अभी तक जीत का खाता नही खोल पाने वाली चेन्नई सुपर किंग्स को आखिरकार जीत नसीब हो ही गई। चेन्नई के लिए मंगलवार का दिन जीत लेकर आया और चेन्नई के बल्लेबाज़ों ने खूब रन मारे। इस तरह से चेन्नई ने अपनी पहली जीत दर्ज की। वो भी इस सीजन फॉर्म में चल रही रॉयल चैलेंजर बेंगलुरू से। लगातार चार हार झेलने के बाद एक अच्छी टीम के खिलाफ मुकाबला जीतना चेन्नई के लिए संजीवनी जैसा काम करेगा। क्योंकि चेन्नई ने इस बार की सबसे बेहतरीन टीम को हराया है। चेन्नई सुपर किंग्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 23 रनों से हराया और अपनी पहली जीत दर्ज करके फिर से ट्रैक पर आने को कदम बढ़ाया। इस मैच में टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स ने 216 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया। चेन्नई के तरफ से अपनी रॉबिन उथप्पा ने 88 और शानदार फॉर्म में चल रहे शिवम दुबे ने 95 रन की तेजतर्रार पारी खेली लेकिन अपने शतक से चूक गए नही तो आईपीएल में उनका पहला शतक होता। शिवम दुबे जब से सीएसके की जर्सी पहने है तब से कुछ अलग ही अंदाज में बैटिंग करने लगे है। जैसे शेन वॉटसन ने किया था,जब तक वॉटसन दूसरी टीमों से खेलते थे तो उतना अच्छा नहीं खेल पाते थे लेकिन जैसे ही वो चेन्नई की जर्सी पहनते है वैसे ही अलग अंदाज में दिखने लगते है। लेकिन इस मैच में रॉबिन उथप्पा और शिवम दुबे ने ऐसा तूफान लाया की आरसीबी जैसी टीम बौना लग रही थी। स्कोर इतना बड़ा था की जब आरसीबी खेलने उतरी तो उसके बैट्समैन लगातार अंतराल पे विकेट दे कर जाते रहे। टीम को जो शुरुआत मिलनी चाहिए वो नही मिला और लगातार एक एक करके प्लेयर पवेलियन जाते दिखे।

 

रॉबिन उथप्पा की शानदार बल्लेबाजी

 

मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में चेन्नई और आरसीबी की टीमें आमने सामने थी। मुकाबले में आरसीबी के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने टॉस जीतकर सीएसके को पहले बल्लेबाजी करने के लिए न्योता दिया। सीएसके की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और उसने 36 रनों के योग पर दो विकेट गंवा दिए थे। लेकिन इसके बाद अनुभवी बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा ने तूफानी बल्लेबाजी कर टीम को उबार लिया। रॉबिन उथप्पा ने 50 गेंदों पर 88 रनों की शानदार पारी खेली, जिसमें 9 शानदार छक्के और चार चौके शामिल थे। यह उथप्पा के आईपीएल करियर का बेस्ट स्कोर था। उथप्पा को वानिंदु हसारंगा ने विराट कोहली के हाथों कैच आउट कराया। 2 विकेट गिरने के बाद चेन्नई की धीमी रफ्तार बता रही थी की टीम फिर से प्रेशर में आ गई है लेकिन रॉबिन उथप्पा ने ऐसा गेयर बदला की आरसीबी के गेंदबाज आते गए और रन देते गए। जब तक रॉबिन क्रीज पर रहे तब तक सीएसके का स्कोर तेजी से बढ़ता रहा लेकिन उनके आउट होने के बाद स्कोर दुगनी तेजी से बढ़ने लगा। और बैटिंग कर रहे थे युवा शिवम दुबे जिन्होंने रॉबिन उथप्पा की तरह ही पारी को आगे बढ़ाया और आरसीबी के गेंदबाजो की अच्छे से धुनाई की। शिवम दुबे ने 95 रनों की एक शानदार पारी खेली। दोनों खिलाड़ियों ने 74 गेंदों पर 165 रनों की शानदार साझेदारी की। शिवम दुबे ने 46 गेंद पर 95 रनों की नाबाद तूफानी पारी खेली। इस दौरान दुबे ने 8 गगनचुंबी छक्के और 5 शानदार चौके उड़ाए। इन दोनों की शानदार पारियों की बदौलत सीएसके ने 20 ओवर में चार विकेट पर 216 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया।

