मोहाली के चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो बनाने और फिर उसे वायरल करने के मामले में जांच तेज हो गई है । इस मामले में अब तक तीन आरोपी पकड़े जा चुके है । आरोपी छात्रा पर हॉस्टल की लड़कियों का वीडियो बनाकर अपने दोस्तों के पास भेजने का आरोप है ।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो मामले की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने जांच शुरू कर दी है ।  इसमें कई अहम सुराग टीम के हाथ लगे है । सूत्रों से पता चला है कि मामले में पुलिस ने एक और युवक को राउंडअप किया है । इस बारे में कोई भी अधिकारी पुष्टि नहीं कर रहा है । वहीं, एसआईटी में शामिल टीम के सदस्यों का कहना है कि जल्दी ही मीडिया से इस बारे में बातचीत की जाएगी । यह भी सामने आया है कि पुलिस ने आरोपी लड़की से शनिवार रात ही उसके मोबाइल से आपत्तिजनक वीडियो रिकवर कर लिए थे । ये सभी वीडियो कमर के नीचे के हिस्से के थे । एसआईटी ने जांच सुबह साढ़े छह बजे शुरू कर दी थी ।

पुलिस इस मामले में जांच कर रही है कहीं ये वीडियो पोर्न वेबसाइट पर तो नहीं डाले गए ? आखिर छात्राओं के अश्लील वीडियो बनाने का मकसद क्या था ? पड़ताल में सामने आया है कि बड़ी संख्या में युवा लड़के और लड़कियां खुद से अपने पोर्न वीडियो बनाकर वेबसाइट पर अपलोड करने लगे है । इसके पीछे का कारण जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे ।

सूत्रों के अनुसार शनिवार रात जब सीयू में हंगामा हुआ, उसी रात पुलिस करीब ढाई बजे आरोपी लड़की को थाने ले गई थी । इस दौरान पुलिस ने आरोपी लड़की के मोबाइल का लोकल डाटा का बैकअप ले लिया था । इसमें पुलिस को आरोपी लड़की के मोबाइल से वीडियो व फोटो मिले थे । एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सभी वीडियो कमर के नीचे वाले हिस्से के बनाए गए थे । इसमें यह साफ नहीं हो रहा था कि वीडियो किसके है । इन वीडियो का लड़की खुद का वीडियो बता रही है । हालांकि पुलिस ने प्रथम चरण में आधार बनाकर केस दर्ज कर लिया था । साथ ही लड़की का उस समय सीधा संपर्क भी दो युवकों से ही पाया गया है ।

मोहाली कान्ड

अश्लील वेबसाइट पर‌ अपलोड कर रहे पोर्न वीडियो

साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ अमित मुखर्जी कहते हैं, ” साल 2018 में केंद्र सरकार के आदेश के बाद 827 पोर्न साइट्स को बंद किया गया । इस आदेश के बाद कहा जा रहा था कि अब भारत में पूरी तरह से पोर्न देखना लोग बंद कर देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ । आज भी अलग-अलग तरह से पोर्न साइट चल रही हैं और भारत में इन्हें देखने वालों की संख्या दुनिया के कई देशों से कहीं अधिक है । ”

अमित आगे कहते हैं, “केवल विदेशी पोर्न नहीं, बल्कि अब देश में भी पोर्न फिल्में बनने लगी है और उसे बड़े पैमाने पर वेबसाइट पर अपलोड किया जाता है । पहले ये काम मॉडल या फिल्मों में काम करने की चाहत रखने वाले युवक और युवतियां करते थे जो किसी तरह अपने करियर में आगे नहीं बढ़ पाते थे । लेकिन अब सामान्य कॉलेज और स्कूल जाने वाले लड़के-लड़कियां भी इसमें शामिल हो गए है । ”

