मानव शरीर को एक मशीन की ही तरह माना जाता है । जीवन की बुनियादी प्रक्रियाओं में संगठन, चयापचय, प्रतिक्रिया, गति और प्रजनन शामिल है‌ । मनुष्यों में, जो जीवन के सबसे जटिल रूप का प्रतिनिधित्व करते है , विकास, विभेदन, श्वसन, पाचन और उत्सर्जन जैसी अतिरिक्त आवश्यकताएं होती है । यह सभी प्रक्रियाएं परस्पर जुड़ी हुई है । खाना खाने के बाद इसके पाचन, अवशोषण और निकास तक की पूरी प्रक्रिया में हमारे लिवर का अहम रोल होता है । कई बार ऐसा होता है कि खाने-पीने को लेकर हमने जरा सी लापरवाही बरती और पाचन तंत्र बिगड़ जाता है । साथ ही हमारे उम्र के साथ लिवर का कमजोर होना भी आम बात है । ऐसे में हम आपको कुछ ऐसी खास चीजों के बारे में बता रहे है , जिसे डाइट का हिस्सा बना लिया तो आपका लिवर बिल्कुल स्वस्थ रहेगा ।

 

मानव शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग लीवर होता है और त्वचा के बाद दूसरा सबसे बड़ा अंग यही है । यह हमारे पेट के दाहिने और स्थित है । लीवर को अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसे जिगर, यकृत आदि । लीवर वसा को जलाने में मदद करता है और शरीर के वजन को बनाए रखता है । लीवर लगभग 300 से ज्यादा विभिन्न प्रकार के कार्य हमारे शरीर में करता है जैसे रक्त में शर्करा को नियंत्रण करना, विषाक्त पदार्थ को अलग करना, ग्लूकोज को ऊर्जा में बदलना, प्रोटीन पोषण की मात्रा को संतुलन करना आदि । शरीर के विकास के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है । भोजन से भी पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन की जरूरतें शरीर में पूरी नहीं हो पाती है । इसलिए लीवर प्रोटीन का उत्पादन करता है और यहां तक कि एंजाइमों और रसायनों को रक्त के थक्के बनाने में मदद करता है, जो कि रक्तस्राव को रोकने के लिए जरूरी होता है । जिन लोगों में लीवर अस्वस्थ होता है, उन्हें रक्तस्राव आसानी से हो सकता है ।

 

मनुष्य के शरीर में लिवर का यह काम होता है-

  • हमारे शरीर में अनेक प्रकार की ग्रंथियां पाई जाती है‌ । जो हमारे पाचन तंत्र की क्रियाओं को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते है । इन सभी ग्रंथियों में से एक महत्वपूर्ण ग्रंथि लीवर भी है । लीवर हमारे शरीर में अनेक पाचन तंत्र के रस तथा हारमोंस को उत्सर्जित करने में मदद करता है । मानव शरीर में पाया जाने वाला लीवर त्रिकोण शेप का होता है तथा 2 लोग से बना होता है । जिसमें दाहिना हिस्सा लोब बड़ा और बाया हिस्सा लोब छोटा होता है । यह दोनों लोब एक पतली सी लिगामेंट के द्वारा अलग होते है जिसे फैंसी फोरम लिगामेंट कहते है ।
  • लीवर के पास पाए जाने वाले बाइल डक्ट से बाइल का उत्पादन होता है । जो पाचन तंत्र में वसा, विटामिन और कोलेस्ट्रोल को पारित करने में मदद करता है ।
  • रक्त में हीमोग्लोबिन के टूटने से बिलुरुबिन का निर्माण होता है जो हिमग्लोबिन से आयरन को निकालकर लीवर में संग्रह करता है और नए रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है ।
  • बाइल डक्ट से निकलने वाले बाइल, वसा का संश्लेषण एवं उपापचय करते है । जिससे वसा आसानी से शरीर में पाचित हो जाता है ।
  • लीवर में कार्बोहाइड्रेट ग्लाइकोजन के रूप में संचित होता है । जब ग्लाइकोजन टूटता है, तो यह ग्लूकोज के रूप में रक्त के साथ मिल जाता है और रक्त के ग्लूकोस लेवल को बनाए रखता है ।

 

इन घरेलू नुस्खों से आपका लीवर रहेगा स्वास्थ‌ और तंदुरुस्त –

चुकंदर

खून को हेमोग्लोबिन देने वाला चुकंदर गुणों का खजाना है । यह कई बीमारियों से आपकी सुरक्षा करता है और आपके लिवर को भी कई गुना अधिक ताकतवर बनाता है । इसे डाइट में शामिल करने से आपके स्वास्थ्य को कई फायदे होंगे । इससे हमारे शरीर को नैचुरल शुगर मिलती है और बीपी कंट्रोल में रहता है । चुंकदर विटामिन-बी, विटामिन-सी, फॉस्फोरस, कैल्शियम, प्रोटीन और एंटिऑक्सीडेंट्स का बढ़िया स्रोत है । इसमें पाए जाने वाले ये तत्व खून साफ करने और शरीर में ऑक्सीजन बढ़ाने में मददगार साबित होते है । अगर हम चुकंदर का जूस या सलाद खाएंगे, तो इससे हमारे शरीर को बहुत फायदा होगा ।

हल्दी

हल्दी का उपयोग हमारे खानपान में रंग और स्वाद के लिए किया जाता है । इसमें न्यूट्रिएंट्स भी खूब पाए जाते है । इसे नियमित तौर पर डाइट में शामिल करने से लिवर को तंदुरुस्ती मिलेगी । इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेट्री और एंटीबैक्टेरियल गुण पाए जाते है । हल्दी से सामान्य सर्दी साइनस, दर्दनाक जोड़ों, अपच, और सर्दी और खांसी से राहत दिलाने में मदद करती है । इसे हम दूध और चाय जैसे पेय में एक चुटकी हल्दी मिला सकते है । हल्दी का रोजाना सेवन करने से भी ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है । हल्दी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर को अंदर से बाहर तक फायदा पहुंचाते है ।

अदरक

अदरक लिवर के काम करने की क्षमता को बढ़ाता है ।अदरक एक ऐसा खाद्य पदार्थ है, जिसका सेवन हर सीजन में स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह भी एंटीऑक्सीडेंट गुणों का खजाना है । कई स्टडी में यह बात साबित हो चुकी है कि अदरक के प्रयोग से लिवर तंदुरूस्त होता है । हालांकि बवासीर से पीड़ित व्यक्ति को अदरक से परहेज करना चाहिए । इम्यूनिटी बूस्ट करने से लेकर शरीर के दर्द को दूर करने में अदरक हमारे लिए काफी असरकारी होता है । अदरक खाने से स्वास्थ्य को कई लाभ होते हैं, लेकिन अगर अदरक को खाली पेट खाया जाए, तो यह विशेष रूप से शरीर के लिए ज्यादा गुणकारी हो सकता है ।

नींबू

कई बार अधिक खाना खा लेने के बाद नींबू पानी पीने की सलाह दी जाती है । पाचन क्रिया को दुरुस्त करने में नींबू बहुत सहायक सिद्ध होता है । डॉक्टर भी दिन की शुरुआत नींबू और गर्म पानी के साथ करने की सलाह देते है । नींबू लिवर की क्रियाओं को मजबूती देता है । इसलिए नींबू का सेवन करने से शरीर का पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है । साथ ही नींबू पानी पीने से आपके शरीर की एक्स्ट्रा कैलोरी बर्न होती है और वजन घटाने में भी मदद मिलती है ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here