आईपीएल 2022 के 10वे मुकाबले में गुजरात टाइटंस ने दिल्ली को 14 रनों से पटखनी दे दी। दिल्ली इस सीजन जितनी मजबूत कागजों पर लग रही उतनी वो फील्ड पर नही दिख पाई है अभी तक। तभी तो वो अपना दूसरा मैच हार गए। ये मैच पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेला जा रहा था जिसमे दो मजबूत टीमें आमने सामने थी। दोनो ही टीमों के पास कई स्टार खिलाड़ी है एक को ऋषभ पंत संभाल रहे थे तो दूसरे को हार्दिक पांड्या। लेकिन इस लड़ाई में हार्दिक पंड्या ही विजय हुए क्योंकि उनकी टीम ने अच्छा खेला और लड़ने की हिम्मत दिखाई,एक समय ऐसा भी था जहा लग रहा था की गुजरात की स्थिति ठीक नहीं लेकिन गुजरात ने अच्छी वापसी की,वापसी ऐसी रही की मैच ही जीत लिया। आपको बता दे की गुजरात इस सीजन एक नई टीम है जो अपना पहला ही सीजन खेल रही है जिसको संभाल रहे है हार्दिक पांड्या। गुजरात टाइटंस की इस सीजन में लगातार दूसरी जीत, दिल्ली जैसी मजबूत टीम को 14 रनों से मात दे दिया। गुजरात ने दिल्ली के टीम को 172 जैसा बड़ा लक्ष्य दिया,जिसका पीछा करते हुए दिल्ली की टीम 20 ओवर में 9 विकेट पर 157 रन ही बना सकी और मैच हार गई। गुजरात की इस जीत में सबसे अहम योगदान रहा शुभमन गिल और लॉकी फर्ग्युसन का । शुभमन ने एक शानदार अर्धशतक जड़ा जिसके मदद से गुजरात एक लड़ने लायक स्कोर दे पाई दिल्ली कैपिटल्स को। तो वही जब बॉलिंग की बारी आई तो लॉकी फर्ग्युसन ने 4 विकेट चटका कर दिल्ली की कमर तोड़ दी। मौजूदा सीजन यानी इस सीजन में हार्दिक पंड्या ने बतौर कप्तान लगातार दूसरी जीत दर्ज की। और उन्होंने दिखाया है की वो एक अच्छे ऑलराउंडर के साथ साथ एक अच्छे कप्तान भी बन सकते है। आपको बता दे की इस सीजन में 10 टीमों ने हिस्सा लिया है जिसमे गुजरात और राजस्थान को छोड़ कर सभी टीमें कम से कम एक मैच तो हार चुकी है। ये गुजरात के टीम के लिए अच्छा है क्योंकि गुजरात के साथ एक और टीम इस आईपीएल में खेल रही है और वो है लखनऊ,लेकिन लखनऊ अपना पहला मैच हार गई थी लेकिन उसने भी पिछले साल के विनर रहे चेन्नई को हरा कर वापसी की। गुजरात ने इस मैच में दिल्ली को 172 रनों का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली कैपिटल्स की टीम हालांकि अच्छी शुरुआत नहीं कर सकी थी और दूसरे ओवर में टिम सिफर्ट को हार्दिक पंड्या ने आउट कर दिया और दिल्ली को प्रेशर में ला दिया था। आउट होने से पहले टिम सिफर्ट ने 3 रन बनाए। पृथ्वी शॉ भी आज पूरी तरह से फेल साबित हुए। उन्होंने 7 गेंद पर 10 रन बनाए। उन्हें तेज गेंदबाज लॉकी फर्ग्युसन ने आउट करके दिल्ली को दूसरा झटका दिया,ये झटका दिल्ली के लिए बहुत बड़ा झटका था क्योंकि पृथ्वी अच्छी शुरुआत देते है दिल्ली की टीम को। उसके बाद आए मनदीप सिंह भी 16 गेंद पर 18 रन बनाकर फर्ग्युसन का दूसरा शिकार हुए। फर्ग्युसन ने शुरू के ही ओवर्स में दिल्ली के महत्वपूर्ण विकेट लेकर कमर तोड़ दी,आउट होने से पहले मनदीप सिंह ने 4 चौके जरूर जड़े,टीम ने 4.5 ओवर में 34 रन 3 विकेट गंवा दिए थे। यहां से दिल्ली की खराब स्थिति शुरू हो गई थी। इसके बाद ऋषभ पंत और ललित यादव ने जरूर पारी को संभालने का काम किया और तीसरे विकेट के लिए 61 रन जोड़कर टीम को संभाला। लेकिन ये 61 रन की साझेदारी दिल्ली को जीत नही दिला सकती थी। 