केंद्र सरकार ने मंगलवार को 20 यूट्यूब चैनल और 2 वेसाइट को बैन कर दिया। ये सारे चैनल पाकिस्तान से ऑपरेट किए जा रहे थे। जिसके जरिए भारत में भारत विरोधी दुष्प्रचार फैलाया जाता था। इसपर एक्शन भारत की इंटीलेंजेंस एजेंसियों और सूचना और प्रसारण मंत्रायल की रिपोर्ट्स के बाद लिया गया है। सरकार के मुताबिक, ये सारे हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान से ऑपरेट किए जाते थे। जिसके मदद के भारत में फेक न्यूज और संवेदनशील मुद्दे पर लोगो को गुमराह कर भारत विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा देना था। इन सारे यूट्यूब चैनलों और वेबसाइटों का मकसद ही था भारत में शांति भंग करना किसी भी संवेदनशील मुद्दे को तोड़ मरोड़ के गलत तरीके से प्रचारित करना। चैनलों का उपयोग कश्मीर, भारतीय सेना, भारत में अल्पसंख्यक समुदायों, राम मंदिर, जनरल बिपिन रावत, जैसे विषयों पर समन्वित तरीके से विभाजनकारी सामग्री पोस्ट करने के लिए किया गया था। हाल में ही हुए हमारे सीडीएस चीफ विपिन रावत जी के हेलीकॉप्टर क्रैश के दौरान हुए मृत्यु पर भी इन चैनलों के द्वारा नकारात्मक और भ्रामक खबरों को चलाया गया था। “भारत विरोधी दुष्प्रचार अभियान के तौर-तरीकों में द नया पाकिस्तान ग्रुप (एनपीजी) शामिल है, जो पाकिस्तान से संचालित होता है, जिसके पास यूट्यूब चैनलों का एक नेटवर्क है , और कुछ अन्य स्टैंडअलोन यूट्यूब चैनल हैं जो एनपीजी से संबंधित नहीं हैं। चैनलों का एक संयुक्त ग्राहक आधार था। मंत्रालय ने एक बयान में कहा , 35 लाख से अधिक, और उनके वीडियो को 55 करोड़ से अधिक बार देखा गया था। नया पाकिस्तान समूह (एनपीजी) के कुछ यूट्यूब चैनल पाकिस्तानी समाचार चैनलों के एंकरों द्वारा संचालित किए जा रहे थे।

 

 

क्या कहा आईबी मंत्री अनुराग ठाकुर ने।

पत्रकारों से बात करते हुए, आईबी मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि सीमा पार से भारत विरोधी सामग्री फैलाने के प्रयासों का आकलन करने के लिए एक जांच की गई थी। “ये चैनल और वेब पोर्टल कानून का उल्लंघन कर रहे थे,” उन्होंने कहा। “पाकिस्तान के एजेंडे को बढ़ावा देने और उन्हें भारत के खिलाफ काम करने से रोकने की कोशिश करने वाली वेबसाइटों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है।” मंत्रालय द्वारा जारी बयान में इन यूट्यूब चैनलों द्वारा डाले जा रहे नकली समाचारों के स्क्रीनशॉट और उदाहरण भी साझा किए गए।

सरकार के अनुसार, द पंच लाइन ने एक रिपोर्ट में दावा किया कि कश्मीर में एक प्रशिक्षण सुविधा में “कश्मीर मुजाहिद्दीन” द्वारा 20 भारतीय सेना के जनरलों को मार दिया गया था। इसी चैनल की एक अन्य रिपोर्ट में दावा किया गया कि तुर्की के राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन ने अयोध्या में राम मंदिर के स्थान पर एक मस्जिद बनाने का फैसला किया है। तीसरा उदाहरण नया पाकिस्तान ग्लोबल चैनल में एक रिपोर्ट को सूचीबद्ध करता है कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन ने अपनी सेना अयोध्या भेजी है।

यूट्यूब चैनलों और वेबसाइटों को ब्लॉक करने के दो आदेश सूचना और प्रसारण सचिव अपूर्व चंद्रा द्वारा जारी किए गए थे, इस साल की शुरुआत में अधिसूचित सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियमों के तहत उनकी आपातकालीन शक्तियों को लागू करते हुए।

 

 

कौन कौन से चैनल किए गए बैन।

द पंच लाइन, इंटरनेशनल वेब न्यूज, खालसा टीवी, द नेकेड ट्रुथ, News24, 48 न्यूज, काल्पनिक, हिस्टोरिकल फैक्ट, पंजाब वायरल, नया पाकिस्तान ग्लोबल, कवर स्टोरी, गो ग्लोबल, ई-कामर्स, जुनैद हलीम ऑफिशियल, तैयब हनीफ और ज़ेन अली ऑफिशियल।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here