अब आईपीएल 2022 अपने आखरी पड़ाव की ओर है। जहा 4 टीमें पहले ही प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर चुकी (गुजरात,राजस्थान, लखनऊ और आरसीबी) है वहा अभी एक लीग मैच बचा हुआ था जिसमे हैदराबाद की टीम को हार झेलनी पड़ी। पंजाब किंग्स की टीम ने सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को पांच विकेट से हराकर लीग का आखिरी मुकाबला अपने नाम कर किया। हैदराबाद के 158 के लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम ने 15.1 ओवर में ही मैच खत्म कर दिया। पंजाब ने पांच विकेट खोकर आसान तरीके से हैदराबाद पर जीत हासिल कर ली। देखा जाए तो इस मैच से प्लेऑफ के लिए कोई फर्क नहीं पड़ता था क्योंकि वो 4 टीमें पहले ही प्लेऑफ में जगह बना चुकी थी।

 

 

सनराइजर्स हैदराबाद की पारी

 

पहले बल्लेबाजी करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की खराब शुरुआत हुई। अपना आखरी लीग मैच खेल कर सारी टीमें जीत के साथ टूर्नामेंट को खत्म करना चाहती है। वही सोच कर उतरे हैदराबाद के दोनो ओपनर्स ने उस बात पर अमल नहीं किया। हैदराबाद का पहला ही विकेट सस्ते में निकल गया। मात्र 14 रन जब हैदराबाद का स्कोर था तभी प्रियम गर्ग आउट हो गए। गर्ग ने जाने से पहले 7 गेंदों में 4 रन बनाय, वो भी सिंगल से आय बाउंड्री एक भी नही लगी। ये हैदराबाद को लगने वाला पहला झटका था। उसके बाद राहुल त्रिपाठी बैटिंग करने आय जो इस पूरे सीजन में काफी अच्छा खेले है अपने लिए और अपनी टीम के लिए। राहुल त्रिपाठी आते ही अभिषेक शर्मा के साथ साझेदारी की शुरुआत कर दी। आपको बता दे की अभिषेक कुमार इस पूरे सीजन में अच्छे फॉर्म में थे और हैदराबाद के लिए सबसे ज्यादा रन बनाया है इस साल। लेकिन जब हैदराबाद का स्कोर 61 रन था तभी राहुल त्रिपाठी को हरप्रीत बरार ने आउट कर दिया। राहुल और अभिषेक के बीच अपने टीम के लिए एक अच्छी साझेदारी चल रही थी लेकिन बड़ी साझेदारी में बदलने से पहले ही टूट गई। राहुल त्रिपाठी ने 18 गेंदों पर 20 रनों की पारी खेली जिसमे 1 चौका और 1 छक्का शामिल था। अगला विकेट हैदराबाद ने 76 रन पर अभिषेक शर्मा का खो दिया जो अच्छे फॉर्म में दिख रहे थे। अभिषेक शर्मा ने जाने से पहले 32 गेंदों पर 43 रन बनाय जिसमे पांच चौके और 2 शानदार छक्के शामिल थे। अभिषेक शर्मा को भी हरप्रीत बरार ने ही आउट किया और हैदराबाद को तोड़ कर रख दिया। इस मैच में पूरन से काफी आपेक्षाए थी लेकिन वो उसपे खरे नहीं उतरे और उल्टा 5 रन के लिए 10 गेंद खेल। इतनी धीमी पारी पुरन प्रेशर में ही खेलते है। पूरन को नाथन ने आउट करके हैदराबाद को एक और झटका दिया। पूरन जाने से पहले 5 रन बना गए जिसमे कोई बाउंड्री नही थी। वॉशिंगटन ने भी बढ़िया हाथ खोले और 19 गेंदों पर 25 रनों की पारी खेली जिसमे 3 चौके और 1 छक्का शामिल था। लेकिन वो अपनी पारी को बढ़ा नही पाय और वो नाथन का ही शिकार हो गए। फिर शेफर्ड ने आकर आतिशी पारी खेलना शुरू कर दिया और अंत तक नाबाद भी रहे। उन्होंने 15 गेंदों पर शानदार 26 रन बनाय। जिसमे 2 चौका और 2 छक्के शामिल थे। इस तरह से पूरी टीम ने मिल कर 157 रन बनाय और उसके 8 विकेट गिर गए थे। वही अगर गेंदबाजी की बात करे तो पंजाब के तरफ से नाथन एलिस ने अपने 4 ओवर में 40 रन खर्च करके 3 विकेट लिए। वही हरप्रीत बरार ने अपने 4 ओवर के कोटे से मात्र 26 रन देकर 3 विकेट झटके जिनके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया। एक सफलता रबादा को भी मिला, उन्होंने अपने 4 ओवर से 38 रन खर्च करके 1 विकेट निकाले। लिविंगस्टोन और अशरदीप को इस बार एक भी विकेट हासिल नहीं हुआ। अब बारी थी पंजाब की बैटिंग की।

 

पंजाब ने आसानी से जीता मैच

 

158 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पंजाब की शुरुआत उतनी अच्छी नही रही जिसका अंदाजा था क्योंकि जब टीम का स्कोर 28 रन था तभी पंजाब ने अपना पहला विकेट खो दिया वो भी इनफॉर्म खिलाड़ी जॉनी बैरेस्टो। बैरेस्टो ने आउट होने से पहले तेज पारी खेली। उन्होंने 15 गेंदों पर 23 रन मारे जिसमे 5 चौके शामिल थे। उसके बाद शारूख खान और शिखर धवन के बीच साझेदारी शुर हुई जिसमे दोनो ने अच्छी साझेदारी की लेकिन शाहरुख खान ज्यादा देर तक नही टिक सके और वो रफ्तार किंग उमरान मलिक ने उन्हें आउट किया। जाने से पहले उन्होंने 10 गेंदों पर 19 रन बनाय जिसमे 2 चौके और 1 छक्का शामिल था। उसके बाद कप्तान मयंक अग्रवाल खुद उतरे बैटिंग करने लेकिन वो ज्यादा कुछ नहीं कर सके। उन्होंने 4 गेंद खेल कर मात्र एक रन बनाय। उन्हे चोट भी लगी थी उमरान के बाउंसर से,जिस से वो दर्द में भी दिखे। मयंक के जाने के बाद लिविंगस्टोन आय और आते ही अपने काम पर लग गए जिसके लिए वो जाने जाते है। लेकिन जब टीम का स्कोर 112 रन था तभी शिखर धवन आउट हो गए जिन्होंने एक साइड संभाले रखा था। जितेश शर्मा 7 गेंदों में 19 रन बना डाले जिसमे 3 चौके और 1 छक्का शामिल था। वही लिविंगस्टोन ने क्या गजब का धोया उन्होंने 22 गेंदों में 49 रन बनाय जिसमे उन्होंने 2 चौके लगाए और 5 छक्के उड़ाए। इस तरह से पंजाब ने आसानी से हारा दिया। वही अगर गेंदबाजी की बात करे हैदराबाद की तो उतनी खास नही थी। फारूकी ने सबसे ज्यादा 2 विकेट लिए अपने 4 ओवर से 32 लुटाए। वही जगदीशा और मलिक को एक एक सफलता प्राप्त हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here