17 सिंतबर, 1950 को गुजरात राज्य के मेहसाना जिले के एक छोटे शहर वडनगर में नरेंद्र दामोदरदास मोदी का जन्म हुआ था । उस समय ये बॉम्बे में था जो बाद में गुजरात का हिस्सा बना । नरेद्र मोदी के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी और वे अपने 5 भाई-बहनों में तीसरे नंबर के है । उनके पिता की रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी और स्कूल से घर आने पर वे अक्सर अपने पिता की मदद के लिए चाय बांटने का काम करते थे ।

नरेंद्र मोदी की स्कूल के समय से ही वाद-विवाद में बहुत रुचि थी । वह बचपन से ही राजनीति में नहीं जाना चाहते थे । वह 13-14 वर्ष की आयु में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शामिल हो गए थे । 1964 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान, वह अकेला था जो सेना के जवानों के लिए भोजन देने के लिए रेलवे स्टेशन पर रुका था।

स्टेशन पर आने वाले सैनिकों को देकर मोदी के मन में हमेशा रहता था कि वे देश के लिए कुछ करे । बचपन के उनके कई किस्से हैं और उन्होंने खुद बताया कि वे काफी शरारती हुआ करते थे । नरेंद्र मोदी ने अपने बचपन के दिनों में काफी कठिनाइयों का सामना किया है लेकिन अपने चरित्र और साहस से उन्होंने सभी चुनौतियों का सामना किया ।

