आईपीएल 2022 का प्लेऑफ का समीकरण अभी तक बदलता ही रह रहा। अभी तक सिर्फ एक टीम का फाइनल हो पाया है की वो प्लेऑफ में पहुंच चुकी है। बाकी मुंबई और चेन्नई को छोड़ कर सभी टीमें आपस में टकरा रही प्लेऑफ के लिए। जब ऐसा लगने लगता है की ये टीम प्लेऑफ में पहुंच चुकी है तब तक एक दूसरी टीम बड़े अंतर से आकर मैच जीत जाती, इस से पूरा समीकरण ही बदल जाता है। इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल में कल यानी मंगलवार को बेहद ही रोमांचक मैच देखने को मिला,ऐसा मैच जो हर एक बॉल पर कभी एक टीम के पास जाता तो कभी दूसरे टीम के पास। इस हाई-स्कोरिंग गेम में सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस को 3 रनों से हारा दिया। मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी टिम डेविड ने आखिर में ऐसी तूफानी पारी खेली की लगने लगा था की ये मैच मुंबई कैसे भी निकाल ले जाएगी, लेकिन हैदराबाद के गेंदबाजों ने क्या गजब की वापसी की। टिम डेविड ने पारी तो अच्छी खेली, उन्होंने कोशिश भी की,ताकि मुंबई इंडियंस मैच जीत सके लेकिन वह मैच खत्म नहीं कर पाए। और मुंबई को एक और हार झेलनी पड़ी। सनराइजर्स हैदराबाद ने जैसे ही ये मैच अपने नाम किया उसका प्लेऑफ में पहुंचने का चांस भी जिंदा हो गया, क्योंकि इसी मैच में एक समय था जब स्थिति हैदराबाद के पक्ष में ना होकर मुंबई के पक्ष में था। आपको बता दे कि हैदराबाद ने मैच में पहले बैटिंग करी और 193 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया, मुंबई इंडियंस ने इस मैच को जीतने के लिए भरपूर प्रयास भी किया लेकिन जीत नहीं पाई। मुंबई की पारी 190 पर जाकर रुकी और 3 रनों से मैच गंवा दिया। ये मैच बहुत करीबी रहा लेकिन जीत हैदराबाद को मिली,मुंबई इंडियंस तो पहले ही बाहर हो चुकी है लेकिन अगर हैदराबाद ये मैच हार जाती तो फिर उसके लिए प्लेऑफ का रास्ता कठिन हो जाता क्योंकि बाकी टीमें पहले से ही लाइन में लगी हुई है।

 

सनराइजर्स हैदराबाद ने खूब ली मुंबई के गेंदबाजों की खबर

 

हैदराबाद पहले बैटिंग करने उतरी और ओपनिंग करने उतरे थे प्रियम गर्ग और अभिषेक शर्मा। लेकिन शुरुआत अच्छी नहीं दिला पाय,इस आईपीएल में अपने बल्ले का लोहा मनवा चुके अभिषेक शर्मा ज्यादा देर तक नही टिक पाय और 10 गेंदों पर 9 रन बनाकर आउट हो गए। ये हैदराबाद को लगने वाला सबसे बड़ा झटका था क्योंकि इस आईपीएल में हैदराबाद की ओर से अभिषेक शर्मा ने ही सबसे ज्यादा रन बनाय है। डेनियल सैम ने अभिषेक को अपना शिकार बनाया। उसके बाद बैटिंग करने उतरे राहुल त्रिपाठी, त्रिपाठी ने प्रियम गर्ग के साथ मिल कर एक अच्छी साझेदारी निभाई। दोनो बल्लेबाज़ों ने मुंबई के गेंदबाजों की अच्छे से खबर ली। जब टीम का स्कोर 96 था तब प्रियम गर्ग रमनदीप सिंह की गेंद पर आउट करार दिए गए। गर्ग ने तब एक अच्छी पारी खेली जब टीम का पहला विकेट जल्दी गिर गया था। प्रियम गर्ग ने जाने से पहले 26 गेंदों पर 42 रनों की पारी खेली जिसमे चार चौके और 2 शानदार छक्के शामिल थे। प्रियम के आउट होने के बाद पूरन बैटिंग करने उतरे और उन्होंने भी आते अपना काम शुरू कर दिया। एक बार फिर पूरन और राहुल त्रिपाठी के बीच के शानदार साझेदारी हुई और दोनो ने मिल कर स्कोर 172 रन पहुंचा दिए, और हैदराबाद की टीम एक बड़े लक्ष्य की ओर बढ़ने लगी थी तभी पूरन का विकेट गिर जाता है। पूरन ने जाने से पहले 22 गेंदों में 38 रनों की शानदार पारी खेली जिसमे 2 चौके और 3 शानदार छक्के शामिल थे। दूसरी ओर राहुल त्रिपाठी अभी भी एक छोर संभाले हुए थे और वो खुद एक बड़े स्कोर की ओर बढ़ रहे थे। लेकिन पूरन के जाने के बाद टीम के स्कोर में मात्र 2 रन का ही इजाफा हुआ था और राहुल त्रिपाठी भी आउट हो गए। राहुल त्रिपाठी ने शानदार बैटिंग की और 44 गेंदों में शानदार 76 रन बनाय जिसमे 9 चौके और 3 शानदार छक्के शामिल थे। वो राहुल त्रिपाठी का पारी का ही दम था जो सनराइजर्स हैदराबाद ने एक बड़ा स्कोर खड़ा किया। और मुंबई इंडियंस के सामने 194 रनों का लक्ष्य रखा। वही अगर मुंबई के गेंदबाजों की बात करे तो रमनदीप सिंह ने 3 ओवर में 20 रन देकर 3 विकेट झटके। वही बुमराह,मेरेडिथ और डैनियल को 1-1 विकेट मिले। मुंबई इंडियंस के तरफ से सबसे महंगे मेरेडिथ रहे जिन्होंने अपने कोटे के 4 ओवर में 44 रन उड़ा दिए।

