बॉलीवुड की कंट्रोवर्सी क्वीन अभिनेत्री कंगना रणौत हाल ही में कंट्रोवर्शियल रियलिटी शो लॉकअप में नज़र आ रही है । हमेशा अपने बयानों और खुलासों से मशहूर अभिनेत्री कंगना रणौत ने अब मी-टू कैंपेन को लेकर एक बड़ी बात कह दी है , उन्होंने इसके बारे में बात करते हुए कहा कि यह कैंपेन असफल रहा है और कहा कि उन्होंने जिन लड़कियों का इस कैंपेन में सर्पोट किया था वह गायब हो गई है और उन लड़कियों को सर्पोट करने के लिए इंडस्ट्री में कंगना को बैन तक कर दिया गया था ।

 

बॉलीवुड की कॉन्ट्रोवर्सी क्वीन अभिनेत्री कंगना रणौत इन दिनों एकता कपूर के कन्टौवर्सीयल रिएलटी शो ” लॉक अप ” में बतौर होस्ट नज़र आ रही है । इस दौरान वह शो के कंटेस्टेंट के साथ-साथ ही अपनी लाइफ से भी जुड़ी हुई कई बातें शेयर करती है , जो हमेशा से सुर्खियों का विषय बना रहता है । कंट्रोवर्शियल रियालिटी शो लॉक अप में कभी-कभी कंट्रोवर्सी क्वीन कंगना रणौत हैरान करने वाले खुलासे और बयान करती है । वही हाल ही में अभिनेत्री कंगना रणौत ने मी-टू कैंपेन के बारे में एक बड़ा खुलासा किया है । इस कैंपेन के बारे में बात करते हुए अभिनेत्री कंगना रणौत ने इस कैंपेन को असफल बताया है और कहा कि उन्होंने जिन लड़कियों का इस कैंपेन में सर्पोट किया था वह सब गायब हो चुकी है और उन लड़कियों को सर्पोट करने के लिए इंडस्ट्री में कंगना को बैन तक कर दिया गया था ।

 

अभिनेत्री कंगना रणौत ने बॉलीवुड के काले सच से पर कह दी बड़ी बात-

एकता कपूर के कन्टौवर्सीयल रियलिटी शो लॉक अप के हाल ही के एपिसोड में सायशा शिंदे ने बताया था कि एक फेमस ड्रेस डिजाइनर ने उनका शारीरिक शोषण किया था । जिस पर अभिनेत्री कंगना रणौत ने बात करते हुए कहा था , “मुझे लगता है कि युवा लोगों का यौन शोषण बहुत आम है , खासकर फ़िल्म उद्योग में, फैशन उद्योग में । हम उद्योग का कितना भी बचाव करें, यह सच है ….. जबकि यह बहुत सारे अवसर देता है , यह कई सपने भी तोड़ देता है और लोगों को स्थायी रूप से जख्मी कर देता है । ये काला सच है । यह सच है कि यौन शोषण हर उद्योग में होता है, लेकिन उनका मानना ​​है कि मनोरंजन उद्योग में लोगों को लाइसेंस मिल गया है क्योंकि वे लोगों के कपड़े और पीड़ितों के बारे में गपशप करते हैं और कहते हैं कि उनके साथ जो हुआ वह ठीक हुआ । ”

 

