जैसे–जैसे आईपीएल आगे बढ़ रहा है वैसे–वैसे आईपीएल में रोमांच बढ़ता जा रहा है। आज भी मुंबई और कोलकाता के बीच जो मैच हुआ वो अब तक का इस आईपीएल का सबसे अच्छा मैच रहा। इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल में कल यानी बुधवार को जो मुकाबला हुआ उसमे कोलकाता नाइट राइडर्स की शानदार जीत हुई है। एक वक्त इस मैच में ऐसा भी था जब मुंबई इंडियन पूरी तरह से पकड़ बनाई हुई थी। लेकिन कुछ ऐसा हुआ कि देखते ही देखते वह पांच विकेट से मैच ही हार गई। ऑस्ट्रेलियाई टीम के टेस्ट कप्तान और ऑलराउंडर खिलाड़ी पैट कमिंस ने कोलकाता नाइट राडडर्स के लिए इस सीजन का पहला मैच खेला और आते ही धमाल मचा दिया और परिचय दे दिया की वो पिछले आईपीएल में इतने महंगे क्यों बिके थे। पैट कमिंस ने सिर्फ 14 बॉल में फिफ्टी जमाई और रिकॉर्ड बना दिया। इस आईपीएल में अभी तक की सबसे तेज पारी थी। पैट कमिंस ने अपना पहला मैच खेला और अपने पहले ही मैच में दिखा दिया की वो क्यों कोलकाता के टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं। कोलकाता नाइट राइडर्स के पैट कमिंस ने सिर्फ 14 बॉल में अपनी फिफ्टी पूरी की और एक ही ओवर में 35 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिला दी। पैट कमिंस ने आईपीएल इतिहास में सबसे तेज़ फिफ्टी जड़ने के रिकॉर्ड की बराबरी की है, उन्होंने केएल राहुल के 14 बॉल में फिफ्टी के रिकॉर्ड की बराबरी की। इसमें उन्होंने 4 चौके जड़े तो वही 6 छक्के भी लगाए। आपको बता दे की आईपीएल में कुछ खिलाड़ी है को सबसे तेज फिफ्टी लगाए है उनमें से केएल राहुल- 14 बॉल
पैट कमिंस- 14 बॉल
युसूफ पठान- 15 बॉल
इन खिलाड़ियों ने सबसे तेज फिफ्टी लगाए है जो आईपीएल के इतिहास में याद रखा गया है और जब तक आईपीएल होगा तब तक रखा जाएगा।

 

मीस कम्युनिकेशन के चलते कैच हुआ ड्रॉप

 

13वें ओवर में अजिंक्य रहाणे ने तिलक वर्मा का कैच ड्रॉप कर दिया। वैसे यह कैच विकेटकीपर सैम बिलिंग्स आसानी से पकड़ सकते थे, लेकिन मिस कम्युनिकेशन के चलते मौका छिटक गया। उमेश यादव की शॉर्ट गेंद को तिलक वर्मा ठीक से खेल नहीं पाए और गेंद बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर हवा में चली गई। हुआ ये की बिलिंग्स कैच पकड़ने के लिए दौड़ते हैं और उसी समय रहाणे भी बैकवर्ड प्वाइंट से कैच लेने के लिए दौड़ते है और हां-ना के चक्कर में कैच छूट ही जाता है। रहाणे ने को कैच छोड़ा उसका काफी नुकसान हुआ कोलकाता को, तिलक वर्मा का कैच छोड़ना कोलकाता नाइट राइडर्स को काफी भारी पड़ा। इस जीवनदान का फायदा उठाते हुए तिलक वर्मा ने नाबाद 38 रनों की पारी खेल दी। वर्मा ने अपनी पारी में तीन चौके और दो छक्के उड़ाए। हो सकता है की आने वाले मैचों में ये सितारा बन के उबरे। फिलहाल तो इस मैच के बाद तिलक वर्मा ट्वीटर पे ट्रेंड कर रहे थे। दूसरी तरफ अगर अजिंक्य रहाणे की बात करे तो वो बल्ले से भी कुछ खास योगदान नहीं दे पाए, रहाणे को टायमल मिल्स ने डेनियल सैम्स के हाथों कैच आउट कराया, रहाणे 11 गेंद पर महज 7 रन की छोटी पारी खेल कर आउट हो गए। पहले तीन मुकाबलों में भी कुछ खास नहीं कर पाए थे।

 

मुंबई इंडियंस की पारी कुछ इस प्रकार रही

 

पांच बार की चैम्पियन रही मुंबई इंडियंस को इस सीजन में पहली जीत की तलाश थी, लेकिन इस मैच में भी शुरुआत बढ़िया नहीं हुई। कप्तान रोहित शर्मा 3 के निजी स्कोर पर ही आउट हो गए, अभी तक इस सीजन के तीनों मैच में रोहित का बल्ला नही चला है। रोहित के बाद ‘जूनियर एबीडी’ डेवाल्ड ब्रिवेस ने छोटी लेकिन धमाकेदार और तेज तरार पारी खेली। इस सीजन में पहली बार खेल रहे सूर्यकुमार यादव ने धमाकेदार फिफ्टी जड़ी और अपनी टीम की मैच में वापसी करवाई। अगर सूर्यकुमार यादव नही होते तो शायद मुंबई वहा तक भी नही पहुंच पाती। सूर्यकुमार यादव ने 52 रनों की पारी में 5 चौके और 2 गगनचुंबी छक्के लगाए। आखिरी में कायरन पोलार्ड का अनुभव काम आया और सिर्फ 5 बॉल में 22 रन बनाकर उन्होंने टीम के स्कोर को 161 तक पहुंचाया। एक समय तो ऐसा लग रहा था की मुंबई की टीम 100 रन पर ही न लुढ़क जाए। इस पूरे सीजन में मुंबई कही भी एक चैंपियन की तरह नही खेली है जिस से ये लगे की मुंबई 5 बार की चैंपियन है। मुंबई की टीम अभी तक अपने तीनों मैच गवा बैठी है। लेकिन अगर इस मैच के अंतिम ओवरों की बात करे तो मुंबई के बल्लेबाजों ने अच्छे रन बनाए। इस मैच में दोनो टीम कुछ इस प्रकार थी।

कोलकाता नाइट राइडर्स की प्लेइंग-11: अजिंक्य रहाणे, वेंकटेश अय्यर, श्रेयस अय्यर (कप्तान), सैम बिलिंग्स, नीतीश राणा, आंद्रे रसेल, सुनील नरेन, पैट कमिंस, उमेश यादव, रसीख सलाम, वरुण चक्रवर्ती

मुंबई इंडियंस की प्लेइंग-11: ईशान किशन, रोहित शर्मा (कप्तान), सूर्यकुमार यादव, तिलक वर्मा, कायरन पोलार्ड, डैनियल सैम्स, डेवाल्ड ब्रिवेस, मुरुगन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, टायमल मिल्स, बसिल थाम्पी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here