एक युवा कप्तान के साथ कप के ख्वाब सजाए उतरी दिल्ली की पलटन ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए इस सीजन का सबसे बड़ा स्कोर बनाया। दिल्ली की टीम ने कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट खोकर तेजतर्रार 215 रन बनाए। जो भी खिलाड़ी आया उसने कुछ न कुछ योगदान दिया। दिल्ली के लिए ओपनर पृथ्वी शॉ और डेविड वॉर्नर ने तो क्या गजब की पारी खेली दोनो खिलाड़ियों ने अर्धशतक लगाए। वहीं शार्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल ने भी उपयोगी योगदान दिया और तेजतर्रार पारियां खेलीं। दोनो बिना लाग लपेटे छक्के लगाए। आपको बता दे की इस सीजन में इतना बड़ा स्कोर किसी टीम ने नही बनाया था लेकिन दिल्ली ने इस सीजन का सबसे बड़ा टीम स्कोर बना ही दिया। इससे पहले लखनऊ सुपर जायंट्स की टीम ने ब्रेबॉर्न स्टेडियम में ही चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए 4 विकेट खोकर 211 रन बनाए थे। चेन्नई ने उस मैच में 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 210 रन बनाए थे। वो मैच फिर चेन्नई सुपर किंग्स हार गई थी। इसके अलावा राजस्थान रॉयल्स ने पुणे के एमसीए स्टेडियम में हैदराबाद के खिलाफ 29 मार्च को खेले गए मैच में 6 विकेट पर 210 रन का स्कोर बनाया था। मतलब इस आईपीएल में टीमें 200 तक तो पहुंची है लेकिन दिल्ली उसमे सबसे आगे रही आज। आज का मैच मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में खेला जा रहा था और ये सीजन का 19वा मैच था। कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान श्रेयस अय्यर ने टॉस जीता और दिल्ली को पहले बल्लेबाजी का मौका दिया। डेविड वॉर्नर और पृथ्वी ने टीम को एक बेहतरीन शुरुआत दी,जो अभी तक इस आईपीएल में दिल्ली की ओर से देखने को नहीं मिला था। दोनों ने पहले विकेट के लिए 93 रन जोड़ दिए वो भी सिर्फ 8.3 ओवर्स में। खतरनाक होती इस साझेदारी को वरुण चक्रवर्ती ने तोड़ा और पृथ्वी को बोल्ड कर दिया। पृथ्वी ने 29 गेंदों पर 51 रन की अपनी बेहतरीन पारी में 7 चौके और 2 गगनचुंबी छक्के लगाए। वहीं, वॉर्नर ने 45 गेंदों पर 61 रन बनाए और अपनी पारी में 6 चौके, 2 बेहतरीन छक्के लगाए। इन दोनो के आउट होने के बाद शार्दुल ठाकुर ने भी धुआंधार अंदाज में बल्लेबाजी की जिसके लिए वो चेन्नई की टीम में जाने जाते थे। उन्होंने 11 गेंदों पर 29 रन बनाए जिसमें 1 चौका और 3 शानदार छक्के शामिल थे। वहीं, ऑलराउंडर अक्षर पटेल ने भी 14 गेंदों पर 2 चौके और 1 छक्का लगाते हुए नाबाद 22 रन की एक छोटी पारी खेली लेकिन एक शानदार पारी खेली। केकेआर के अभी तक के सर्वश्रेष्ठ प्लेयर साबित हुए है उमेश यादव लेकिन शार्दुल ठाकुर ने उमेश यादव को उनके आखिरी ओवर में निशाना बनाया और 2 लंबे लंबे छक्के जड़ दिए। फिर अक्षर पटेल ने भी 1 छक्का और 1 छौका लगाया। इसके बाद शार्दुल ने पैट कमिंस के पारी की अंतिम गेंद पर भी छक्का जड़ा। दोनों ने मिलकर छठे विकेट के लिए 49 रन की अविजित साझेदारी भी की जिसके लिए मात्र 20 गेंद खेलीं। इन्ही दोनो की अंत में ताबड़तोड़ पारियों के वजह से दिल्ली एक बड़ा लक्ष्य देने में सफल हुई।

 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता की टीम 171 पर हुई ढेर

 

