उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी ने अपनी पहली 125 प्रत्यासियों की सूची घोषित कर दी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस कर जानकारी दी। खास बात यह है कि, 125 में से 50 सीटे महिलाओं को दी गई है। और कांग्रेस ने ऐसे प्रत्यासियों को टिकट दिया है जिनका राजनीति से पहले कोई संबंध नही रहा है। लेकिन, उन्होंने महिला शक्तिकरण को मजबूत करने के लिए 50 सीटे महिलाओं को दी है। कांग्रेस का कहना है कि, हमारी पहली सूची में 40% महिलाएं और 40% प्रतिशत युवा हैं। हमें आशा है कि इनके जरिये हम प्रदेश में एक नये तरह की राजनीति की पहल करें। इनमें पत्रकार, अभिनेत्री और ऐसी संघर्षशील महिलाएं हैं जिन्होंने बहुत अत्याचार झेला है।

 

उन्नाव रेप पीड़िता की मां को दिया टिकट।

 

ये बेहद चौंकाने वाला है, उन्नाव रेप पीड़िता की मां को कांग्रेस ने प्रत्यासी बनाया है। प्रियंका गांधी का कहना है हमारी उन्नाव की प्रत्याशी गैंगरेप पीड़िता की माता आशा सिंह जी हैं। वे चुनाव लड़ना चाहती हैं। हमने उन्हें मौका दिया है, जिस सत्ता के जरिये उनके पति की हत्या हुई, बेटी का बलात्कार हुआ, एक्सीडेंट कराया, वही सत्ता अपने हाथों में लें। वहीं, लखीमपुर में चीरहरण कांड की पीड़िता रितु सिंह को भी मोहम्मदी सीट से टिकट दिया है। शाहजहांपुर से मानदेय को लेकर आंदोलन करने वाली आशा वर्कर पूनम पांडेय को प्रत्याशी बनाया है। उधर, नोएडा से पंखुड़ी पाठक को भी प्रत्याशी बनाया है। हस्तिनापुर से बिकनी गर्ल्स के नाम से मशहूर अर्चना गौतम को भी मैदान में उतारा है। अर्चना ने 2018 में मिस बिकनी का खिताब जीता था।

 

पूनम पांडेय को भी दिया गया टिकट।

 

प्रियंका गांधी ने आशा बहनों पर हुए लाठीचार्ज का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि हमने सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों में से एक रामराज गोंड को भी टिकट दिया है। इसी तरह आशा बहनों ने कोरोना में बहुत काम किया, लेकिन उन्हें पीटा गया। उन्हीं में से एक पूनम पांडेय को भी हमने टिकट दिया है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि जो महिलाएं पहली बार चुनाव लड़ रही हैं, वे संघर्षशील और हिम्मती महिलाएं हैं। कांग्रेस पार्टी उन्हें पूरा सहयोग करेगी।

 

सदफ जाफर को बनाया प्रत्याशी।

 

सीएए-एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल रही सदफ जाफर को भी पार्टी ने अपनी पहली सूची में स्थान दिया है। प्रियंका ने कहा कि सदफ जाफर ने सीएए-एनआरसी के समय बहुत संघर्ष किया था। सरकार ने उनका फोटो पोस्टर में छपवाकर उन्हें प्रताड़ित किया। मेरा संदेश है कि अगर आपके साथ अत्याचार हुआ तो आप अपने हक के लिए लड़ें। कांग्रेस ऐसी महिलाओं के साथ है।

 

क्या कहा प्रियंका गांधी ने

 

  • हमारे प्रत्याशियों की सूची एक नया संदेश दे रही है कि अगर आपके साथ अत्याचार हुआ तो आपमें ये शक्ति है कि आप अपने हक के लिए लड़ें। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस आपका समर्थन करेगी। आप राजनीति में आएं और अपनी लड़ाई लड़ें।
  • मैंने जो प्रयास शुरू किए हैं वह जारी रखूंगी, मैं चुनाव के बाद भी यूपी में ही रहूंगी। अगर हमारी पार्टी कहती है कि हमारी भूमिका ​कहीं और भी होनी चाहिए तो मैं वह भी करूंगी। पार्टी को मजबूत करने का हमारा प्रयास जारी रहेगा।
  • हमने महिलाओं की बात शुरू की तो सभी पार्टियां घोषणाएं करने लगीं। भाजपा, सपा, आरएलडी, बसपा सबने घोषणाएं कीं। हमारी यही सफलता है कि अब महिलाओं को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।
  • युवाओं पर बात क्यों नहीं होती है? पीड़िताओं की बात क्यों नहीं होती है? बेरोजगारों के साथ हो रहे अन्याय की बात क्यों नहीं हो रही है? क्या वे किसी प्रतिशत में नहीं हैं?
  • हमारा लक्ष्य ये भी है कि हमारी भूमिका बढ़े, हमारी पार्टी मजबूत बने। हमने तय किया है कि हम नकरात्मक कैंपेन नहीं करेंगे। हम सकारात्मक मुद्दों पर चुनाव लड़ेंगे। महिलाओं, दलितों, युवाओं के मसलों पर चुनाव लड़ेंगे ताकि प्रदेश आगे बढ़े।
  • अपनी सूची से हम संदेश देना चाहते हैं कि राजनीति का असली मकसद सेवा है। यह काफी हद तक बदल चुका है, लेकिन हम इस मकसद को वापस लाना चाहते हैं।
  • जो महिलाएं पहली बार चुनाव लड़ रही हैं, वे संघर्षशील और हिम्मती महिलाएं हैं। कांग्रेस पार्टी उन्हें पूरा सहयोग करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here