जब भी बात आईपीएल की होती है तो पाकिस्तान जैसा छोटा देश अपना सब कुछ भूल कर पीएसएल की तूलना आईपीएल से जरूर करता है वो भूल जाते है की आईपीएल के तीसरे नंबर वाली टीम को जीतने पैसे मिलते है उतना तो पीएसएल जीतने पर भी नही मिलता होगा। पाकिस्तान जैसे भिखारी देश की आदत रही है की वो अपनी तुलना किसी भी देश से कर देते है। पाकिस्तान के लिए ये आम बात हो गया है की वो अपनी तूलना आईपीएल से करता रहता है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने जब से अपने देश की टी20 लीग पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) की शुरुआत की है, तभी से इसकी हमारे देश की टी20 लीग आईपीएल से तुलना होना आम बात है। लेकिन पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और सलामी बल्लेबाज सलमान बट्ट ने कहा कि दोनों देशों की जो लीग है उनका अपना-अपना वजूद है और पैसे के स्तर पर तो आईपीएल की तुलना पीएसएल से क्या दुनिया की किसी भी लीग से नहीं की जा सकती। सलमान बट्ट ने आईपीएल को लेकर सच्चाई को स्वीकार किया है। आप को बता दे की पीएसएल ने हाल ही में अपना 7वां सीजन पूरा किया है, जबकि IPL का 15वां सीजन अभी जारी है। पीएसएल कब आता है और कब निकल जाता किसी को पता नही चलता लेकिन आईपीएल शुरू होने के 2 महीने पहले से ही हर जगह आईपीएल ही दिखता है। आईपीएल में हर देश के खिलाड़ी हिस्सा लेना चाहते है क्योंकि आईपीएल भारत में होता है और भारत में सारे खिलाड़ी अपने आप को सेफ फील भी करते है। वही पाकिस्तान में कई बार खिलाड़ियों पर हमला भी हुआ है और धमकी भी मिलती रहती है। यही कारण रहा है की पाकिस्तान में आज कोई क्रिकेट खेलने तक नही जाता और वही पाकिस्तान,भारत जैसे सुरक्षित देश से अपने पीएसएल की तूलना करता है। आपको बता दे की आईपीएल में एक भी पाकिस्तान के खिलाड़ियों को खेलने नही दिया जाता। 2008 में आतंकी हमले के बाद से भारत ने पाकिस्तानियों को खेलने पर रोक लगा दी थी। तब से लेकर अब तक एक भी पाकिस्तान का खिलाड़ी आईपीएल में नही खेल पाया। वही दूसरी ओर पीएसएल में भारतीय खिलाड़ी भी नही खेलते क्योंकि भारतीय टीम 2008 के बाद कभी भी पाकिस्तान नही गई। और भारत पाकिस्तान का रिश्ता भी कुछ अच्छा नही रहा है। इस वजह से भी पाकिस्तानी भारत के आईपीएल की तूलना अपने छोटे से PSL से करते रहते हैं।

 

सलमान बट्ट ने आईपीएल को बताया सर्वश्रेष्ठ

 

सलमान बट्ट ने कहा कि दोनों लीग की आपस में तुलना करना ही बेकार है। पाकिस्तान सुपर लीग की फ्रैंचाइजियों के मालिक अपने सीमित संसाधनों के साथ उतना कर रहे हैं, जितना ज्यादा से ज्यादा वह कर सकते हैं। बट्ट ने कहा कि हमारे पास जो भी संसाधन हैं हम उनमें बेहतर से बेहतर करने की कोशिश कर रहे हैं। पीएसएल अपने खिलाड़ियों को उनकी फीस का 70फीसदी हिस्सा अडवांस में दे देता है और कई मौकों खिलाड़ियों को कई मौकों पर अतिरिक्त पैसा भी दिया है। सलमान बट्ट लंबी लंबी बाते तो फेंक रहे है लेकिन अभी हाल में ही एक ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी ने आरोप लगाया था की उनका पैसा अभी तक उनको नही दिया गया है। सलमान बट्ट एक तरफ से बचाव भी कर रहे थे अपने देश के लीग को,लेकिन उनकी झूट पूरे विश्व के सामने उस झूट के वजह से ही आ रही थी। आप को बता दे की ये चर्चा सलमान बट्ट अपने यूट्यूब चैनल पर कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि दोनों ही लीग अपने खिलाड़ियों का ठीक ढंग से ख्याल रखती हैं और किसी ने कभी पीएसएल की कोई शिकायत नहीं की है।’ सलमान यही नही रुकते उन्होंने कहा, ‘अगर क्रिकेट के पहलुओं का सवाल है तो पाकिस्तान लीग के पास भी बेहतर गुणवत्ता है। लेकिन अगर हम दोनों लीग की उनके वित्तीय मामलों से तुलना कर रहे हैं तो यह बेवजह की बात है क्योंकि दोनों लीग का स्तर बहुत अलग है। पैसों के मामले में आईपीएल की तुलना दुनिया की किसी भी लीग से नहीं की जा सकती है क्योंकि इसका एक अलग स्तर है।’

 

बता दें सलमान बट्ट भी आईपीएल में एक सीजन के लिए खेल चुके हैं। वह साल 2008 में इस लीग की शुरुआत के साथ कोलकाता नाइट राइडर्स का हिस्सा थे। यह पाकिस्तान के खिलाड़ियों के लिए पहला और एकमात्र सीजन था, जब उन्होंने इस लीग में शिरकत थी। उसके बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में खटास आई और दोनो ही टीमें उसके बाद सिर्फ वर्ल्ड कप में आमने सामने होती हैं। आज अगर पाकिस्तान का क्रिकेट बदनाम हुआ है तो सिर्फ अपने आतंक के वजह से क्योंकि पाकिस्तान में खिलाड़ी जाने से डरते है। इस लिए डरते है क्योंकि एक बार पूरी श्रीलंका की टीम पर आतंकी हमला हुआ था। तभी से पाकिस्तान अपना भी घरेलू मैच दुबई में खेलता है,उसके यहा कोई भी टीम जाना पसंद नही करती। पीएसएल का लालच देकर पाकिस्तान ने चाहा की खिलाड़ियों को पैसों की लालच देकर अपने यहां बुलाया जाय लेकिन उसमे भी वो सफल नहीं हुए और कम से कम खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here