ब्रह्मास्त्र ” हिंदी ही नहीं साउथ बेल्ट में भी काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है । हिंदी समेत साउथ की अन्य भाषा में रिलीज हुई यह फिल्म साउथ में सबसे ज्यादा तेलुगू में जमकर कमाई कर रही है । वहीं, हिंदी बेल्ट की बात करें तो फिल्म ने पहले ही वीकएंड हिंदी भाषा में 100 करोड़ का आंकड़ा पार करते हुए बॉयकॉट गैंग को ठेंगा दिखाया है । इतना ही नहीं अपने शानदार प्रदर्शन के चलते इस फिल्म साउथ सुपर स्टार यश की ब्लॉकबस्टर फिल्म केजीएफ 2 और ऋतिक रोशन की वॉर को पीछे छोड दिया है ।

ब्रह्मास्त्र फ़िल्म रणबीर कपूर और आलिया भट्ट की बहुप्रतीक्षित फिल्म रिलीज होने के साथ ही कई रिकॉर्ड कायम कर चुकी है । शानदार प्रदर्शन कर रही इस फिल्म के लिए शुरुआती सप्ताहांत काफी अच्छा रहा है । फिल्म ने अपनी रिलीज के पहले तीन दिन में भी जमकर कमाई कर ली है । पहले दिन फिल्म जहां फिल्म ने 36 करोड़ की कमाई करते हुए इस साल हाईएस्ट हिंदी ओपनर बन गई तो वहीं दूसरे और तीसरे दिन भी फिल्म की कमाई में जबरदस्त उछाल देखने को मिला । इतना ही नहीं वीकएंड पर हुई कमाई के साथ ही रणबीर ने अपनी पिछली रिकॉर्ड धारक फिल्म संजू को पीछे छोड़ दिया है ।

 

ब्रह्मास्त्र

ब्रह्मास्त्र अयान मुखर्जी की फिल्म ने विदेशों में भी ऐतिहासिक संख्या दर्ज की है । रिपोर्ट के मुताब्क फिल्म ने यूएस/कनाडा में शानदार प्रदर्शन किया है । फिल्म ने विदेशों में पहले दिन 3 मिलियन डॉलर का आंकड़ा पार कर लिया है । जिसमें पेड प्रीव्यू भी शामिल है । 9 सितंबर को रिलीज हुई इस फिल्म को शुरुआत से ही आलोचकों और दर्शकों से मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है । अपनी ही फिल्म संजू और सलमान खान की सुल्तान को पीछे छोड़ते हुए यह फिल्म 8वीं सबसे ज्यादा ओपनिंग करने वाली फिल्म बन गई है । बायकॉट से लेकर लोगों के विरोध तक बार-बार मुश्किलों में फंसने वाली ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर विजेता बनकर उभरी है ।

पीवीआर सिंगल डे कलेक्शन 

  • ब्रह्मास्त्र (हिंदी) – 9.50 करोड़ (डे 2) ।
  • केजीएफ 2- 9.33 करोड़ ( डे 1) ।
  • वॉर- 8.85 करोड़ ( डे 1 ) ।

 

ब्रह्मास्त्र क्यों रखा गया फिल्म का नाम

ब्रह्मास्त्र हिंदू धर्म की पौराणिक गाथाओं में ब्रह्मास्त्र वह अस्त्र है , जो चलाए जाने के बाद कभी चूकता नहीं है । फिल्म में त्रेता युग की महागाथा कहती रामचरित मानस का जिक्र भी मिलता है । फिर द्वापर में हुए महाभारत के युद्ध में भी इसका प्रयोग हुआ है । यह एक ऐसा अस्त्र है जो अचूक है । इसका प्रयोग बार बार हो सकता है । और जब भी इसका प्रयोग होता है तो यह खाली नहीं लौटता । कुछ खुद इसके सामने नतमस्तक होकर पाश में बंध जाते है और कुछ को निशाने से हटाकर इसकी दिशा भी बदल दी जाती है ।

