सभी चरण के मतदान के बाद जो नतीजे आए वो एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में है। एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन गई है। लोगो में काफी उत्साह है और इन सब के बीच बुलडोजर भी बहुत तेजी से वायरल हो रहा। लोग योगी जी को बाबा बुलडोजर भी कह रहे है। आपने देखा होगा चुनाव प्रचार के दौरान योगी जी के जनसभाओं में बुलडोजर खड़े रहते थे। आपको बता दे की चुनाव भाजपा के पक्ष में जाने के बाद से युवाओं में भी बुलडोजर को लेकर काफी क्रेज है। वाराणसी में लोग अपने हाथो में बुलडोजर का टैटू बनवा रहे है। बुलडोजर का क्रेज ज्यादा पुराना नहीं है बल्कि अपको बता दे कि, 2017 में योगी आदित्यनाथ को सीएम बनने के बाद से आया। जिस तरह से योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में माफिया, गुंडे, और जमीनों पर अवैध कब्जा करने वाले लोगो पर लगाम लगाया है। तबसे लोग योगी आदित्यनाथ को बाबा बुलडोजर के नाम से जानने लगे है। जिस प्रकार से उन्होंने पूर्व की सरकारों में पल रहे गुंडों और माफियो को जेल में डाला और उनके द्वारा गरीबों और किसानों की अवैध तरीके से जमीनों पर कब्जे को लेकर कार्यवाई की है, जिसकी लोग सराहना कर रहे है। चाहे वो प्रयागराज के अतीक अहमद हो या मुख्तार अंसारी, या विकास दुबे सबके ऊपर करवाई की गई और सारे अवैध कब्जे को बाबा के बुलडोजर ने धाराशाही कर दिया। भारतीय जनता पार्टी ने जीरो टॉलरेंस नीति के साथ एक नई जमीन तैयार कर ली है, और यही कारण है की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना काल में मिशन मोड में उतरने के साथ ही माफिया को बुलडोजर को बूस्टर डोज देकर करीब 855 करोड़ की संपति भी जब्त की है। बुलडोजर को लेकर विपक्ष हमेशा से ही भारतीय जनता पार्टी पर हमला करता आ रहा है। भाजपा ने कानून व्यवस्था को बरक़रार रखने के लिए प्रदेश में चिन्हित 25 माफिया गिरोह व आठ अन्य अपराधियों की 855 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध संपत्ति गैंगेस्टर एक्ट के तहत ध्वस्त व जब्त की गई। माफिया मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, बृजेश सिंह, उधम सिंह, सुशील मूंछ, सुंदर भाटी, अनिल दुजाना, खान मुबारक व अन्य माफिया गिरोह के सदस्यों पर कानूनी शिकंजा कसा है।

 

मोदी – योगी की तस्वीर वाली साड़ी और बुलडोजर वाली दुकान खूब हो रही वायरल।

 

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान मोदी-योगी प्रिंट की साड़ियां भी खूब चर्चा में रहीं। गुजरात के व्यापारियों ने सीएम योगी के चुनाव प्रचार के लिए ये स्पेशल साड़ियां बनाई थीं। इन साड़ियों में योगी-मोदी की तस्वीर छपी थी। विधानसभा चुनाव के दौरान करीब 1 लाख साड़ियां यूपी भेजी गई थीं। साड़ियों के बाद, अब सीएम योगी का बुलडोजर बाबा वाला टैटू लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है। इससे ही सीएम योगी की लोकप्रियता का अनुमान लगाया जा सकता है। और वही इंटरनेट पर एक दूसरी फोटो भी वायरल हो रही जिसमे सड़क किनारे एक जूस की दुकान लगी है। दुकान का नाम बुलडोजर बाबा और ऊपर लिखा है, मई जून की गर्मी को शिमला बनाने वाली प्रमुख जगह।

 

योगी – मोदी ने माना इस प्रचंड जीत के पीछे महिलाओं का बड़ा योगदान।

 

विधानसभा चुनाव के लिए मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्वास जताया था कि महिलाओं का समर्थन भाजपा को मिलेगा। छह चरणों के मतदान के बाद दावा किया कि माता-बहनें भाजपा के साथ हैं और चुनाव परिणाम आने के बाद प्रधानमंत्री के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी खुलकर कहा कि भाजपा की प्रचंड बहुमत की जीत में महिला मतदाताओं की बड़ी भूमिका है। समाचार एजेंसियों के सर्वे भी कह रहे हैं कि सपा की तुलना में 16 फीसद अधिक महिलाओं को भाजपा को वोट दिया है, जबकि पुरुषों के मामले में महज चार फीसद का ही अंतर है। ये आत्मविश्वास और परिणाम यूं ही नहीं है। सत्ताधारी दल ने आधी आबादी पर पूरा प्रभाव छोड़ने की रणनीति पर पहले से काम शुरू कर दिया था। मसलन, केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों में महिलाएं ही ज्यादा थीं। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आवास योजना से दिए गए घर का स्वामित्व महिला को दिया गया। घर में चूल्हा फूंकती 1.67 करोड़ गरीब महिलाओं को मुफ्त रसोई गैस दी। 2.61 करोड़ शौचालय निर्माण कर इसे नारी गरिमा की रक्षा से जोड़ा। कोरोना काल में आए संकट के बाद से मिल रहे डबल राशन ने महिलाओं की रसोई की चिंता हर ली। योगी सरकार की कानून व्यवस्था ने भी महिलाओं को सुरक्षा का भरोसा दिलाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here