अभी कुछ दिन पहले खबर थी कि मुलायम सिंह यादव की छोटी बहु अपर्णा सिंह यादव भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन कर सकती है।
कई दिन से अटकलें लगाई जा रही थी लेकिन आज साफ हो गया। अपर्णा बिष्ट यादव ने आज दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी का सदस्यता ग्रहण किया। समाजवादी पार्टी के लिए ये बड़ा नुकसान साबित हो सकता है। क्योंकि इसके पहले मुलायम सिंह यादव के समधी हरिओम यादव भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम चुके है। जोकि सिरसागंज के तीन बार विधायक रह चुके है। आपको बता दे कि अपर्णा सिंह यादव लखनऊ कैंट से 2017 में समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ी थी जिसमे उनको हार मिली थी।

 

लखनऊ कैंट से लड़ सकती है चुनाव

 

भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता लेने के बाद अब ये भी कहां जा रहा है कि, अपर्णा बिष्ट यादव लखनऊ कैंट से उम्मीदवार हो सकती है। 2017 में वो लखनऊ कैंट से समाजवादी पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ी थी और उन्हें प्रयागराज की मौजूदा सांसद रीता बहुगुणा जोशी से हार का सामना करना पड़ा था। जबकि उनके चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी प्रचार किया था।

 

क्या कहा अपर्णा बिष्ट यादव ने ?

 

भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता लेने के बाद उन्होंने कहा कि, मेरे लिए सबसे ज्यादा जरूरी राष्ट्र है, और मैं प्रधानमंत्री जी से पहले से ही प्रभावित हूं, उन्होंने आगे कहा कि मैं राष्ट्र की आराधना करने निकली हूं और मुझे आशा है की आप सभी का साथ मिलेगा। मैं हमेशा से प्रभावित थी क्यों कि प्रधानमंत्री जी की कार्यशैली की वजह से चाहे वो रोजगार की बात हो, या स्वच्छ भारत अभियान की या महिलाओं की बात, सबके लिए भारतीय जनता पार्टी सदैव तत्पर रहती है।

 

स्वतंत्र देव सिंह और केशव मौर्य ने दिलाई सदस्यता।

 

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अपर्णा बिष्ट यादव को सदस्यता दिलाते हुए कहा कि आज नेता मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव भारतीय जनता पार्टी की सदस्य बनने जा रही हैं और कारण ये है कि, समाजवादी पार्टी की शासन में बेटी, और महिलाएं सुरक्षित नही रहती थी। क्योंकि इनकी सरकार में गुंडों माफियाओं को ज्यादा तवज्जो दी जाती है। सपा के शासन में न बेटा, न बेटी और न किसान, कोई सुरक्षित नहीं था। अगर किसी की गिरफ्तारी होती थी तो मियां जान का फोन आ जाता था। आगे उन्होंने कहा की सपा के शासन में अखिलेश यादव की नही चलती थी केवल आजम खान की चलती थी। और एक आतंक का माहौल था। वही केशव प्रसाद मौर्य के कहा कि, मुझे ये प्रसन्नता हो रही की मुलायम सिंह यादव की पुत्रवधू होने के बावजूद भी वो बीजेपी में शामिल हो रही है और मैं आपको बता दूं कि अखिलेश यादव अपने परिवार में भी सफल नही है।

 

आइए जानते है अपर्णा सिंह के बारे में

 

सबसे पहले आपको बता दे अपर्णा बिष्ट मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना यादव के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी है उनका जन्म 1 जनवरी 1990 को हुआ था उनके पिता अरविंद सिंह बिष्ट एक पत्रकार रहे हैं। पिता सपा सरकार में सूचना आयुक्त भी बनाए गए थे। अपर्णा और प्रत्येक स्कूल के दिनों ही मिले थे। उनकी स्कूली शिक्षा लखनऊ के लोरेटो कन्वेंट इंटरमीडिएट कॉलेज से हुई उन्होंने ब्रिटेन के मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल रिलेशन एंड पॉलीटिकल में मास्टर डिग्री ली साथ ही उन्होंने भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय में 9 वर्ष तक शास्त्रीय रूप में औपचारिक शिक्षा ग्रहण की है। अपर्णा प्रति की सगाई 2010 में हुई थी दोनों की शादी दिसंबर 2011 में मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई में हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here