अब आईपीएल अपने उस आखरी पड़ाव पर पहुंच चुका है जहा कुछ ही घंटो में उसे नया चैंपियन मिल जाएगा। गुजरात टाइटन्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच नरेंद्र मोदी स्टेडियम में ये मैच खेला जाएगा,खबरों के अनुसार पीएम मोदी भी फाइनल देखने पहुंच रहे हैं। दोनो ही टीम फाइनल के लिए पूरी तरह से तैयार है, दोनो ही टीमों में कुछ ऐसे खिलाड़ी है जो अपने दम पर मैच पलट सकते है और इस सीजन में उन्होंने कर के दिखाया है।

 

राजस्थान के इन खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

 

यशस्वी जायसवाल :- राजस्थान रॉयल्स का ये सलामी बल्लेबाज ने हर मैच में अच्छी शुरुआत दिलाई है,आपको बता दे की यशस्वी को शुरू के मैचों में मौका दिया गया था लेकिन वो अच्छा नही खेल पाय थे जिसके वजह से उन्हें कई मैचों में बाहर भी रखा गया। लेकिन जैसे ही वो दुबारा टीम में लौटे तो एक बेहतर फॉर्म के साथ वापस लौटे। जयसवाल ने अपनी टीम को तेज शुरुआत दिलाई और जीत की नींव रखने में मदद की, उन्होंने क्वालीफायर में ही 13 गेंदों में 2 छक्के और 1 चौके की मदद से 21 रन बनाए जिस से टीम को एक अच्छी शुरुआत मिल पाई थी।

 

जोस बटलर :- अगर आज 14 साल का सूखा खत्म हुआ है तो उसमे सबसे ज्यादा अहम रोल रहा है ओपनर बैट्समैन जोस बटलर का जिन्होंने कई मैच अपने दम पर जिताय है। अगर यही फॉर्म वो आईपीएल के फाइनल में गुजरात के सामने भी जारी रखते है तो कोई सक नही है की राजस्थान इस बार कप अपने नाम कर ले। बटलर के पास ऑरेंज कैप भी है और उसके आगे पीछे या ये कहे की उसके करीब भी कोई खिलाड़ी नही है,क्योंकि केएल राहुल थे और उनकी टीम बाहर हो चुकी है।

 

युजवेंद्र चहल :- चहल इस सीजन में पहले मैच से ही अच्छा खेल रहे है। चहल पर्पल कैप भी अपने नाम करके चल रहे थे लेकिन अभी फिलहाल आरसीबी के हसरंगा उनसे आगे निकल गए है। उम्मीद है की अगर वो अपने फॉर्म को बरकरार रखते है तो एक बार फिर वो पर्पल कैप अपने नाम कर पाएंगे। चहल ने इस पूरे सीजन में अपने प्रदर्शन में इजाफा किया है और लगातार विकेट लेते आय है और अपने टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई है।

 

आर.अश्विन :- अश्विन वैसे तो कहने को गेंदबाजी करते है लेकिन इस सीजन में उन्होंने बैटिंग भी की है वो भी टी 20 की तरह। जब बल्ले से जरूरत पड़ी तो बल्ले से और जब गेंद से जरूरत थी तो गेंद से,अश्विन ने अपनी टीम के लिए ऑलराउंड प्रदर्शन किया है। अश्विन ने इस सीजन में अपनी स्पिन वाली गेंद 130 के रफ्तार से फेक दी थी। अश्विन ने अपने बैट से भी इस सीजन में रन बटोरे है और यही वजह है की आज उनकी टीम फाइनल खेलने के लिए तैयार है।

 

प्रसिद्ध कृष्णा :- प्रसिद्ध ने अपनी रफ्तार कम करके इस सीजन में लाइन और लेंथ पर ध्यान दिया है और यही वजह भी है जो आज अच्छे लय में है। प्रसिद्ध को खेलना बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं रहता और प्रसिद्ध ने हर समय अपने कप्तान को अपने टीम के लिए विकेट निकाल कर दिया है। महत्वपूर्ण मुकाबले में प्रसिद्ध कृष्णा ने वैरिएशन भरी बॉलिंग से बैंगलोर के बल्लेबाजों को खूब परेशान किया। उन्होंने अपने कोटे के 4 ओवर में महज 22 रन देकर 3 विकेट अपने नाम किया। कृष्णा ने विराट कोहली जैसे बल्लेबाज को आउट किया तो वही निचले ऑर्डर में खतरनाक दिनेश कार्तिक जैसे आक्रामक बल्लेबाजों को पावेलियन पहुंचाया। उनके इसी प्रयास से उनकी टीम आज फाइनल में है।

 

गुजरात के ये खिलाड़ी कर सकते है कमाल

 

हार्दिक पांड्या :- हार्दिक को जब कप्तानी सौंपी गई थी तब काफी लोगो ने इसका विरोध भी किया था क्योंकि पांड्या आईपीएल के पहले अच्छे फॉर्म में नही थे। लेकिन जैसे ही आईपीएल शुरू हुआ पांड्या अपने पूरे रंग में नजर आय, जब भी टीम को जरूरत पड़ी पांड्या अपनी टीम के लिए हनुमान बन कर खड़े मिले, सबसे अच्छी पारी उनकी क्वालीफायर में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ ही रही जब टीम के विकेट जल्दी निकल गए थे तब पांड्या ने आकर पारी को संभाला था।

 

शुभमन गिल :- गुजरात के ओपनर बैटर गिल इस साल अलग ही अंदाज में दिख रहे है, पिछले साल कोलकाता के लिए जब गिल खेल रहे थे तब पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए थे लेकिन इस साल गिल ने अपने बैट से काफी रन बनाय है और टॉप 10 स्कोरर भी है। तो उम्मीदें काफी बढ़ जाती है गिल से क्योंकि गुजरात को अच्छी शुरुआत मिलती है तो उसमे गिल का सबसे बड़ा हाथ होता है।

 

किलर मिलर :- गुजरात के सबसे सफल खिलाड़ी इस साल का कोई है तो वो मिलर है जिन्होंने कई बार अपने दम पर मैच को अपने दम पर मोड़ा है। अभी क्वालीफायर में ही मिलर ने पांड्या के साथ मिलकर एक अच्छी साझेदारी निभाई थी जिस से गुजरात की टीम सीधे फाइनल में पहुंची थी। अंतिम ओवर के 3 गेंदों पर लगातार 3 छक्के लगाकर अपने टीम को जीत दिलाई थी। किलर मिलर से गुजरात की टीम को काफी उम्मीदें होंगी।

 

राहुल तेवतिया :- तेवतिया को कौन नही जानता,जिस तरह से उन्होंने अंतिम गेंद पर छक्का मार कर अपनी टीम को जिताया था वो काबिले तारीफ था और तेवतिया ने बाकी सीजन के तुलना में इस सीजन में अपने खेल को निखारा है और जब टीम को जरूरत पड़ी है तब उन्होंने आगे आकर टीम को प्रेशर से बाहर निकाला है। तो टीम को तेवतिया से भी काफी उम्मीदें होंगी।

 

राशिद खान :- राशिद गुजरात के मुख्य गेंदबाज है, जब भी टीम को जरूरत पड़ी तब उन्होंने विकेट निकाल कर दिया। जरूरत पड़ने पर राशिद खान बैटिंग भी अच्छी कर लेते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here