आईपीएल भारत में एक त्यौहार की तरह देखा जाता है लोग इसका एक साल तक इंतजार करते है। लोगो की अपनी एक टीम होती है या फिर अपने एक खिलाड़ी होते है जिसके वजह से उनकी टीम फेवरेट होती है। लेकिन आईपीएल के लिए एक निराशजनक खबर आई है। आईपीएल 2022 सीजन में ब्रॉडकास्टर्स और बीसीसीआई को फैन्स की नाराजगी झेलनी पड़ रही है। इस सीजन यानी 2022 में फैन्स लगातार भारत के इस सबसे बड़े टूर्नामेंट से दूर होते जा रहे हैं। इसका सबसे बड़ा सबूत आईपीएल की लगातार गिर रही टीवी रेटिंग है। मौजूदा सीजन यानी इस साल आईपीएल 26 मार्च से शुरू हुआ। इसके शुरुआती पहले हफ्ते के बाद लगातार दूसरे हफ्ते में टीवी रेटिंग में गिरावट दर्ज की गई। यानी आईपीएल शुरुआत में ठीक ठाक था लेकिन जैसे जैसे आगे बढ़ रहा इसको लोग पसंद नही कर रहे है। ये बीसीसीआई के लिए चिंता का विषय है क्योंकि भारत का ये सबसे बड़ा टूर्नामेंट है और इसमें दुनिया भर के खिलाड़ी भी शामिल होते है। आपको बताते चले की पहले हफ्ते टीवी रेटिंग में 33% की गिरावट दर्ज की गई थी,जो अपने आप में बहुत बड़ी गिरावट है। इसके बाद दूसरे हफ्ते में 28% की गिरावट देखी गई है। प्रतिशत भले कम हुए हो लेकिन चिंता का विषय ये है की गिरावट तो जारी रहा दूसरे हफ्ते भी। आईपीएल की लगातार गिर रही टीवी रेटिंग के एक नही बल्कि कई कारण हो सकते है को मुख्य है। जब आप इन कारणों को जानेंगे तो आपको लगेगा कि फैन्स क्यों इस बार आईपीएल देखने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं।

 

कारण जिसके वजह से आईपीएल देखने में दिलचस्पी नहीं रही

 

पिछले साल का आईपीएल जब शुरू हुआ था तब कोरोना के वजह से रोकना पड़ा था। लेकिन बाद में बचे मैचों को यूएई में शिफ्ट किया गया और बाकी के मैच यूएई में सितंबर में खेला जाना शुरू हुआ। अब इसके 6 महीने भी पूरे नही हुए और फिर से आईपीएल शुरू हो गया, शायद यही बात फैन्स को रास नहीं आई। इतने जल्दी जल्दी एक टूर्नामेंट का होना शायद दर्शकों को पसंद नही आया। यही कारण है कि फैन्स अपने काम को पहले प्राथमिकता देते हुए आईपीएल पर ध्यान नहीं दे रहे हैं या फिर दे नही पा रहे है। जो आईपीएल का पिछला सीजन रहा था उसे चेन्नई सुपर किंग्स ने जीता था। चेन्नई ने जहा से छोड़ा था वही से उसने यूएई में जाकर शुरू किया जिसका रीजन ये रहा की चेन्नई ने अच्छा खेल कर आईपीएल का खिताब अपने नाम कर लिया।

 

एक वजह ये भी हो सकता है की जिस तरह से दुनिया भर में मैच खेले जा रहे है कही न कही वो एक ओवरलोड का काम किया है। कुछ ज्यादा अगर होने लगता है तो मन ऊब जाता है,हो सकता है इस साल के आईपीएल में दर्शक यही फील कर रहे हो। जिसके वजह से व्यूअरशिप में कमी आई है। पिछले एक साल में कोरोना के वजह से लगभग सभी देशों ने वनडे-टेस्ट के अपेक्षा टी20 मैच ज्यादा खेले हैं। इसके बाद पिछले साल दो फेज में आईपीएल भी खेला गया,जिसके वजह से मैचों का ओवरडोज हो गया। पिछले साल के आखरी में टी20 वर्ल्ड कप भी हुआ। इनके अलावा ऑस्ट्रेलिया में बिग बैश लीग और पाकिस्तान में इसी साल जनवरी-फरवरी में PSL भी खेली गई, जो भारत समेत कई और देशों में दिखाई गई थी। इतने टी20 ओवरडोज के चलते भी फैन्स के बीच आईपीएल से बोरियत हो सकती है। और यही वजह है की कही न कही दर्शक आईपीएल से दूर होते जा रहे है।