नरेंद्र मोदी

नरेंद्र मोदी से जुड़े दिलचस्प किस्से

  • नरेंद्र मोदी बचपन से ही भारतीय आर्मी में शामिल होना चाहते थे और उन्होने कोशिश भी की थी लेकिन वित्तिय स्थिति अच्छी नहीं होने के काण उन्हें एडमिशन नहीं मिल पाया था ।
  • नरेंद्र मोदी जी का जन्म गुजरात राज्य के मेहसाणा जिले के एक छोटे से शहर वडनगर में हुआ था । जब उनका जन्म हुआ था तब वह बंबई में थे, लेकिन अब यह गुजरात में है । नरेंद्र मोदी के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, उनके पिता एक गली के व्यापारी थे, जिन्होंने अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिए बहुत संघर्ष किया था ।
  • नरेंद्र मोदी की मां गृहिणी है । नरेंद्र मोदी बचपन में अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए अपने भाइयों के साथ रेलवे स्टेशन और फिर बस टर्मिनल में चाय बेचते थे । मोदी जी ने अपने बचपन के दिनों में कई कठिनाइयों और बाधाओं का सामना किया था, लेकिन अपने चरित्र और साहस के बल पर उन्होंने सभी चुनौतियों को अवसरों में बदल दिया । इस तरह उनका शुरुआती जीवन काफी संघर्षपूर्ण रहा ।
  • नरेंद्र मोदी की प्रारंभिक शिक्षा वडनगर में हुई । मोदी जी के शिक्षकों के अनुसार मोदी जी एक साधारण छात्र थे । लेकिन उनकी रुचि वाद-विवाद में अधिक थी ।
  • नरेंद्र मोदी अपनी कक्षा के सर्वश्रेष्ठ वक्ता थे । मोदी ने अपनी स्कूली शिक्षा 1967 में पूरी की । मोदी जी ने उसी दौरान अपने बड़े भाई सोमभाई मोदी के साथ चाय बेचना शुरू किया । कुछ देर बाद मोदी जी घर से चले गए । घर से निकलने के बाद मोदी जी उत्तर भारत के कई राज्यों में घूमने और हिंदू संस्कृति को जानने के लिए गए । 4 साल तक भारत के उत्तर-पूर्वी राज्यों का दौरा करने के बाद, मोदी 1971 में गुजरात लौट आए । गुजरात आने के बाद,  नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक भी बने । 1978 में मोदी ने दिल्ली विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातक किया । साल 1983 में, मोदी ने गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में मास्टर डिग्री भी प्राप्त की ।
  •  18 साल की उम्र में नरेंद्र मोदी ने घर छोड़ दिया था और वे भारत के अलग-अलग हिस्सों में यात्रा करने के लिए निकल पड़े थे ।
  • साल 1990 में एल के आडवानी की अयोध्या रथ यात्रा के संचालन में मदद करने के बाद पार्टी में नरेंद्र मोदी की क्षमताओं को मान्यताएं मिली और उनका पहला राष्ट्रीय स्तर का राजनीतिक कार्य बना ।
  • साल 1991-92 में मुरली मनोहर जोशी के साथ एकता यात्रा भी की और इसी दौरान आतंकियों के धमकाने पर भी नरेंद्र मोदी जोशी जी के साथ कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने पहुंच गए थे । साल 2001 में नरेंद्र मोदी ने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था और राजकोट में 2 सीटों से जीत हासिल की थी ।
  • इसके बाद गुजरात के मुख्यमंत्री बन गए, दरअसल उस समय केशुभाई पटेल का स्वास्थ्य खराब था तो अटल बिहारी बाजपेयी ने मोदी जी को सीएम बनने का सुझाव दिया । इसके बाद बीजेपी से गुजरात के पीएम नरेंद्र मोदी बने और 7 अक्टूबर, 2001 को मोदी ने शपथ ली थी । इसके बाद उनकी हर चुनाव में जीत होती चली गई ।
  • साल 2002 में राजकोट द्वितीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए उपचुनाव जीता और उन्होंने कांग्रेस के अश्विन मेहता को करीब साढ़े 14 हजार वोट से हराया था ।
  • नरेंद्र मोदी ने गुजरात में तीन बार मुख्यमंत्री पद को हासिल किया और जनता में इन्हें लेकर अलग ही उत्साह रहता था । इसके बाद साल 2014 के विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने नरेंद्र मोदी  को प्रधानमंत्री के उम्मीदवार के रूप में तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह के सामने खड़ा किया था ।
  •  प्रधानमंत्री मोदी ने अपना अधिकारिक निवास अपने किसी भी परिवार के साथ शेयर नहीं किया है । उनका कहना है कि ये उनके काम करने का स्थान है यहां वे घूमने आ सकते हैं लेकिन रहने नहीं ।
  • नरेंद्र मोदी स्वामी विवेकानंद जी को बहुत मानते हैं और उनके महान अनुयायी भी है । इसके अलावा वे अटल बिहारी बाजपेयी को भी बहुत मानते है ।
  • बराक ओबामा के बाद नरेंद्र मोदी के ट्विटर पर दुनिया में सबसे ज्यादा फॉलोवर्स है । इनके लगभग 12 मिलियन से ज्यादा फॉलोवर्स हैं और बता दें कि बराक ओबामा के पीएम मोदी बहुत अच्छे दोस्त है ।
  • जब नरेंद्र मोदी बीजेपी में सिर्फ एक कार्यकर्ता थे , तब उन्होंने सफाई से लेकर खाना बनाने तक का सभी काम खुद ही किया है । इंटरनेट पर उनकी कई तस्वीरें उपलब्ध है ।
  • नरेंद्र मोदी स्वामी विवेकानंद जी को बहुत मानते हैं और उनके महान अनुयायी भी हैं। इसके अलावा वे अटल बिहारी बाजपेयी को भी बहुत मानते है ।
  • साल 2016 में लंदन के मेडम तुषाद म्यूजियम में नरेंद्र मोदी का एक वैक्स स्टेचु बनाया गया था । इस दौरान नरेंद्र मोदी के अंगों का माप लेने मेडम तुषाद की स्पेशल टीम यहां आई थी ।
  • नरेंद्र मोदी को उनके ड्रेसिंग सेंस और दिल को छू जाने वाले भाषण के लिए सबसे ज्यादा जाना जाता है । उनहें पारंपरिक पोशाक सबसे ज्यादा पसंद है ।
  • नरेंद्र मोदी सिर्फ शाकाहारी भोजन ही करते है । साहित्य में, योग करने और पढ़ने की चीजें पसंद है । नेताओं में स्यामा प्रसाद मुखर्जी और अटल बिहारी बाजपेयी उनके आदर्श है ।
  • अपने काम के 13 सालों के दौरान नरेंद्र मोदी ने छुट्टी नहीं ली और वे 24 घंटों में सिर्फ 5 घंटे ही सोते हैं वरना 18 घंटों तक काम करते है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here