सायशा शिन्दे एक पुरुष के रूप में पैदा हुई थी –

इसी साल जनवरी में एक ट्रांसवुमन के रूप में सामने आईं थी । हरनाज संधू ने जिस गाउन को पहन कर मिस यूनिवर्स का ताज अपने सर पर पहना उसे डिजाइन करने वाली सायशा शिंदे ही है । सायशा शिंदे एक ट्रांसवुमन है और वह कई सिलेब्रिटीज के लिए कपड़े डिजाइन करती है । इस प्रसिद्ध फैशन डिजाइनर ने उस समय सोशल मीडिया पर साझा किए गए एक नोट में लिखा था “निफ्ट में मेमुझे शुरुआती 20 के दशक में ही मुझे अपनी सच्चाई को स्वीकार करने का साहस मिला । मैं वास्तव में खिल गई । मैंने अगले कुछ साल यह विश्वास करते हुए बिताए कि मैं पुरुषों के प्रति आकर्षित थी क्योंकि मैं गे थी, लेकिन यह केवल 6 साल पहले था, जब मैंने आखिरकार खुद को स्वीकार कर लिया, और आज मैं आपको स्वीकार करती हूं । मैं गे नहीं हूं । मैं एक ट्रांसवुमन हूं । ” बता दें साल 2003 में सायसा शिन्दे ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, मुंबई से स्नातक की पढ़ाई की । इसके बाद सायशा ने हाउस ऑफ वर्साचे, इटली से फैशन में मास्टर डिग्री हासिल की है । उनके पिता, तुलसीदास शिंदे, रेस्तरां की एक श्रृंखला के मालिक है । उनकी मां एक कलाकार है । उनकी एक बड़ी बहन थी, जिनकी किडनी खराब होने से मृत्यु हो गई थी । वह एक पुरुष शरीर में पैदा हुई थी, लेकिन उसके पास कई महिलाओं वाली विशेषताएं थी । एक इंटरव्यू के दौरान सायसा शिन्दे ने शेयर किया कि वह अपने माता-पिता को यह बताने से बहुत डरती थी कि वह एक ट्रांस महिला है, लेकिन जब उसने अपने माता-पिता को बताया, तो वह इसके बारे में काफी सामान्य थे ।सायशा ने “फैशन (2008)”, “गुजारिश (2010)”, और “लक्ष्मी (2020)” जैसी विभिन्न हिन्दी फिल्मों के लिए एक कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के रूप में काम किया है। साल 2015 में उन्होंने प्रसिद्ध अमेरिकी टीवी शो “प्रोजेक्ट रनवे सीजन 14” में एक प्रतियोगी के रूप में भाग लिया । ब्यूटी पेजेंट मिस यूनिवर्स 2021 के फाइनल राउंड में भारतीय मॉडल मिस यूनिवर्स 2021 की विजेता हरनाज कौर संधू द्वारा पहना गया गाउन सायशा द्वारा डिजाइन किया गया था ।

 

आखिर मी- टू कैंपेन है क्या –

मी- टू कैंपेन यौन उत्पीड़न और यौन हमले के विरुद्ध शुरु हुआ एक सामाजिक आंदोलन है , जिसमें लोग यौन अपराध के आरोपों को प्रकाशित करते है । इसमें विभिन्न क्षेत्रों की पीड़िता अपनी आपबीती दुनिया के साथ शेयर कर रही है । रेप से लेकर छेड़छाड़ और सेक्शुअल हरासमेंट से लेकर अन्य सेक्शुअल कलर वाले वाकये का जिक्र हो रहा है । कानूनी तौर पर इन मामलों में वाकये के हिसाब से मुकदमा दर्ज हो सकता है, लेकिन कानून की कसौटी पर कोई मामला कितना खरा उतरेगा, यह उसकी प्रकृति और मामले की गंभीरता पर निर्भर करता है । मी- टू कैंपेन में अधिकतर मामले वर्कप्लेस से जुड़े हुए है , जिनमें आरोपी बॉस है या फिर सहयोगी हो। वर्कप्लेस पर हरासमेंट से जुड़े तमाम कानून हैं और कंपनियों को उसे लागू करने की बाध्यता है ।

 

मी -टू को लेकर अभिनेत्री कंगना रणौत का बड़ा बयान सामने आया-

अभिनेत्री कंगना रणौत ने मी-टू को लेकर खुलासा करते हुए कहा कि , “यहां तक कि जब यहां मी-टू भी हुआ , तो उसका क्या हुआ ? कुछ नहीं । वो लड़कियां जो बाहर आई थी, गयब है । जिनकों मैने सर्पोट किया था, सबकी सब गायब है । मैं इंडस्ट्री में बैन कर दी गई थी और लडकियां गायब है । ” सायशा ने अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर खुलासा करते हुए बताया था कि इंडस्ट्री में उनके शुरुआती दिनों में, जब उन्हें स्वप्निल शिंदे के नाम से जाना जाता था । तब उन्हें एक जाने-माने इंडियन ड्रेस डिजाइनर ने अपने कमरे पर बुलाया था । पहले उसने झूठ बोलकर उनसे सहानुभूती ली और फिर उनके साथ फिजिकल हुआ। दोनों का रिश्ता कुछ समय तक रहा । इस दौरान सायशा को पता चला कि उस डिजाइनर ने ऐसा ही 7 से 8 लड़कों के साथ ऐसा किया था ।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here