ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिममीन (एआईएमआईएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी लगातार विवादित बयान के लिए जाने जाते है। या यूं कहे, तो राजनीति से ज्यादा विवादित बयान देके सुर्खियों के बीच रहना पसंद करते है ओवैसी। ये कहना गलत नहीं होगा की जाति और धर्म की राजनीति आपसी भाईचारे में फूट डालने का काम ओवैसी से ज्यादा और कोई नेता नहीं करता है। आज सोशल मीडिया पर ओवैसी का एक विवादित बयान बहुत तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमे वह एक सभा को संबोधित करते हुए नजर आ रहे है और गुंडे और मवालियो की तरह धमकी भरे लहजे से उत्तर प्रदेश पुलिस को चेतावनी देते नजर आ रहे है।

हमेशा मोदी और योगी नही आयेंगे बचाने।

ओवैसी मंच से कहते हैं, ‘मैं तो उन पुलिस के लोगों से कहना चाहता हूं, याद रखना मेरी बात को। हमेशा योगी मुख्यमंत्री नहीं रहेगा और हमेशा मोदी प्रधानमंत्री नहीं रहेगा। हम मुसलमान वक्त के तिमार से खामोश जरूर हैं, मगर याद रखो हम तुम्हारे जुल्म को भूलने वाले नहीं हैं। हम तुम्हारे जुल्म को याद रखेंगे। अल्लाह… अपनी ताकत के जरिए तुम्हारी अंतिम को नेस्तनाबूद करेंगे। और हम याद रखेंगे। हालात बदलेंगे। जब कौन बचाने आएगा तुमको? जब योगी अपने मठ में चले जाएंगे, मोदी पहाड़ों में चले जाएंगे। जब कौन आएगा? हम नहीं भूलेंगे।’

जीतने की खुशी है, या हारने का गम, जो इतना तिलमिलाए हुए है ओवैसी?

आखिर ऐसी भी क्या आन पड़ी की ओवैसी जी को इस तरह के लहजे में यूपी पुलिस को धमकाना पड़ा। अपने भाषण के दौरान एक पर्चे से रसूलाबाद की एक घटना को पढ़ते नजर आ रहे है ओवैसी। और खुद ही कह रहे है की अगर ये खबर सही है तो? मतलब किसी भी खबर के बिना पुष्टि पर भी इतनी बड़ी बात बोल ले गए ओवैसी उत्तर प्रदेश पुलिस जोकि सदैव हमारी रक्षा के लिए खड़ी है उसके बारे में इस तरह की बात करना क्या सही है? ये कोई पहली दफा नही जब ओवैसी ने इस तरह की बेबुनियादी और विवादित बयान दिया है।

इसके पहले भी दिया विवादित बयान।

मेरठ में असदुद्दीन ओवैसी एक बार फिर अपने ही अंदाज़ में सरकार के साथ विपक्षी दल सपा, बसपा और कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने शादी की उम्र 18 की बजाए 21 वर्ष किए जाने की कवायद पर तीखा तंज कसते हुए कहा कि 18 साल में लोग मोदी को वोट दे सकते हैं, लेकिन शादी नहीं कर सकते। ओवैसी ने कहा कि Sexual realtionship हो सकती है, शादी नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि इस्लाम में तो जब तक बेटी राज़ी नहीं होती, शादी नहीं होती। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कई देशों में तो 14, 16 की उम्र में ही शादियां हो जाती हैं।

भाजपा का पलटवार।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, ‘छोटा ओवैसी पुलिस को 15 मिनट हटाने को बोलता है और हिंदुओं को धमकी देता है। बड़ा ओवैसी पुलिस को खुलेआम धमकी देता है। हरिद्वार पर बोलने वाले सेक्युलरिज्म के सारे सूरमा इस जिन्ना वाली मानसिकता पर खामोश हैं। क्योंकि हिंदुओं को धमकी देने वाला सेक्युलर है और जय श्री राम का नाम लेना कम्युनल।’

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने क्या कहा?

किसे धमका रहे हो मियां?
याद रखना जब-जब इस वीर भूमि पर कोई औरंगजेब और बाबर आएगा तब-तब इस मातृभूमि की कोख से कोई ना कोई वीर शिवाजी, महाराणा प्रताप और मोदी-योगी बन खड़ा हो जाएगा। सुनों हम ना डरे थे मुगलों से ना जिन्नावादियों से तो तुमसे क्या खाक डरेंगे!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here