आज यानी रविवार 5 जून टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी दिल्ली में इकठ्ठा होने। और भारत का पहला मुकाबला अफ्रीका के खिलाफ 9 जून को खेला जाएगा। एक तरफ टीम इंडिया में युवाओं को मौका दिया गया है और कप्तान केएल राहुल को बनाया गया है वही टेम्बा बावुमा साउथ अफ्रीका की कप्तानी करेंगे। दोनो ही टीमें मजबूत टीमें है किसी भी टीम को कोई भी टीम कम आकनेे की गलती नही करेगी।
9 जून यानी गुरुवार को पहला टी20 दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में खेला जाएगा, फिर 2 दिन के बाद रविवार 12 जून के दिन दूसरा टी20 बाराबती स्टेडियम कटक में खेला जाएगा, 14 जून यानी मंगलवार तीसरा टी20, अंतरराष्ट्रीय डॉ. वाई.एस. राजशेखर रेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम, विशाखापत्तनम ने खेला जाएगा, 17 जून यानी शुक्रवार चौथा टी20, सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम, राजकोट में खेला जाएगा 19 जून यानी रविवार 5वां और आखरी टी20 मैच एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम, बेंगलुरु में खेला जाएगा। और सभी मैचों का प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स पर शाम 7 बजे से होगा वही ओटीटी पर लाइव स्टीमिंग डिज्नी+हॉटस्टार पर होगा।

 

भारत के पास इतिहास बनाने का सुनाहरा मौका

 

अगर भारतीय टीम अपना पहला टी20 जीत लेती है तो फिर उसके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज हो जाएगा जिसके करीब कोई टीम जल्दी पहुंच ही नहीं सकती। 9 जून को खेला जाने वाला मैच ऐतिहासिक मैच बन जाएगा जब भारतीय टीम जीत जाएगी तो क्योंकि टी20 क्रिकेट में लगातार 13 मैच जीतने वाली पहली टीम बनेगी। ऐसा पहले कभी नही हुआ है, अभी भारतीय टीम 12 टी20 लगातार जीतते आ रही है और ये रिकॉर्ड अपने नाम करने के लिए उसे थोड़ा मेहनत और करना होगा और पहले मैच में साउथ अफ्रीका जैसी मजबूत टीम को हराना होगा। अभी 12 टी20 लगातार जीतने का नाम अफगानिस्तान और रोमानिया जैसी टीमों के नाम दर्ज है। अगर भारतीय टीम जीतती है तो वो इन दोनो को पछाड़ कर पहले पर होगी और एक इतिहास भी रचा जाएगा।

 

दोनो टीमें इस प्रकार से हैं

 

भारतीय टीम :- केएल राहुल (कप्तान), रुतुराज गायकवाड़, ईशान किशन, दीपक हुड्डा, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत (उपकप्तान, विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, वेंकटेश अय्यर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, अवेश खान, अर्शदीप सिंह, उमरान मलिक।

 

साउथ अफ्रीका टीम :- टेम्बा बावुमा (कप्तान), क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), रीजा हेंड्रिक्स, हेनरिक क्लासेन, केशव महाराज, एडेन मार्कराम, डेविड मिलर, लुंगी एनगिडी, एनरिक नॉर्टजे, वेन पार्नेल, ड्वेन प्रिटोरियस, कैगिसो रबाडा, तबरेज़ शम्सी, ट्रिस्टन स्टब्स, रासी वैन डेर डूसन और मार्को जेनसन।

 

आईपीएल के इन धुरंधरों पे रहेगी नजर

 

केएल राहुल:- केएल राहुल को रोहित शर्मा के गैरमौजूदगी में कप्तान भी बनाया गया है टीम इंडिया का और आईपीएल खेल कर अभी अभी आय है राहुल। राहुल का फॉर्म कैसा था आईपीएल में ये किसी से छुपा नहीं है, वो लखनऊ के टीम को अपने दम पर प्लेऑफ तक पहुंचाया था और उम्मीद यही लगाया जा सकता है की वो साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

 

ईशान किशन:- किशन का प्रदर्शन मुंबई के लिए मिला जुला रहा था कही न कही उनपर सबसे महंगा बिका जाना हावी था। किशन विकेट कीपर भी है ऋषभ पंत के बाद लेकिन मौका किसको मिलेगा ये देखने वाली बात होगी क्योंकि ऋषभ का भी कुछ खास प्रदर्शन नही रहा था। ईशान से लोगो की उम्मीदें बंधी हुई है की वो अच्छा करे साउथ अफ्रीका के खिलाफ।

 

दिनेश कार्तिक:- लंबे अर्से बाद टीम इंडिया में वापसी कर रहे दिनेश कार्तिक से लोगो को काफी उम्मीदें है। क्योंकि कार्तिक का प्रदर्शन अपने टीम आरसीबी के लिए बेहतरीन था। उन्होंने अपनी टीम के लिए फिनिशिंग का काम किया था और अभी टीम इंडिया में भी धोनी के जाने के बाद से अच्छा फिनिशर नही मिल पाया है। लोगो को उम्मीदें है की दिनेश कार्तिक वो काम करके दिखाएंगे।

 

दीपक हुड्डा:- हुड्डा का प्रदर्शन अपने टीम लखनऊ के लिए बेहतरीन रहा है इस सीजन में और इसी का इनाम उनको टीम इंडिया में लाकर दिया गया है। अब अगर हुड्डा को मौका मिलता है तो देखना होगा की वो कितना खरा उतर पाते है।

 

हार्दिक पांड्या:- काफी समय बाद पांड्या की टीम में वापसी हो रही है। क्योंकि आईपीएल से पहले उनका ऑपरेशन भी हुआ था और वो उसके पहले फॉर्म में नही थे इस लिए उन्हें टीम से ड्रॉप भी किया गया था। लेकिन पांड्या ने क्या शानदार वापसी की है अपने टीम को आईपीएल जीता कर। पांड्या ने आईपीएल में अपने गेंद और बल्ले दोनो से कमाल किया और उसी का गिफ्ट उन्हे मिला टीम इंडिया में वापसी के मौके के रूप में।

 

उमरान मलिक:- मलिक अब किसी नाम के मोहताज नहीं है। अब उन्हें पूरा विश्व रफ्तार किंग के नाम से जानने लगा है। मलिक ने इस आईपीएल सीजन में अपने गेंदबाजी के रफ्तार से बल्लेबाजों के अंदर डर बैठा दिया था वही डर अफ्रीका के बैटरो को भी डराएगा। मलिक ने इस सीजन में 14 मैचों में 22 विकेट लिए थे और वो विकेट लेने वालों की सूची में तीसरे नंबर पर थे। कही न कही उमरान मलिक से साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी डरेंगे क्योंकि उनकी रफ्तार के आगे सब नतमस्तक हैं। इसी लिए उम्मीदें उमरान मलिक से और भी बढ़ जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here