडेशन को 2014 में तीसरे वार्षिक ग्रीनटेक सीएसआर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया । जिसके बाद उन्होंने अपने फाउंडेशन के जरिए बहुत अच्छे काम किए ।
  • उनका कहना है कि, अगर आप व्यापार करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो इस बात को ध्यान में रखें कि, उसमें काफी जोखिम हो सकता है । इसलिए व्यापार करें लेकिन उससे कभी ना डरे ।
  • रइंफ्रास्ट्रक्चर का उद्देश्य देश की संपत्ति का निर्माण कराना है । जो राष्ट्र निर्माण का हिस्सा है ।उन्होंने कहा कि, मैंने अपनी पढ़ाई पूरी नहीं की लेकिन मुझे इतना समझा आ गया कि, मुझे अगर कुछ हासिल करना है तो मेहनत अब करनी होगी ।
  • गौतम अडाणी का हमेशा से ही कहना है कि, उन्हें राजनीति पसंद नहीं इसलिए वो राजनितिक पार्टियों से जुड़े हुए नहीं है लेकिन फिर भी राजनितिक पार्टियां उनकी दोस्त है ।
  • उनका कहना है कि, या तो आप अंतर्मुखी होते हो या फिर बहिमुर्खी । अगर इस हिसाब से देखा जाए तो मैं अंतर्मुर्खी हूं, वो कहते हैं कि, वो सामाजिक व्यक्ति नहीं हैं क्योंकि उन्हें किसी भी पार्टी में जाना पसंद नहीं है ।
  • उनका मानना है जो आपका जीवन का लक्ष्य है उसपर अटल रहो देखना एक दिन आप उसके शिखर पर अवसर दिखाई देगें ।
  • उनका कहना है कि, मैं जो भी बात करता हूं सरल तरीके से करता हूं ताकि सामने वाले व्यक्ति को मेरी बातें समझ आए ।
  •  कॉम्पिकेट तरीके से बात करने से कुछ भी समझ नहीं आता ।
  • गौतम अडानी का कहना है कि, वो अपनी निवेश निति हमेशा राष्ट्र को हित में रखते हुए तय करते है । जिसमें कभी भी बदलाव नहीं होता ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here