सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने अहम् फैसला लिया है उन्होंने उत्तर प्रदेश के सभी मदरसों के लिए क्लास के शुरू होने से पहले जन गन मन को अनिवार्य कर दिया है उन्होंने उत्तर प्रदेश के 16461 मदरसों में आज से अनिवार्य और सुचारू रूप से जन गन मन करवाने के कड़े निर्देश दिए है| यूपी सरकार ने आदेश जारी किया है कि प्रदेश के मान्यता प्राप्त अनुदानित और गैर अनुदानित सभी मदरसों में कक्षाएँ शुरू होने से पहले अनिवार्य तौर पर राष्ट्रगान करवाया जाए। इसको लेकर प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री दानिश आजाद अंसारी ने आदेश जारी किया है। मदरसा शिक्षा परिषद ये बदलाव किए हैं, जिसके बाद जिला अल्पसंख्यक अधिकारी ने सभी मदरसों के मैनेजर्स को जारी किया है। उल्लेखनीय है कि रमजान के खत्म होने के बाद से 14 मई से मदरसा बोर्ड में परीक्षाएँ भी शुरू हो रही हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, मदरसों में राष्ट्रवादी शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए पिछले महीने योगी कैबिनेट में मंत्री धर्मपाल सिंह ने पहल की थी। मौजूद वक्त में उत्तर प्रदेश में 16461 मदरसे हैं। वहीं दानिश आजाद अंसारी ने बताया कि वार्षिक परीक्षाएँ भी शुरू हो रही हैं। नए सत्र की शुरूआत हो रही है, जिसके चलते सभी मदरसों में लोगों ने आना शुरू कर दिया है। बोर्ड ने सभी जिला कल्याण अधिकारियों को इसके बारे में सूचित कर दिया है। गौरतलब है कि मदरसा शिक्षा भाषा बोर्ड  की 24 मार्च 2022 को उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड की बैठक के दौरान इसको लेकर फैसला लिया गया था कि सभी अनुदानित और गैर अनुदानित मदरसों में नए सत्र से क्लास शुरू होने से पहले छात्रों को राष्‍ट्रगान गाना होगा। इस दौरान मदरसा के शिक्षकों की बॉयोमेट्रिक हाजिरी और नए सत्र से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू करने का भी फैसला किया गया था।बैठक मदरसा बोर्ड के अध्‍यक्ष इफ्तिखार अहमद जावेद की अध्‍यक्षता में हुई। मदरसा बोर्ड अब परीक्षा भी बेसिक शिक्षा परिषद की तर्ज पर ही लेगा। साथ ही इस बात को लेकर फैसला लिया गया था कि मदरसे में शिक्षकों की भर्ती MTET के आधार पर होगी, जो कि TET के पैटर्न जैसा ही होगा।

 

कई मदरसों में नहीं होता था राष्ट्रगान

 

उत्तर प्रदेश के महाराजगंज के 3 मौलवियों पर राज्द्रोह का मुक़दमा दर्ज हुआ था उन्होंने मदरसों के बच्चो को जन गन मन करने से रोका था बता दें कि वर्ष 2018 15 अगस्त के दिन महराजगंज के कोल्हुई थानाक्षेत्र के बड़गो ग्राम स्थित काटा मलंगडीह के मदरसे का एक वीडियो वायरल हुआ। जिसमें मदरसे में ध्वजारोहण के बाद वहां के शिक्षक मौलाना बच्चों को राष्ट्र गान गाने से रोक देते हैं। उनके इस बदम का वहां मौजूद एक शिक्षक विरोध भी करता है पर मौलाना नहीं मानते और बच्चों को कड़ी हिदायत देकर राष्ट्रगान गाने से रोक देते हैं। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाया जा रहा था, जिसे बाद में सोशल मीडिया वासरल कर दिया गया। इसके वायरल होने के बाद तो हड़कम्प मच पुलिस हरकत में आ गयी और राष्ट्रगान का विरोध करने वाले तीनों मौलानाओं के खिलाफ कोल्हुई पुलिस ने राष्ट्रद्रोह समेत कई गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर एक आरोपी मौलाना जुनैद अंसारी को गिरफ्तार कर लिया। जब कि दो अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस जुट गयी थी|

 

बोर्ड मीटिंग में लिया गया था ये फैसला 

 

मदरसों में राष्ट्रगान का फैसला UP मदरसा शिक्षा परिषद की बैठक में 24 मार्च को लिया गया था। इसे गुरुवार को रजिस्ट्रार निरीक्षक एसएन पांडेय ने जारी किया है। उन्होंने बताया कि सत्र 2022-23 के स्कूल खुलने पर ही राष्ट्रगान कराने का फैसला किया गया था। मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं शुरू होने पर यह फैसला लागू कर दिया जाएगा।

 

राष्ट्रगान हर जगह होना चाहिए – नरोत्तम मिश्रा 

 

उत्तर प्रदेश में हर मदरसों में सीएम योगी ने राष्ट्रगान को अनिवार्य कर दिया है। सरकार के इस तर्ज के फैसले से मध्य प्रदेश के भी मदरसों में भी लागू किया जा सकता हैं। गृहमंत्री और मध्य प्रदेश सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा ने इस बात के संकेत दिए है। भोपाल में आयोजित बीजेपी की बैठक में भाग लेने पार्टी कार्यालय पहुंचे गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से जब पत्रकारों ने यूपी के मदरसों में राष्ट्रगान अनिवार्य किए जाने पर प्रतिक्रिया ली, तो उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रगान सब जगह होना चाहिए। देश का राष्ट्र गान है. राष्ट्रगान सब जगह होना चाहिए। इसके बाद जब नरोत्तम मिश्रा से जब मध्यप्रदेश के मदरसों में राष्ट्रगान को लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि ‘यह विचारणीय बिंदु है. इस पर विचार किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here