 

एक कारण ये भी हो सकता है की पुरानी टीमें बिखर गई है। कई टीमों के खिलाड़ी उस टीम के लिए कभी महत्वपूर्ण हुआ करते थे लेकिन पिछले साल मेगा ऑक्शन में सारे खिलाड़ी बिखर गए है। बड़े स्टार खिलाड़ी बिखर गए और नई टीमों ने अपने टीम में शामिल कर लिया। जैसे देखा जाए तो मुंबई इंडियंस के सबसे सफल ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या गुजरात में चले गए, तो वही रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु टीम के युजवेंद्र चहल को राजस्थान टीम ने अपने में शामिल कर लिया। पंजाब के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी केएल राहुल को लखनऊ की टीम में न केवल शामिल किया बल्कि उन्हें कप्तान भी बनाया, वही पिछले साल हैदराबाद की टीम में एक अलगाव दिखा था वार्नर को लेकर तो इस बार डेविड वॉर्नर को दिल्ली टीम ने खरीद लिया। इस तरह खिलाड़ियों का बिखराव शायद फैन्स को रास नहीं आया। चेन्नई सुपर किंग्स के सबसे सफल खिलाड़ी सुरेश रैना का इस बार कोई खरीदार नहीं मिला और उनकी फैन फॉलोइंग करोड़ों में है। एक वजह ये भी हो सकती है जिसके वजह से दर्शक आईपीएल से टूटे है और व्यूअरशिप में काफी कमी आई है।

 

सबसे बड़ी कमी इस सीजन में बड़े खिलाड़ियों की लग रही है। हर साल आईपीएल से अनेक देशों के अनेक बड़े खिलाड़ी इस आईपीएल का हिस्सा होते थे लेकिन इस सीजन में दर्शक उन्हें नही देख पा रहे है। इस सीजन में क्रिस गेल, एबी डिविलियर्स, सुरेश रैना जैसे कई बड़े स्टार प्लेयर्स नहीं खेल रहे हैं। यह सारे खिलाड़ी पहले सीजन यानी 2008 से लगातार खेल रहे थे लेकिन इस बार वो आईपीएल से दूर है और आगे के सीजन में भी रहेंगे। मिस्टर 360 यानी एबीडी ने तो संन्यास ही ले लिया है। जबकि यूनिवर्सल बॉस कहे जाने वाले क्रिश गेल ने खुद ही हटने का फैसला लिया था। अब उनके आने की भी उम्मीद न के बराबर ही है। तो वही दूसरी तरफ, मिस्टर आईपीएल कहे जाने वाले सुरेश रैना को कोई खरीददार ही नहीं मिला था। कही न कही इस वजह से भी आईपीएल से लोगो की रुचि में कमी आई है क्योंकि इन खिलाड़ियों की करोड़ों में फैन फॉलोइंग है और इन्हें देखने के लिए या इनके खेल को देखने के लिए लोग आईपीएल देखते है।

 

सबसे बड़ी वजह ये भी माना जा रहा है की मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स जो अपने मैच लगातार हार चुके है। चेन्नई और मुंबई के फैंस बहुत ज्यादा है और जब ये दोनो टीमें इस सीजन अच्छा नही कर पा रही तो वो सीधे आईपीएल के टीआरपी पड़ रहा है। अभी तक 5 मैच खेल चुकी है मुंबई इंडियंस की टीम लेकिन उसे एक भी जीत नसीब नही हो पाया है वही दूसरी तरफ चेन्नई की टीम 5 मैचों के सिर्फ एक मैच ही जीत पाई है। चेन्नई सुपर किंग्स के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल के शुरू होने से पहले ही कप्तानी छोड़ कर सबको चौका दिया था। उन्होंने कप्तानी रविन्द्र जडेजा को सौप दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here