अमित बताते हैं कि ये लड़के-लड़कियां अपने आम मोबाइल से खुद की या फिर अपने दोस्तों की अश्लील वीडियो बनाते हैं और फिर उसे तमाम वेबसाइट पर अपलोड कर देते है । अब बहुत सारी पोर्न वेबसाइट ऐसी आ चुकी हैं, जिनमें ये लड़के-लड़कियां अपना अकाउंट बनाते है । इनके वीडियो देखने के लिए लोगों को पैसा देना पड़ता है । टीवी चैनल्स और ओटीटी प्लेटफॉर्म की तरह यूजर्स अलग-अलग पोर्न साइट के अकाउंट का सब्सक्रिप्शन लेते है । जिस अकाउंट का सब्सक्रिप्शन लेते हैं, वहां उन्हें उस लड़के या लड़की के पोर्न वीडियो देखने को मिल जाएंगे । इन देशी पोर्न वीडियो को विदेशों में भी खूब देखा जाता है । इसी के चलते पोर्न वीडियो अपलोड करने वाले को काफी अच्छे पैसे मिल जाते है ।

मोहाली कान्ड

तीन तरह से बनाए जा रहे पोर्न वीडियो

डेटिंग एप के कारण

पोर्न वीडियो बनाने वाले युवा अब डेटिंग एप का सहारा लेकर नए लोगों को अपने साथ जोड़ने लगे है । ऐसे लोग स्कूल-कॉलेज जाने वाले लड़के-लड़कियों को आसानी से अपना शिकार बनाते है । इन लड़के और लड़कियों को पैसा ऑफर करते हैं और उनके साथ शारीरिक संबंध बनाते हुए वीडियो तैयार कर लेते है । इनमें गे और लेस्बियन संबंध भी होते हैं । कई बार ऐसा भी होता है कि अगर कोई शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहता है तो उसे नशीला पदार्थ देकर ये सब गुपचुप तरीके से कर लिया जाता है । फिर उसे पोर्न साइट पर डालकर कमाई करते है ।

फेक प्रोफाइल बनाकर वीडियो कॉल 

इसके कई मामले सामने आ चुके है । जब फेक प्रोफाइल बनाकर अश्लील वीडियो बनाए जाते है । ऐसे मामलों में फेक प्रोफाइल के जरिए युवक या युवती से सोशल मीडिया पर जुड़ा जाता है । फिर उनसे बातचीत बढ़ाई जाती है । बाद में न्यूड वीडियो कॉल करने के लिए कहा जाता है । इस दौरान न्यूड होने पर कॉल रिकॉर्ड कर ली जाती है । लड़के या लड़की की सारी हरकतें रिकॉर्ड हो जाती हैं और फिर उसे इस तरह के पोर्न साइट्स पर अपलोड कर दिया जाता है । अच्छे-अच्छे परिवार से लड़के-लड़कियां इसका शिकार हो रहे है । कई बार जाल में फंसने वाले को ब्लैकमेल भी किया जाता है । उनसे पैसों की डिमांड होती है । बड़े-बड़े पदों पर बैठे आईएएस-आईपीएस तक इस तरह के ट्रैप पर फंस चुके है ।

जानबूझकर बनाते है वीडियो

इस तरह के मामले भी सामने आ चुके हैं, जब पैसों के लिए लोग खुद से खुद का वीडियो बनाने लगे है । खुद के नहाते हुए या अन्य तरह के अश्लील हरकतें करते हुए वीडियो बनाते है और फिर उसे पोर्न वेबसाइट पर अकाउंट बनाकर उसे अपलोड कर देते है । ऐसा करने वाले ज्यादातर लोगों की उम्र 15 से 35 साल के बीच होती है । इनमें लड़के और लड़कियां दोनों शामिल होते है । ये लोग अपने वीडियो का प्रचार-प्रसार भी ट्विटर और फेसबुक के जरिए करते है । यहां तक बहुत सारे व्हाट्सएप ग्रुप भी इसके लिए बनाए जाते है । ऐसे लड़के और लड़कियों का इंस्टाग्राम और यूट्यूब चैनल भी होता है । यहां भी ये अलग-अलग तरह के वीडियो डालते है । जो लोग इनके पोर्न साइट का सब्सक्रिप्शन नहीं लेते है, वो यहां जुड़ जाते है ।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here