 

आरसीबी की टीम शुरू से ही लड़खड़ाई

 

पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी आरसीबी की टीम शुरुआत सधा हुआ करना चाहती थी यही वजह रही की दो ओवर में सिर्फ 11 रन आए। उस समय फाफ डुप्लेसिस छह गेंदों पर सात रन और अनुज रावत छह गेंदों पर चार रन बनाकर खेल रहे थे। लेकिन तीसरे ही ओवर में आरसीबी को पहला झटका लग गया। श्रीलंकाई स्पिनर महेश तीक्षणा ने बैंगलोर के कप्तान और शानदार फॉर्म में चल रहे फाफ डुप्लेसिस को क्रिस जॉर्डन के हाथों कैच करा कर वापस भेज दिया। वे नौ गेंदों पर आठ रन की छोटी पारी खेल सके। तीन ओवर के बाद बैंगलोर का स्कोर एक विकेट पर 14 रन ही था। उसके बाद आईपीएल के सबसे सफल बल्लेबाज विराट कोहली क्रीज पर आए,कोहली से लोगो को काफी उम्मीदें भी थी। विराट कोहली और अनुज रावत क्रीज पर थे। लक्ष्य बहुत बड़ा था। लेकिन पांचवें ओवर में 20 के स्कोर पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को दूसरा झटका लगा और ये झटका सबसे बड़ा था क्योंकि अबकी बार विराट कोहली आउट होकर पवेलियन की तरफ बढ़ रहे थे। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मुकेश चौधरी ने विराट कोहली को पवेलियन भेजा। कोहली तीन गेंदों पर एक रन ही बना पाए। मुकेश ने कोहली को शिवम दुबे के हाथों कैच कराया। यहां से बैंगलोर की टीम मुश्किल में दिखने लगी थी। डुप्लेसिस आठ रन बनाकर पवेलियन लौट चुके थे और फिर कोहली का आउट होकर जाना। पांच ओवर के बाद बैंगलोर का स्कोर दो विकेट पर 27 रन था। कोहली के आउट होने के बाद ग्लेन मैक्सवेल बैटिंग करने आए और उन्होंने शुरू में ही आकर अपने तेवर साफ कर दिए थे। लेकिन छह ओवर के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने तीन विकेट गंवा दिए। छठे ओवर में अनुज रावत 12 रन बनाकर आउट हो गए। उन्हें महेश तीक्षणा ने एल्बीडब्ल्यू आउट किया। तीक्षणा को मिली यह दूसरी सफलता है। इससे पहले उन्होंने फाफ डुप्लेसिस को पवेलियन भेजा था। फिलहाल मैक्सवेल और शाहबाज क्रीज पर थे। और अभी भी आरसीबी के पास उम्मीदों को कमी नहीं थी। लेकिन सातवें ओवर में 50 के स्कोर पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को चौथा सबसे बड़ा झटका लगा। कप्तान जडेजा ने ग्लेन मैक्सवेल को क्लीन बोल्ड कर दिया। आईपीएल में जडेजा ने मैक्सवेल को सातवीं बार आउट किया। और जब मैक्सवेल अच्छे लय में दिख रहे थे तभी जडेजा भी आते है बॉलिंग कराने। मैक्सवेल 11 गेंदों पर 26 रन बनाकर आउट हुए। अपनी पारी में उन्होंने दो चौके और दो छक्के लगाए। सात ओवर के बाद बैंगलोर का स्कोर चार विकेट पर 50 रन था। लक्ष्य आरसीबी के हाथो से दूर निकलता जा रहा था। फिलहाल सुयश प्रभुदेसाई और शाहबाद अहमद क्रीज पर थे मैक्सवेल के आउट होने के बाद। अब स्थिति आरसीबी के लिए अच्छी नही थी और उसके एक एक खिलाड़ी आउट होकर वापस जा रहे थे। और चेन्नई ने 23 रन से इस आईपीएल में पहली जीत का स्वाद चखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here