सेक्स समस्याएं पुरुषों को न सिर्फ शारीरिक तकलीफ़ देने का काम करती है , बल्कि उनका आत्मविश्‍वास भी कम करती है । सेक्स में परफॉर्म न कर पाना किसी भी पुरुष के लिए बहुत ही चिंता का विषय है । इसलिए इस समस्या का समाधान करना बहुत ही आवश्यक है यह ना सिर्फ पुरुषों के शरीर को प्रभावित करता है बल्कि उनके निजी जीवन को भी तितर- बितर कर देता है ।

 

इरेक्शन के बावजूद सेक्स नहीं कर पाना कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है । फिर भी जो लोग इरेक्शन के बाद भी सेक्स नहीं कर पाते है , उन्हें थोड़ी-बहुत परेशानी और असुविधा जरूर होती है । यह कुछ हद तक महिलाओं को पीरियड के समय होनेवाले दर्द-तकलीफ जैसा होता है । इरेक्शन के बावजूद सेक्स नहीं कर पाना, ऐसा तब होता है जब आप हर वक्त बिजी रहते हो और काम की टेंशन हमेशा आपके दिमाग में घूमती रहती हो । या  किसी अन्य कारणों से टेंशन या डिप्रेशन में रहते हो । जबकि सेक्स के दौरान तनावमुक्त और खुश रहना बहुत जरूरी होता है, वरना संतुष्टिदायक और आनंदपूर्ण सेक्स का आनंद नहीं लिया जा सकता है ।

तो आइए जानते है पुरुषों से संबंधित कुछ सेक्स समस्याएं और उनका समाधान-

 

हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए आपको एक हेल्दी लाइफस्टाइल मेंटेन करना बहुत ही आवश्यक है । जो लोग हेल्दी लाइफस्टाइल मेंटेन नहीं करते उनको बहुत सारी समस्याएं का सामना करना पड़ता है । कई लोग इस पर खुलकर बात करना और इसका समाधान लेने के लिए सेक्सोलॉजिस्ट सामने जाने तक कतराते है । तो चलिए बात करते हैं उन समाधान का जिस को अपनाने के बाद आपको डॉक्टर के पास जाने की कोई भी जरूरत नहीं पड़ेगी ।

 

पुरुषों में प्री मच्योर इजेकुलेशन होना –

समय से पहले वीर्य का डिस्चार्ज होना यह समस्या अधिकतर पुरुषों में पाई जाती है । ऐसे पुरुष सेक्स लाइफ का असल आनंद नहीं ले पाते है । अगर सेक्स करते समय जल्दी डिसचार्ज होने की दिक्कत है तो इसका निदान जल्द करना चाहिए और इस तरह की दिक्कत को प्री मच्योर इजेकुलेशन कहा जाता है । बहुत सारे पुरुषों का कहना है कि वे संभोग के दौरान कुछ ही सेकंड में स्खलित हो जाते है । वीर्य भी पानी की तरह पतला निकलता है । सच्चाई तो यह है कि ऐसी स्थितियां कोई असामान्य बात नहीं है । अपनी इस प्रॉब्लम को दूर करने के लिए आप कुछ आसान तरीके अपना सकते है‌ , जैसे- ज्यादा लंबे समय तक सेक्सुअल फोरप्ले करना, सेक्स के कुछ निश्चित पोजिशन बनाना जिससे लंबे समय तक इरेक्शन बना रहे, खुशनुमा माहौल में रिलैक्स होकर सेक्स करना, अपने साथी से अपने सेक्सुअल विचारों को शेयर करना । आप कुछ सेक्सुअल एक्सरसाइज और टेकनिक्स भी सीख सकते हैं, जिससे आपको मदद मिलेगी । कई बार पुरुष ज्यादा एक्साइटमेंट के कारण प्री मच्योर इजेकुलेशन का शिकार हो जाता है । इस समस्या के समाधान के लिए आपको अपनी सेक्सुअल परफॉर्मेंस इंप्रूव करनी चाहिए और सेक्स करते समय ज्यादा एक्साइटमेंट कंट्रोल करना चाहिए और अपने सेक्स की टाइमिंग को भी बढ़ाना चाहिए । इस समस्या के समाधान के लिए आप 2 ग्राम दालचीनी का पाउडर सुबह-शाम दूध के साथ सेवन से वीर्य में वृद्धि होती है और शीघ्रपतन ख़त्म होता है । इलायची दाना, जावित्री, बादाम, गाय का मक्खन और शक्कर सभी को बराबर मात्रा में एक साथ मिलाकर रोज़ाना सुबह खाने से धातु पुष्ट होती है और शीघ्रपतन की शिकायत दूर हो जाती है‌ ।

