सीतापुर जेल में बंद आजम खान का बेटा अब्दुल्ला खान आज जेल से रिहा हो गया। पिछले 23 महीनों से वो सीतापुर की जेल में बंद था। कुल 43 मामले में आज उसे जमानत मिली है। उसके समर्थकों को जब ये पता चला की आज वो जेल से छुट रहा है तो उसे लेने के लिए भारी संख्या में लोग आज सीतापुर पहुंचे। हालांकि बेटा तो जेल से आ गया लेकिन आजम खान अभी भी जेल में बंद है। जेल से रिहा होने के बाद भारी भीड़ के साथ अब्दुल्ला खान पूर्व विधायक अनूप गुप्ता से मिलने उनके घर पहुंचा। जेल से रिहा होते ही मीडिया में उसने बयान दिया की भारतीय जनता पार्टी में सभी परेशान है। इसलिए वो पार्टी छोड़ के समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहा हूं। और उसने कहा की जेल में भी उसके साथ कुछ अच्छा व्यवहार नहीं होता था। आतंकवादियों की तरह पेश आते थे लोग, और साथ ही साथ उसने ये भी कहा की मैं भी विधानसभा चुनाव लड़ूंगा और जीतूंगा भी आप सब बस 10 मार्च का इंतजार करिए अखिलेश यादव फिर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने का रहे है।

आपको अवगत करा दे कि 2017 में रामपुर के स्वार विधानसभा सीट से अब्दुल्ला खान चुनाव लड़ा था और उसने जीत भी हासिल की थी लेकिन,कांग्रेस के प्रत्यासी रहे नवाब काजिम अली और सुना वेद मियां ने अब्दुल्ला की कम उम्र को लेके शिकायत दर्ज कराई थी जिस पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अब्दुल्ला का निर्वाचन रद्द कर दिया था।

 

लगभग 45 मुकदमे दर्ज है अब्दुल्ला खान के ऊपर।

 

अब्दुल्ला खाना के ऊपर लगभग 45 मुकदमे दर्ज थे। राहत इस बात की है की अब सभी मुकदमों से जमानत मिल चुकी है। आपको बता दे कि दो दो फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाने का भी मामला था। जिसके लिए 2019 में बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने आजम खान के बेटे अब्दुल्ला खान और आजम खान की पत्नी के ऊपर धोखाधड़ी और फर्जी जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के मामले में एफआईआर लिखवाई थी जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अप्रैल 2019 में चार्जशीट दाखिल कर दी थी। और तभी से अदालत में मुकदमा विचाराधीन था।

 

जेल से निकलते ही उड़ाई आचार संहिता और कोवीड प्रोटोकॉल की धज्जियां।

 

जेल से बाहर आते ही भरी संख्या में अब्दुल्ला और आजम खान के समर्थक जेल के बाहर उसके इंतजार में जमा हो हुए और ढेरों गाड़ियों के काफिले के साथ अब्दुल्ला खान रामपुर के लिए रवाना हुआ।

 

खबर है आजम खान भी लड़ सकते है चुनाव

 

ऐसा अनुमान लगाया जा रहा कि रामपुर शहर सीट से खुद आजम खान चुनाव लड़ सकते है। क्योंकि आजम खान अभी रामपुर से लोकसभा सांसद भी है। और वो यहां से कुल 9 बार विधायक रह चुके है। आपको बता दे की समाजवादी पार्टी के सबसे कद्दावर मंत्री और नेता माने जाते है आजम खान और इसीलिए वो विधानसभा का चुनाव जेल से भी लड़ सकते है। और शायद उनकी चुनाव लड़ने की तैयारी भी चल रही है।

 

100 से अधिक मुकदमे दर्ज है आजम खान के ऊपर।

 

आजम खान के ऊपर कुल 100 से भी अधिक अपराधिक मामलों में मुकदमे दर्ज है, वो रामपुर के पहले ऐसे शख्स है जिसके ऊपर इतने मुकदमे दर्ज है। खैर अभी आजम खान जेल में बंद है और ऐसा इसलिए हो पाया क्यूंकि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सत्ता में आने से पहले ही कह दिया था की उत्तर प्रदेश गुंडे माफिया और मवालियों के लिए नही है। योगी आदित्यनाथ सत्ता में आते ही ऐसे लोगो पर करवाई शुरू की और सभी को जेल में डालने का काम किया चाहे वो अतीक अहमद हो या आजम खान।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here