61 के पार्टनरशिप के बाद ललित यादव 22 गेंद पर 25 रन बनाकर रन आउट होकर चलते बने। ललित यादव ने 25 रन की छोटी पारी में 2 चौके और 1 छक्का लगाया। इसके कुछ देर बाद ही पंत 29 गेंद पर 43 रन बनाकर फर्ग्युसन की गेंद पर आउट हो गए,ये दिल्ली के लिए सबसे बड़ा झटका था,इस झटके के बाद फिर दिल्ली उबर नहीं पाई लेकिन पंत जाते जाते 43 रन की पारी में 7 चौके जड़ गए। दिल्ली की टीम ने 5वां विकेट 118 रन के स्कोर पर गंवा दिया यहां से दिल्ली की टीम के हाथ से जीत दूर जाते दिखने लगी थी। अब 35 गेंद पर 54 रन बनाने थे लेकिन विकेट ज्यादा गिर चुके थे इस लिए भी ये रन दिल्ली के टीम के लिए ज्यादा लग रहे थे। 5 विकेट गिरने के बाद सारा दारोमदार अक्षर पटेल पर आ गया था और उन्होंने शुरू की दो गेंदों पर चौका मार कर अपना इरादा भी साफ कर दिया था लेकिन अक्षर भी ज्यादा कहा टिकने वाले। वो तीसरी ही गेंद पर फर्ग्युसन का चौथा शिकार बने। इस तरह से अक्षर के आउट होते ही दिल्ली की हार तय हो गई और फर्ग्युसन ने 28 रन देकर 4 विकेट लिए। जो उनका आईपीएल करियर का बेस्ट प्रदर्शन भी रहा। अक्षर के बाद शार्दुल ठाकुर आए और 2 रन बनाकर चले गए।
खराब शुरुआत के बाद संभला गुजरात
इस मैच में सिक्का तो दिल्ली के ही पक्ष में गया था लेकिन उसने फील्डिंग चुना। गुजरात टाइटंस की शुरुआत बिल्कुल भी अच्छी नहीं रही थी क्योंकि मैथ्यू वेड एक रन बनाकर पहले ओवर में मुस्तफिजुर रहमान का शिकार बने। जो गुजरात के दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण था। नंबर-3 पर उतरे विजय शंकर कुछ खास नहीं कर सके,जैसा की वो हर मैच में करते आए है वही उन्होंने इस मैच में भी किया। उन्होंने 20 गेंद पर 13 रन बनाए,ऐसा लग रहा था उन्हें कोई बता दिया है की टेस्ट चल रहा है। 44 रन पर 2 विकेट गिरने के बाद शुभमन गिल और हार्दिक पंड्या ने तीसरे विकेट के लिए 65 रन जोड़े। पंड्या 27 गेंद पर 31 रन बनाकर आउट हुए,उनके पारी में दबाव साफ दिख रहा था लेकिन दूसरी तरफ शुभमन एक अच्छी पारी खेल रहे थे और टीम के स्कोर को 170 रन पार पहुंचाया। इस बीच गिल ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया और अपने फॉर्म को भी सब के सामने दिखाया। उन्होंने 46 गेंद पर 84 रन की ताबड़ तोड़ पारी खेली यह उनके टी20 करियर का बेस्ट स्कोर है। इससे पहले उन्होंने 78 रन की सबसे बड़ी पारी खेली थी। उन्होंने 6 चौके और 4 छक्के लगाए। डेविड मिलर ने 15 गेंद पर नाबाद 20 रन बनाए। मुस्तफिजुर ने 4 ओवर में 23 रन देकर 4 विकेट लिए. इसके अलावा खलील अहमद को भी 2 विकेट मिला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here