दिल्ली की ओर से रखे गए 216 रनों का एक बड़ा सा लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम 2 गेंद शेष रहते ही 171 रन सरेंडर कर गई। केकेआर के लिए युवा कप्तान श्रेयस अय्यर ने सबसे अधिक 54 रन बनाया और एक कप्तान होने का फर्ज निभाया लेकिन उनका साथ देने वाला क्रीज पर कोई नही था। आंद्रे रसेल 24 रन बनाकर आउट हुए वहीं सैम बिलिंग्स ने 15 रनों का एक छोटा सा योगदान दिया। दिल्ली की ओर से कुलदीप यादव ने अपने चार ओवर के स्पैल में 35 रन देकर 4 विकेट निकाले वहीं खलील ने 3 विकेट चटकाए। शार्दुल ठाकुर के खाते मे दो विकेट गए। कुलदीप यादव धीरे धीरे इस आईपीएल में अपने लय में आते दिख रहे है। पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता की शुरुआत बिल्कुल भी अच्छी नहीं रही। अभी उनके खाते में 21 रन ही जुड़े थे कि वेंकटेश अय्यर जैसा बेहतरीन बल्लेबाज को खलील अहमद ने अक्षर पटेल के हाथों कैच कराकर केकेआर को बड़ा झटका दिया। अगर वेंकटेश अय्यर वहा टिक जाते कुछ ओवर्स के लिए तो खेल कुछ और ही होता। वेंकटेश 8 गेंदों पर 18 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद अनुभवी अजिंक्य रहाणे को खलील ने अपना दूसरा शिकार बनाया। रहाणे इस आईपीएल में पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए है और हो सकता है की आगे उन्हें मौका भी न मिले खेलने को। खलील ने रहाणे को शार्दुल ठाकुर के हाथों लपकवाकर दिल्ली को दूसरी सफलता दिलाई। वैसे भी रहाणे एक टेस्ट की पारी खेल रहे थे उन्होंने 14 गेंदों पर आठ रन तब बनाए जब पावरप्ले चल रहा था। रहाणे लगातार फेल हो रहे है,और ये संभव है की दिल्ली टीम मैनेजमेंट उनपे आगे के मैचों में विचार करे। उसके बाद बेहतरीन फॉर्म में चल रहे श्रेयस अय्यर को चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने पवेलियन भेजा। कुलदीप की गेंद पर विकेटकीपर ऋषभ पंत ने श्रेयस को स्टंप आउट किया। श्रेयस ने अपनी पारी में 33 गेंदों पर पांच चौके और दो लंबे लंबे छक्के लगाए। श्रेयस एक लंबी पारी की ओर बढ़ ही रहे थे की कुलदीप ने उन्हें चौका दिया। उसके बाद नितीश राणा को 30 के निजी स्कोर पर ललित यादव ने पृथ्वी शॉ के हाथों कैच करा कर कोलकाता को एक और झटका दे दिया। पैट कमिंस 4 रन बनाकर पवेलियन लौटे। जो पिछले मैच में हीरो साबित हुए था,कयास ये भी लगाया जा रहा था की शायद वो अकेले दम पर मैच का रुख मोड़ दे लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ और वो जल्दी ही आउट हो गए। सुनील नारायण भी कुछ खास कमाल नहीं कर सके और जल्दी आउट होकर लौट गए। उन्हें भी कुलदीप ने 4 के निजी स्कोर पर पवेलिया भेज दिया। एक तरफ दिल्ली जीत की तरफ बढ़ रही थी तो दूसरी तरफ कोलकाता को हारने की जल्दी थी। इसके पहले जब केकेआर बोलिंग कर रही थी तब भी स्थिति ठीक नहीं थी और उसने 8 ओवर में 7 गेंदबाजों को आजमाया। केकेआर के कप्तान श्रेयस अय्यर ने पहले आठ ओवरों में ही सात गेंदबाजों को आजमा दिया था। शॉ ने वेंकटेश अय्यर की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका लगाया और केवल 27 गेंदों पर आईपीएल में अपना 12वां अर्धशतक पूरा किया लेकिन वह अपनी पारी लंबी नहीं खींच पाए और चक्रवर्ती की गुगली पर बोल्ड हो गए। चक्रवर्ती हालांकि अगले ओवर में अपनी गेंदों पर नियंत्रण नहीं रख पाए जिसमें 24 रन बने। पंत ने चक्रवर्ती के बाद कमिंस पर भी छक्का लगाया जबकि वॉर्नर ने आंद्रे रसेल की धीमी गेंद को छह रन के लिए भेजकर अपना अर्धशतक पूरा किया। पंत हालांकि रसेल की गेंद को हवा में लहरा गए और अपनी पारी लंबी नहीं खींच पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here