” ब्रह्मास्त्र “भारतीय दंतकथाओं में पौराणिक गाथाओं की तमाम कहानियां मुख्य कहानियों की क्षेपक कथाओं के रूप में आती है । ऐसी ही एक क्षेपक कथा सरीखी अयान मुखर्जी की 11 साल पहले सोची गई फिल्म  ” ब्रह्मास्त्र ” तीन हिस्सों में बनना प्रस्तावित है । इस कहानी का पहला हिस्सा अयान ने फिल्म ” ब्रह्मास्त्र: पार्ट वन शिवा ” के रूप में बनाया है ।  इसकी अगली कड़ी फिल्म ” ब्रह्मास्त्र: पार्ट टू देवा ” की घोषणा भी फिल्म के क्लाइमेक्स में की है और जिस मोड़ पर आकर ये कहानी रुकती है, वहां इसके दूसरे भाग को देखने के बाद फिल्म को और भी आगे देखने की दिलचस्पी देखने को मिलती है ।

ब्रह्मास्त्र: पार्ट वन ” धीमी पड़नी वहां से शुरू होती है जहां कहानी में एक ऐसा आश्रम आता है जिसके बाहर भी ” आश्रम  ” लिखा है । ऐसी गलतियां फिल्म में ढेर सारी है जिसमें दर्शकों को कुछ स्पष्ट सी बातें या तो नेपथ्य में चलती आवाज या फिर परदे पर कुछ न कुछ दिखाकर बताने की कोशिश की जाती हैं, जिसकी फिल्म में जरूरत है नहीं । सिनेमा में बहुत बताना भी बहुत अच्छा नहीं होता ।

ब्रह्मास्त्र फ़िल्म करते करते प्यार कर बैठे रणबीर कपूर और आलिया भट्ट को पहली बार परदे पर देखना असल जिंदगी के प्रेमियों को तो खूब भाने ही वाला है । फिल्म शाहरुख खान के प्रशंसकों के भी दिल को छू जाती है । अपनी दूरबीन से तारे निहारते वैज्ञानिक मोहन के घर में ब्रह्मास्त्र के पहले हिस्से की खोज में हुए हमले का पूरा सीक्वेंस दर्शकों को बांधकर रखता है । वानरास्त्र से नंदीअस्त्र तक आने की यात्रा में गति भी है और रोमांच भी है ।

ब्रह्मास्त्र फ़िल्म को लेकर बढ़ी है उत्सुकता

“ब्रह्मास्त्र: पार्ट वन शिवा ” में अमेरिका के लॉस एंजेलिस शहर के पास वाल्ट डिज्नी के बसाए पहले डिज्नीलैंड के कस्बे के रूप में मशहूर शहर अनाहाइम में देखी । अनाहाइम में दुनिया भर के पर्यटकों को मेला लगना शुरू हो चुका है । शुक्रवार से यहां डी23 एक्सपो शुरू होने वाला है । हर दो साल पर होने वाले इस जलसे में हजारों की तादाद में पर्यटक आते है । और, इस साल इसकी खासियत ये भी है कि इसी के साथ डिज्नी की स्थापना के 100 वे साल  की शुरुआत हो रही है ।

“ब्रह्मास्त्र: पार्ट वन शिवा ” भी डिज्नी की शाखा स्टार स्टूडियोज की ही फिल्म है । यह संयोग से भी  निराला ही है । डिज्नी की अंतर्राष्ट्रीय रिलीज की लिस्ट में शामिल रही ” ब्रह्मास्त्र: पार्ट वन शिवा ” को अमेरिका में देखना एक अलग एहसास इसलिए भी रहा क्योंकि यहां के सिनेमाघर में हिंदी सिनेमा के कुछ शौकीनों से भी मिलना हो गया ।

ब्रह्मास्त्र फ़िल्म में एक्टर्स का प्रदर्शन ऐसा रहा

ब्रह्मास्त्र फिल्म में शिवा के रूप में रणबीर कपूर ने ठीक काम किया है । उन्होंने कोशिश की है कि ओवर ऐक्टिंग न करें । उसमें वो काफ़ी हद तक क़ामयाब भी रहे है । ईशा के रोल में आलिया कहीं-कहीं पर ओवरऐक्टिंग का शिकार हो गई है । गुरुजी के रोल में अमिताभ ने बढ़िया काम किया है । उनकी आवाज़ इस फ़िल्म की जान है । शाहरुख भी जितनी देर स्क्रीन पर रहते हैं, बांधे रखते है । नागार्जुन ने भी ठीक काम किया है । मोनी रॉय ने बेहतरीन काम किया है । उनको जुनून के रोल के बाद और फ़िल्में मिलेंगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here