 

मुंबई इंडियंस जीत के करीब जाकर हार गई मैच

 

194 रनों का पीछा करने उतरी मुंबई की शुरुआत इस सीजन के सबसे अच्छी शुरुआत रही। कप्तान रोहित शर्मा और ईशान किशन ने हैदराबाद के बॉलरों को परेशान कर दिया। दोनो ने मिल कर पहले विकेट के लिए 10.4 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 95 रन स्कोर बोर्ड पर टांग दिया और अपने टीम की जीत की नीव रख दी। लेकिन 95 जब टीम का स्कोर था तभी रोहित शर्मा 36 गेंदों में 48 रन बनाकर आउट हो गए। रोहित को वॉशिंगटन सुंदर ने आउट किया। रोहित मात्र 2 रनों से अपने अर्धशतक से चूक गए, रोहित ने अपनी पारी में 2 चौके और 4 शानदार छक्के लगाए। रोहित के जाने के बाद ज्यादा देर तक ईशान किशन भी नही टिक पाय और वो भी 34 गेंदों में 43 रन बनाकर आउट हो गए। उन्होंने अपनी पारी में 5 चौके और 1 छक्का लगाया। इन दोनो के जाने बाद मुंबई इंडियंस तास की पत्तो की तरह ढेर हो गई। इस सीजन फॉर्म में चल रहे तिलक वर्मा भी कुछ नहीं कर पाय और जल्दी आउट हो गए। लेकिन अभी मैच खत्म नहीं हुआ था टीम डेविड नाम का तूफान आना बाकी था। टिम डेविड ने जब हैदराबाद के गेंदबाजों को मारना शुरू किया तो ऐसा लगा की मुंबई इंडियंस मैच में वापसी कर गई है लेकिन तभी वो रन आउट हो गए। उन्होंने आउट होने से पहले 46 रनों की तूफानी पारी खेली और मात्र 18 गेंदों में,इस पारी में उन्होंने 3 चौका और 4 छक्के लगाए। डेविड के जाने के बाद पूरी टीम बिखर गई और मुंबई इंडियंस एक नजदीकी मैच में मात्र 3 रन से हार गई। अगर टिम डेविड रन आउट नही होते तो मैच का रिजल्ट कुछ और ही होता। अगर हैदराबाद के गेंदबाजों की बात की जाए तो उमरान मलिक के रफ्तार के आगे घुटने टेकते नजर आय मुंबई के बल्लेबाज, मलिक ने 3 ओवर में 23 रन देकर 3 महत्वपूर्ण विकेट निकाले। वही भुनेश्वर और सुंदर को 1-1 विकेट मिला। सबसे महंगे नटराजन रहे जिन्होंने अपने 4 ओवर में 60 रन लूटा दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here