महेंद्र सिंह धोनी को कप्तानी मिलते ही फिर से चेन्नई सुपर किंग्स अपने रंग में आने लगी है। दिल्ली जैसी बेहतरीन टीम को हरा के चेन्नई ने प्लेऑफ की दौड़ रोचक बना दी है। अभी एक दिन पहले ऐसा लग रहा था की लगभग चेन्नई सुपर किंग्स इस टूर्नामेंट के प्लेऑफ के दौड़ से बाहर हो चुकी है लेकिन दिल्ली पर 91 रन की बड़ी जीत ने उसे फिर वापस इस टूर्नामेंट में ले आया है। इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल 2022 में रविवार शाम को हुए मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स की धमाकेदार जीत हुई है। चेन्नई की टीम टॉस हार कर इस मैच में पहले बैटिंग करते हुए 208 रनों का विशाल स्कोर बनाया और फिर बाद में दिल्ली कैपिटल्स को 91 रनों से हारा भी दिया। इस जीत के साथ भी भले ही चेन्नई सुपर किंग्स के प्लेऑफ में पहुंचने के चांस थोड़े बहुत ही हो लेकिन उन्होंने अब प्वाइंट टेबल के गणित को बहुत ही दिलचस्प बना दिया है। 209 रनों के विशाल टारगेट का पीछा करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स सिर्फ 117 रनों पर ही ढेर हो गई। चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से स्पिनर मोइन अली ने अपने कोटे के 4 ओवर में मात्र 13 रन देकर 3 महत्वपूर्ण विकेट लिए। मोइन अली के अलावा मुकेश चौधरी, ड्वेन ब्रावो और सिमरनजीत सिंह ने भी 2-2 विकेट लिए। टॉस भले ही चेन्नई सुपर किंग्स हार गई हो लेकिन वो शुरू से ही लय में दिख रहे थे।

 

चेन्नई सुपर किंग्स की पारी

 

चेन्नई की टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी और क्रीज पर थे ऋतुराज गायकवाड़ और डेवॉन कॉन्वे। दोनो ही बल्लेबाज कुछ मैचों से चेन्नई को अच्छी शुरुआत दे रहे है।डेवॉन कॉन्वे तो जब से टीम में आय है तब से चेन्नई सुपर किंग्स बदली बदली सी लगने लगी है। रितुराज और डेवॉन कॉन्वे ने चेन्नई के लिए क्या गजब की शुरुआत की। एक तरफ ऋतुराज टिक कर खेल रहे थे तो वही डेवॉन कॉन्वे आक्रामक होकर खेल रहे थे। दोनो ने पहले विकेट के लिए फिर रिकॉर्ड साझेदारी की। इन दोनो बल्लेबाज़ों ने 67 बॉल में 110 रनों की बड़ी साझेदारी की, जिसकी वजह से बाद में आए बल्लेबाजों को धुआंधार पारी खेलने का मौका मिल गया,और उन्होंने खेला भी। चेन्नई की अब तक सबसे बड़ी कमजोरी उसके ओपनर्स ही रहे थे लेकिन पिछले 2-3 मैचों से उसके ओपनर्स अच्छा खेल रहे हैं। इस मैच में फिर से डेवॉन कॉन्वे ने 49 गेंदों में 87 रनों की बेहतरीन पारी खेली, जबकि ऋतुराज गायकवाड़ ने उनका साथ दिया और 33 गेंदों में 41 रनों की पारी खेली। इस मैच में रवींद्र जडेजा की जगह आए शिवम दुबे ने भी 19 बॉल में 32 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। वो जिस काम के लिए टीम में आय थे उन्होंने अपना काम कर दिया। लेकिन अंत में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आकर एक बार फिर मेला लूट लिया और मात्र 8 गेंदों में 21 रन बना डाले,जिसमे 2 शानदार छक्के शामिल थे और 1 चौका। चेन्नई सुपर किंग्स ने 20 ओवर में 208 का बड़ा स्कोर बनाया और दिल्ली कैपिटल्स के लिए मुश्किल खड़ी कर दी। जिस तरीके से चेन्नई सुपर किंग्स ने खेला है इस मैच को ऐसा कही भी नही लगा की ये टीम अंकतालिका में नीचे है।

 

दिल्ली कैपिटल्स की पारी

 

209 रनों का पीछा करने उतरी दिल्ली की टीम की शुरूआत ही खराब रही और 16 रन पर ही पहला विकेट गिर गया। उसके बाद इस सीजन में दिल्ली के लिए सबसे अच्छा खेल रहे डेविड वार्नर ने जिम्मेदारी उठाया और 2-3 अच्छे शॉट्स लगाए और फिर 36 रन के स्कोर पर आउट होकर वापस लौट गए। वार्नर ने 12 गेंदों पर 19 रन बनाय। अब 2 विकेट गिरने के बाद दिल्ली की टीम पूरी प्रेशर में आ चुकी थी। उसके बाद थोड़ी सी पारी को संभाला मिचेल मार्श और कप्तान ऋषभ पंत ने। दोनो ने अपने अपने हाथ खोले और टीम का स्कोर 36 से 72 तक पहुंचा दिया। इसके बाद तो दिल्ली के विकेट की झाड़ियां लग गई। एक प्लेयर आता और 2 बाल खेल कर वापस लौट जाते। शारदुल ठाकुर ने जरूर अच्छा खेलने का प्रयास किया लेकिन जीत हाथ से निकल चुकी थी। चेन्नई की ओर से मुकेश चौधरी ने अपने स्पेल के 3 ओवर डाले और उन्होंने 22 रन दे दिए साथ ही 3 विकेट भी झटके। शिमरजीत सिंह को भी अपने कोटे के 4 ओवर से 27 रन दिए है और 2 विकेट चटकाय। चेन्नई सुपर किंग्स ने इस आईपीएल की अब तक की सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। और इसी के साथ प्लेऑफ की दौड़ को भी रोचक बना दिया है। वैसे तो चेन्नई सुपर किंग्स का प्लेऑफ में पहुंचना असंभव सा है लेकिन वो दूसरी टीमों की खेल जरूर बिगाड़ रहे हैं। अभी क्या है की दिल्ली को 91 रनों से हराने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स की चार जीत हो गई हैं और उसका नेट-रनरेट भी काफी अच्छे हो गए है बल्कि प्लस में आ गया है। प्वाइंट टेबल में चेन्नई की टीम 8वें नंबर पर है और उसके 8 ही प्वाइंट हैं। अगर चेन्नई आने वाले अपने 3 मैच जीतती है, तो उसके 14 प्वाइंट होंगे और तब नेट-रनरेट के आधार पर उसका प्लेऑफ में पहुंचने का चांस बन सकता है। शायद इसी को ध्यान में रख कर चेन्नई सुपर किंग्स अपने बाकी के मैच खेलेगी।

 

दोनो टीम इस प्रकार से थी

 

चेन्नई सुपर किंग्स: ऋतुराज गायकवाड़, डेवोन कॉनवे, रॉबिन उथप्पा, अंबाती रायुडू, मोईन अली, एमएस धोनी (विकेटकीपर/कप्तान), शिवम दुबे, ड्वेन ब्रावो, महेश तीक्षणा, सिमरजीत सिंह, मुकेश चौधरी।

 

दिल्ली कैपिटल्स: डेविड वॉर्नर, श्रीकर भारत, मिशेल मार्श, ऋषभ पंत (विकेटकीपर/कप्तान), रोवमन पॉवेल, अक्षर पटेल, रिपल पटेल, शार्दुल ठाकुर, कुलदीप यादव, खलील अहमद, एनरिक नॉर्त्जे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here