कभी-कभी लगता है की पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स अपनी दुकान भारतीय क्रिकेटर्स पर बयान देकर ही चलाना चाहते है। या ये कही की उनको कभी भारत के कश्मीर को लेकर बयान देना होता है तो कभी भारत के खिलाड़ियों पर अटपटा बयान देकर सुर्खियों में बने रहने का मन करता है। अब ऐसा ही बयान पाकिस्तान के पूर्व ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी ने विराट कोहली को लेकर दिया है। अब दुनिया के नंबर एक बैट्समैन को शाहिद अफरीदी बता रहे है की विराट को क्या करना चाहिए ताकि उनकी फॉर्म सुधार जाए। अफरीदी ने विराट के खेलने के तरीके पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है की विराट कोहली में पहले जैसी निष्ठा नही रह गई है। अफरीदी का कहना है की विराट कोहली जैसे पहले खेलते थे वैसा अब वो नही खेल रहे है क्योंकि उनका ध्यान पहले जैसा क्रिकेट में नही है। आगे अफरीदी कहते है की विराट का लय में लौटना खुद विराट कोहली पर डिपेंड करता है की वो कैसे अपने खेल के प्रति निष्ठा दिखाते है। आपको बता दे की विराट कोहली ने काफी समय से एक भी लंबी पारी नही खेली है बल्कि विराट कोहली को शतक लगाए हुए ढाई साल से ज्यादा हो चुके है और उनके फैंस इंतजार कर रहे है की कब विराट कोहली का बल्ला चलेगा। विराट के इसी फॉर्म का मोहरा बना कर अफरीदी ने ये बयान दिया है। वैसे भी पाकिस्तान के क्रिकेटर्स लगे रहते है की भारत के खिलाड़ी कुछ गलती करे तो उसपे बयान देकर अपने को सुर्खियों में लाया जाय क्योंकि उनके देश में तो उन्हें सुर्खिया मिलती नही है।

 

विराट को लेकर अफरीदी का संदेश

 

शाहिद अफरीदी पाकिस्तानी टीवी चैनल समा पर विराट की फॉर्म से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए कहते हैं, ‘क्रिकेट में रवैया सबसे ज्यादा मायने रखता है। यह वह चीज है जिसके बारे में मैं सबसे ज्यादा बात करता हूं कि आपके अंदर क्रिकेट को लेकर कितना समर्पण है? कोहली पहले अपने करियर में नंबर-1 बनना चाहते थे, क्या वे अब भी इसी लक्ष्य के साथ क्रिकेट खेलते हैं? यह एक बड़ा सवाल है। उनके पास क्लास है लेकिन क्या वाकई वह फिर से नंबर-1 बनना चाहते हैं? या फिर वह यह सोच बैठे हैं कि उन्होंने जिंदगी में सबकुछ हासिल कर लिया है। अब बस टाइम पास करना है।’

 

तीन सालो से बल्ला रूठा

 

विराट कोहली क्रिकेट के बेताज बादशाह है, उन्होंने भारतीय क्रिकेट के लिए जब से क्रिकेट खेलना शुरू किया तब से उन्होंने रुकने का नाम नहीं लिया लेकिन पिछले तीन सालो से उनके बल्ले से एक भी शतक नही निकल पाया है। ऐसा नहीं है की वो फॉर्म में नही चल रहे, वो किसी न किसी मैच के 50 से ज्यादा रन बना ही देते है लेकिन विराट कोहली उस 50 को 100 में तब्दील करने के लिए जाने जाते है। लेकिन यही वो पिछले 3 सालो से नहीं कर पा रहे है। जब आज से तीन साल पहले विराट कोहली खेलते थे तब ऐसा लगता था की सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड जल्दी ही वो तोड़ देंगे, बल्कि खुद सचिन तेंडुलकर ने भी कहा था की वो चाहते है की उनका 100 शतकों का रिकॉर्ड विराट या रोहित तोड़े, और जिस रफ्तार से कोहली का बल्ला चल रहा था उस से तो यही लग रहा था की विराट कोहली जल्दी ही सचिन का 100 शतको का रिकॉर्ड तोड़ देंगे लेकिन सभी के कैरियर में वो टफ समय आता है जब वो अपने फॉर्म से जूझता है वही आज विराट कोहली के साथ भी हो रहा है। विराट निरंतर फेल हो रहे है,अगर इस आईपीएल सीजन की बात करे तो इस आईपीएल के तो विराट कोहली 3 बार डक पर आउट हुए जो उनके लिए किसी गंदे सपने से कम नही होगा। विराट कोहली से पहले टीम इंडिया की कप्तानी ले ली गई फिर उन्होंने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ दी, आईपीएल में भी कप्तानी छोड़ने का ऐलान उन्होंने पिछले साल ही कर दिया था लेकिन कप्तानी छोड़ने के बाद भी विराट का बल्ला उतना नही बोला जितना बोलता है। अभी साउथ अफ्रीका के साथ शुरू हो रहे 5 मैचों की टी 20 सीरीज के लिए विराट कोहली को आराम दिया गया है क्योंकि भारत को इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल टेस्ट खेलना है जो पिछले साल कोरोना के वजह से रोकना पड़ा था। अब उम्मीद विराट कोहली से उसी में लगाया जा सकता है की शायद उस फाइनल टेस्ट में विराट कोहली के बल्ले से वो शतक का सूखा खत्म हो। आईपीएल में कई परियों में विराट जल्दी आउट हुए और उन्हे बार बार निराश होते देखा गया, कभी उपर बल्ला उठा के निराश मन से कुछ बोलना तो कभी आउट होने के बाद पिच को निहारना, तो कभी मुस्कुरा के वापस पवेलियन की तरफ मूड जाना। अब उम्मीद यही लगाया जा रहा है की शाहिद अफरीदी को विराट कोहली अपने बल्ले से जवाब देंगे। जिस तरह से भारतीय खिलाड़ियों को पाकिस्तान के खिलाड़ी टारगेट कर रहे है उसे देखकर हर क्रिकेट प्रेमी मन ही मन मुस्कुरा रहा होगा क्योंकि पाकिस्तान कभी भी अपने गिरेबान में नही झांकता की आखिर वो कितने पानी में है,उसके खिलाड़ी कभी फिक्सिंग में फसते है तो कभी कुछ के लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here