युवा देश का वो भविष्य होते है जिनके हाथ में आने वाले समय की बागडोर होती है फिर चाहे वो राजनीति का हो, सिनेमा जगत का हो, बिजनेस का हो या फिर खेल जगत का हो. ऐसे में खिलाड़ियों का एक ऐसा वीडियों सामने आया है, जिसे देख लोग भड़क गये और प्रशासन पर सवाल उठ रहें है.

जो वीडियो सामने आया है वो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर स्टेडियम का है. जहां पर तीन दिवसीय राज्य स्तरीय अंडर-17 लड़कियों के कबड्डी टूर्नामेंट में भाग लेने वाले लगभग 200 खिलाड़ियों को टॉयलेट में पका हुआ चावल परोसा गया।
इस वीडियो के सामने आने के बाद शासन ने इसे गंभीरता पूर्वक स्पोर्ट्स ऑफिसर अनिमेष सक्सेना को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। इतना ही नहीं सहारनपुर जिलाधिकारी ने एडीएम को इस पूरी घटना के जांच की जिम्मेदारी देते हुए 3 सदस्य टीम का गठन किया है और 3 दिन में रिपोर्ट देने के लिए कहा है. जिसके बाद एडीएम एफ. रजनीश कुमार मिश्रा, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर स्टेडियम पहुंचे और उन्होंने वहा पर मौके का जायजा लिया. तो वही यूपी कबड्डी संघ ने राज्य स्तरीय सब जूनियर बालिकाओं की प्रतियोगिता की मेजबानी सहारनपुर को दी थी और यह प्रतियोगिता 16 से 18 सितंबर तक स्पोर्ट्स स्टेडियम में होनी थी. इसमें शामिल होने के लिए 17 मंडलों और एक खेल छात्रावास की टीमें पहुंची थी.
आपको बता दें कि इस प्रतियोगिता में करीब 300 खिलाड़ी थे, तो वही इन सब खिलाड़ियों के ठहरने और खाने का अरेंजमेंट स्टेडियम में ही किया गया था. खिलाड़ियों के खाने के लिए 2 कारीगर लगाए गए थे और ईटों का चूल्हा बनाकर स्विमिंग पुल के पास खाना तैयार किया गया था. खाने में एक एक चावल का परात टॉयलेट में रख दिया गया था. बताया जा रहा है कि खाने में मिले चावल भी अधपके थे यानि की कच्चे था जिन पर खिलाड़ियों ने गुस्सा जताया तो उन्हें वहां से हटा लिया गया. जिसके बाद सिर्फ आलू की सब्जी, दाल और रायता ही रह गया था.

बता दें कि खाना जिस टॉयलेट में रखा गया था, वहां ढेर सारी गंदगी थी. बदबू के कारण वहां पर खड़ा होना भी मुश्किल था. और सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रही है उसकी जांच, अधिकारी एडीएम एफ रजनीश मिश्र स्टेडियम पहुंचे और जांच की. रजनीश मिश्र ने बताया कि सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो आए थे जिसकी जांच के लिए वो यहां पर आएं हैं. उन्होंने कुछ खिलाड़ियों से बात भी की. उनके बयान लिए गए. इन सब के अलावा जो वीडियो वायरल हुए हैं, उनकी सत्यता की भी जांच की जा रही है. तो वही खिलाड़ियों के बयान के आधार पर रिपोर्ट तैयार करके रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपी जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here