 

नपुंसकता का लक्षण होना-

पुरुषों के मन में जब सेक्स का विचार आता है, तो उसके लिंग में उत्तेजना आ जाती है और स्पर्श से भी पुरुष सेक्स के लिए उत्तेजित हो जाता है । ऐसी स्थिति में शरीर के साथ लिंग में भी खून का प्रवाह तेज हो जाता है, लेकिन उत्तेजना के लिए उचित हार्मोन का होना भी ज़रूरी है । जब ऐसा नहीं हो पाता, तो वो स्थिति नपुंसकता कहलाती है । हालांकि ज़्यादातर मामलों में लोग वहम के शिकार होते हैं कि उनमें नपुंसकता के लक्षण है‌ । इस समस्या के समाधान के लिए आप 15 ग्राम तुलसी के बीज और 30 ग्राम सफ़ेद मुसली का पाउडर तैयार करे । फिर इसमें 60 ग्राम मिश्री पीसकर मिला दें और बॉटल में भरकर रखे । इस पाउडर का 3 से 5 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करे‌ । या फिर 10 से 20 मि.ली. सफ़ेद प्याज़ का रस, 5-10 ग्राम शहद और 1-3 मि.ली. अदरक का रस तथा 1 से 2 ग्राम घी लेकर सबको एक साथ मिलाकर 21 दिन तक लेने से नपुंसकता से मुक्ति मिल जाती है‌ । अगर आप इस उपाय को नहीं कर पाते हैं तो आप इसके अलावा 200 ग्राम लहसुन पीसकर उसमें 600 ग्राम शहद मिलाकर एक साफ़ शीशी में भरकर अच्छी तरह से ढक्कन बंद करके गेहूं की बोरी में रख दे । 31 दिनों बाद उसे बाहर निकाले‌। 10 ग्राम की मात्रा में 40 दिनों तक इसे लेने से नपुंसकता दूर होती है ।

 

धातु दुर्बलता की समस्या-

धातु दुर्बलता से कई पुरुष पीड़ित है । यह रोग अत्यधिक कामुक विचारों, अश्लील साहित्य, अश्लील फ़िल्में देखने आदि के कारण होता है । इस तरह के क्रियाकलापों के बाद व्यक्ति अधिक कामुक महसूस करता है तथा अपनी वासनाओं की पूर्ति के लिए अप्राकृतिक मैथुन आदि को अपनाता है । अप्राकृतिक मैथुन के कारण उसे अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिनमें से एक है धातु दुर्बलता । इसमें व्यक्ति का वीर्य पतला हो जाता है जिसके कारण संभोग के समय वह जल्दी डिस्चार्ज हो जाता है । पेशाब के साथ वीर्य की लार निकलना, लिंग में अपूर्ण उत्थान, उत्थान से पहले ही लिंग से धातु का गिरना शुरू होना आदि समस्याओं को धातु दुर्बलता कहा जाता है‌ । इस समस्या के समाधान के लिए आपको अत्यधिक कामुक विचारों, अश्लील साहित्य, अश्लील फ़िल्में देखना बन्द कर देना चाहिए । और इस समस्या से निजात पाने के लिए आपको सुबह 2-3 खजूर को घी में भूनकर नियमित रूप से खाइए. ऊपर से इलायची, शक्कर और कौंच डालकर उबाला हुआ दूध पीना चाहिए । इससे धातु पुष्ट होती है । इलायची दाना व जावित्री का चूर्ण, बादाम गिरी, गाय का मक्खन तथा शक्कर एक साथ मिलाकर खाने से धातु पुष्ट होती है और वीर्य गाढ़ा होता है । 20 मि.ली. ताज़े आंवले का रस निकालकर उसमें शहद मिलाकर सेवन करने से धातु पुष्ट होती है‌ ।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here