कंगना रनौत की जब भी बात होती है तो उनके राष्ट्रवादी होने के वजह से होती है। शायद वो पूरे बॉलीवुड में अकेली है जो खुल के अपनी बाते रखती है और लगभग हर मुद्दों पर खुल कर देश के सामने आती हैं। लेकिन कुछ दिनों से वो कई लोगो के टारगेट में भी है और होना लाजमी भी है क्योंकि कंगना ने अपनी पहचान एक राष्ट्रवादी अभिनेत्री के रूप में बनाया है लेकिन जो अभी हुआ लॉकअप को लेकर वो काफी लोगो के समझ के परे था। एक ऐसे कॉमेडियन को हीरो बना दिया गया जो अपनी कॉमेडी ही देवी देवताओं पर टिप्पणी करके करता है। अब सवाल ये है कि लोग कंगना से क्यों नाराज हैं? तो जवाब ये है की ‘लॉकअप’ शो की होस्ट खुद कंगना रनौत थी और वो जो चाहती वही होता। लोग यही बोल रहे की कैसे कंगना ने पैसों के लिए अपना ईमान बेच दिया।

 

असफल कॉमेडियन मुन्नवर

 

मुन्नवर फारूकी एक असफल कॉमेडियन था, जिसे कंगना ने शौहरत दिलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।, मुन्नवर वही है जिसको लेकर हिन्दुओं के हृदय में अथाह घृणा थी, क्योंकि उसने अपनी कॉमेडी के माध्यम से हिन्दुओं का उपहास ही नहीं किया था, बल्कि उनकी पीड़ा पर भी अपनी कॉमेडी का नमक छिड़का था। उसने प्रभु श्री राम जी, लक्ष्मण जी, और सीता माता के प्रति अपमानजनक टिप्पणी की थीं और साथ ही उसने गोधरा में जिन्दा जले हुए हिन्दुओं के शवों का मजाक उड़ाया था। वैसे हिंदू विरोधी कॉमेडियन को कंगना ने एक अलग पहचान दिला दी है। वही कंगना रनौत है जिनका घर तोड़ा जाता है तो उनका बयान आता है की उनका राम मंदिर तोड़ा गया है। कंगना ने एक फिर से प्रूफ कर दिया है की वो भी उसी बॉलीवुड के कीचड़ से आती है जिसको वो जागते समय समय और सोते समय गाली देती है। मुनव्वर फारुकी ने जीतने भी हिंदू धर्म के देवी देवताओं पे भद्दे कमेंट और उसी से अपनी कॉमेडी चमकाने की कोशिश की है वो हर हिंदू आज भी अनुभव करता है। मुन्नवर ने तो गोधरा में मारे गए हिंदुओ तक को नहीं छोड़ा है,उसने उन लोगो का भी उपहास किया जो इस दुनिया में है ही नही। अगर बात करे कंगना रनौत की तो हिन्दुओं के मामलों को खुलकर उठाने वाली ऐसी नायिका है जिसके लिए हिंदू किसी से भी लड़ जाते थे,कंगना जब बॉलीवुड में अकेली पड़ गई थी तब देश के लोगो ने उनका समर्थन किया था।, ये वही कंगना है जिसने फिल्म उद्योग में वंशवाद के जाल को चुनौती दी, जिसने अपनी प्रतिभा के माध्यम से ऐसा शिखर छुआ, जिसकी कल्पना ही सहज कोई अभिनेत्री नहीं कर सकती है। कंगना रनौत, जिसने जब उद्धव सरकार के खिलाफ खुलकर कहा और जब उद्धव सरकार ने उस पर कार्यवाही की तो देश के कोने कोने से उस विचार के लोग उसके साथ खड़े हो गए, जिन्हें लिबरल समाज सबसे असहिष्णु ठहराता है। यहां तक की कंगना अपनी बाते ट्वीटर पर खुल कर रखती थी तो उनका ट्वीटर भी बैन करा दिया गया तभी उस विचारधारा के लोगो ने उनका साथ दिया था। लेकिन कंगना ने पल भर में सबको एक बड़ा घाव दे दिया।

 

कंगना ने राष्ट्रवादियों को अच्छे से ठगा

 

जब “लॉकअप” का शो शुरू हुआ था तब किसी ने नहीं सोचा था की मुन्नवर फारूकी भी इस शो में आने वाला है लेकिन जब मुन्नवर आया तो लोगो के जहन में यही था की राष्ट्रवादी कहे जाने वाली कंगना मुन्नवर की अच्छे से क्लास लगाएंगी लेकिन शो में हो उसके उलट रहा था। क्योंकि शो में देखा गया की मुन्नवर को लेकर कंगना सॉफ्ट रहती है वही राष्ट्रवादी पायल को लेकर कंगना कभी कभी भड़क जाती थी। यही सब देख कर लोगो ने कंगना का विरोध करना शुरू किया और अंत में तब हद हो गई जब कंगना ने ट्रॉफी मुन्नवर को जितवा दिया। ऐसा करके कंगना ने राष्ट्रवादियों को अच्छे से ठगा। अब सवाल ये है की अपने आप को राष्ट्रवादी बताने वाली कंगना लोगो को जवाब दे पाएंगी की आख़िर क्यों उन्होंने एक ऐसे इंसान को जीतने दिया जिसने हमारे देवी देवताओं का मजाक उड़ाया है।

 

कंगना की अगली फिल्म का क्या होगा

 

जिस तरह से कंगना रनौत को लेकर लोगो के अंदर गुस्सा है उसको देखते हुए ऐसा लग रहा की कही ऐसा ना हो की ये लोगो का गुस्सा उनके फिल्म पर पड़े। लॉकअप शो में कंगना ने जो किया उस से तो तय हो गया है की एक राष्ट्रवादी खेमा पूरी तरह से कंगना रनौत से नाराज है। पूरे एक विचारधारा का कंगना ने अपमान किया है लोगो का उनसे मोहभंग हुआ है। जो लोग कंगना के फिल्मों का प्रचार करते थे वो भी कही न कही उनकी आने वाली फिल्म धाकड़ से दूरी बनाए हुए है। ये जरूर हो सकता है की भाजपा के लोग कंगना को समर्थन दे क्योंकि कंगना खुल के प्रधानमंत्री मोदी का समर्थन करती है। उतर प्रदेश में भी भाजपा के लोग उनके समर्थन में होंगे क्योंकि वो योगी आदित्यनाथ का खुल के समर्थन करती है और जब उत्तर प्रदेश आती है तब वो योगी से मिलती है लेकिन लोगो का गुस्सा कितना उनपे पे भारी पड़ने वाला है ये तो धाकड़ रिलीज होने के बाद ही पता लग पाएगा। लोगो के मन से ये बिल्कुल नही निकल पा रहा की कैसे भगवान श्री राम और माता सीता का अपमान करने वाला एक शो का विनर बन जाता है जिस शो की होस्ट खुद अपने आप को सबसे बड़ी हिंदू बताने वाली कंगना रनौत रहती है। ये बात किसी के गले से उतर ही नही पा रही की आखिर ऐसा क्यों कंगना ने किया। एक ऐसे इंसान को ताज दिला दिया जिसने हिंदुओ के मरने पर भी खुशी जाहिर की थी अपने कॉमेडी के माध्यम से।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here