10 दिन के अंदर ये दूसरी बार होगा जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी वाराणसी दौरे पर है। इस बार वो अपने संसदीय क्षेत्र के लिए 2100 करोड़ का सौगात देने पहुंचे है। वो कई परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने पहुंचे है। करीब ढाई घंटे के काशी दौरे में पीएम मोदी ने पिंडरा के करखियांव में अमूल प्लांट की आधारशिला रखने के साथ ही 2100 करोड़ रुपये की 27 परियोजनाएं अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को समर्पित कीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा की गाय और गोबर की बात करना कुछ लोगो ने गुनाह कर दिया है। उनके लिए होगा, मेरे लिए गाय माता है। पूज्यनीय है, गाय और भैंस का मज़ाक उड़ाने वाले लोग ये भूल जाते है की आज भी देश के 8 करोड़ लोगो की आजीविका ऐसे ही पशुधन से चलती है। ऐसे ही परिवारों की वजह से हर साल देश साढ़े आठ करोड़ रुपए का दूध उत्पादन करता है। आज देश में जितना गेहूं और चावल से उत्पादन होता है उससे कही ज्यादा दूध से होता है। और इसीलिए डेयरी उत्पादन को मजबूत करना हमारी सरकार का सर्वोच्च प्रथिमिकताओं में से एक है। इसी कड़ी में आज यहां ‘बनास काशी संकुल’ का शिलान्यास किया गया है।

 

पीएम मोदी ने कहा साथियों मैदान छोटा पड़ गया है, अब जगह नही है, आप वही अपने आपको संभाल लीजिए।

 

प्रधानमंत्री जी के अत्यधिक लोकप्रियता के कारण ही उनके हर रैली में हजारों की संख्या में भीड़ जमा हो जाती है। कुछ दिन पहले हमने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के दौरान और कुछ दिन पूर्व हुए प्रयागराज में हुआ महिला शक्तिकरण रैली के दौरान भी भीड़ देखने को मिली थी। आज पिंडरा के करखियांव में भी जब भारी संख्या में भीड़ आ गई तो मोदी जी ने कहा की साथियों मैदान छोटा पड़ गया है, अब जगह नही है, आप जहां खड़े है वही अपने आप को संभाल लीजिए।

 

हमारी सरकार सिर्फ इंसानों के लिए ही मुफ्त टीका नही लगा रही, बल्कि पशुओं को बचाने के लिए भी तमाम टीके लग रहे है।

 

कोरोना संकट के बीच जहा देश की कमर टूट चुकी थी वही, केंद्र की मोदी सरकार ने सबको मुफ्त में वैक्सीन मुहैया करा रही। बच्चे हो या बूढ़े गरीब हो या अमीर भारत सरकार की वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन सबको मुफ्त में लगाई जा रही और भारत जल्द से जल्द कोरोना मुक्त हो जिसके लिए सरकार का निरंतर प्रयास और तरह तरह के योजनाओं के साथ जनता के बीच है। आज बनारस में पीएम मोदी ने कहा की हम सिर्फ इंसानों को ही नही बल्कि देश के सभी पशुओं के लिए भी तमाम योजनाएं ला रहे और उनके अनेकों प्रकार के बीमारियों से छुटकारा दिलाने के लिए वैक्सीनेशन भी करा रहे है। उनको अच्छा चारा मिले हम इसपर भी काम कर रहे है।

कुछ लोगो को उत्तर प्रदेश के विकास से तकलीफ है।

कुछ लोगों को यूपी के विकास की बात करने से तकलीफ होती है। ये लोग नहीं चाहते कि काशी का विकास हो। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास की बातें भी उनके सिलेबस में ही नहीं है। उनकी सोच, बोलचाल सिलेबस में क्या है सब जानते हैं- माफियावाद, परिवारवाद, जमीनों पर अवैध कब्जा। पहले की सरकारों के समय यूपी के लोगों को जो मिला और आज लोगों को हमारी सरकार से जो मिल रहा है उसका फर्क साफ है। हम यूपी में विरासत को बढ़ा रहे हैं और विकास को भी। लेकिन अपना स्वार्थ सोचने वाले इन लोगों को पूर्वांचल के विकास से, बाबा के काम से, विश्वनाथधाम के काम से आपत्ति होने लगी है। मुझे बताया गया कि बीते रविवार डेढ़ लाख से ज्यादा श्रद्धालु काशी विश्वनाथ धाम पहुंचे थे। यूपी को पीछे धकेलने वाले इन लोगों की नाराजगी और बढ़ेगी। लेकिन जैसे जैसे आपका आशीर्वाद हमारे लिए बढ़ता जाता है उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंचेगा। डबल इंजन की सरकार यूपी के लिए ऐसी ही मेहनत करती रहेगी। हम विकास के नए रिकॉर्ड बनाते रहेंगे। आप सभी को सभी विकास परियोजनाओं की आप सभी को बधाई। अंत में पीएम ने भारत माता की जय के नारे लगवाए और अपना संबोधन को विराम दिया।

बटन दबा दिया 2100 करोड़ का सौगात।

पीएम मोदी ने बटन दबाकर बनास दुग्ध प्लांट से लेकर तमाम विकास परियोजनाओं की सौगात दी है। इस मौके पर पीएम ने मंच से छह लोगों को घिरौनी भी दी।

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कहा?

सीएम ने कहा कि बीते 13 दिसंबर को काशी को पीएम ने ऐसा चमत्कार दिया है जिसकी सदियों से काशी को जरूरत थी। आज दुनिया काशी की ओर निहार रही है। किसानों को दूध से कमाया बोनस भी किसानों को वापस मिलने जा रहा है। 2100 करोड़ की योजनाओं की सौगात भी काशी को मिलेगी।

स्वामित्व योजना में वाराणसी बनेगा मॉडल

स्वामित्व योजना में प्रदेश में मॉडल के रूप में वाराणसी सबसे ज्यादा गांवों का सर्वे पूरा कर चुका है। एक महीने में जिले भर के 1020 गांवों की आपत्ति निपटा कर करीब 85 हजार परिवारों को घरौनी दे दी जाएगी। इसके जरिए गांवों में घर और खेती की जमीन से अलग भूखंडों पर होने वाले छोटे छोटे विवादों से भी छुटकारा मिलने की उम्मीद है। पीएम के हाथों बटन दबने के बाद वाराणसी के 35 हजार लोगों को एक साथ घरौनी का लिंक पहुंच जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here