आईपीएल 2022 अपने अंतिम पड़ाव की ओर बढ़ चला है। अब टीमें प्लेऑफ के साथ साथ टॉप 2 में भी जगह बनाने के लिए एक दूसरे से टकरा रही है। गुजरात टाइटंस ने पहले ही अपनी जगह टॉप 2 में फिक्स कर ली है। आपको बता दे की को टीम टॉप 2 में रहेगी उसको प्लेऑफ में एक मैच हारने के बाद भी एक मौका मिलेगा फाइनल खेलने का,यही वजह है की टीमें चाहती है की वो टॉप 2 में ही रहे। ताकि अगर सेमी फाइनल में कुछ गलती हो भी जाए तो एक चांस बना रहे फिर से फाइनल में इन करने का। अब आपको ले चलते है कल यानी सोमवार को हुए दिल्ली और पंजाब के मुकाबले में जहा पंजाब को दिल्ली ने धूल चटा दिया। दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने पंजाब किंग्स की टीम को सोमवार को हुए मैच में हराकर इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल प्लेऑफ में पहुंचने की अपने उम्मीदों को बरकरार रखा है। दिल्ली कैपिटल्स ने इस मैच को 17 रनों से जीता और प्वाइंट टेबल में टॉप-4 में जगह बना ली है। जो आगे के लिए रास्ता आसान करेगा दिल्ली के लिए। आपको बता दे की दिल्ली कैपिटल्स ने पहले बैटिंग करते हुए साधारण सा 159 रन का स्कोर बनाया था, पंजाब किंग्स के लिए ये स्कोर बहुत बड़ा नही था क्योंकि उसके बैटर इस सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन लो स्कोर को कैसे बचाना है ये बात दिल्ली के बॉलर बखूबी जानते थे और पूरी तरह से तैयार होकर डिफेंड करने उतरे थे। और नतीजा भी दिल्ली के पक्ष में रहा। पंजाब किंग्स 20 ओवर में सिर्फ 142 रन ही बना पाई। 17 रनों की इस जीत के साथ दिल्ली कैपिटल्स के 14 प्वाइंट हो गए हैं और वो टॉप 4 में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी है। आईपीएल का रोमांच दिन प्रति दिन बढ़ते ही जा रहा कोई भी टीम को कम नही आंका जा सकता है क्योंकि अभी भी अगर मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स को छोड़ दिया जाय तो बाकी की 8 टीमें प्लेऑफ की लड़ाई लड़ रही है।

 

दिल्ली कैपिटल की साधारण रही बैटिंग

 

दिल्ली की बैटिंग इस मैच में कुछ खास नहीं रही, पहले बैटिंग करने उतरी दिल्ली कैपिटल के सबसे भरोसेमन बल्लेबाज डेविड वार्नर पारी के पहले ओवर की पहली ही गेंद पर राहुल चाहर को कैच थमा बैठे। ये दिल्ली कैपिटल्स के लिए बहुत बड़ा झटका था क्योंकि वार्नर जब से टीम से जुड़े है तब से वो अच्छा प्रदर्शन कर रहे है और इस मैच में पहली ही गेंद पर आउट हो गए। वार्नर के जाने के बाद मिचेल मार्श और सरफराज के बीच तेजतर्रार 51 रनो की साझेदारी हुई जिस से दिल्ली की टीम को थोड़ा संभलने का मौका मिला लेकिन जैसे ही टीम का स्कोर 51 पहुंचा वैसे ही दिल्ली ने सरफराज को भी गवा दिया। सरफराज ने जाने से पहले धुंआधार पारी खेली और उन्होंने 16 गेंदों में 32 रन बनाय जिसमे 5 चौके और एक शानदार छक्का भी शामिल था,उन्होंने 200 के स्ट्राइक रेट से इन बनाय। अब क्रीज पर ललित यादव और मार्श थे दोनो ने मिल कर फिर एक साझेदारी शुरू कर दी लेकिन ये साझेदारी भी जल्दी ही टूट गई और ललित यादव आउट होकर चलते बने। ललित यादव ने 21 गेंदों पर 24 रन बनाय जिसमे एक चौका और एक छक्का शामिल था। एक छोर पे विकेट गिर रहा था लेकिन एक छोर मार्श ने संभाले रखा था। ललित के बाद पंत आय और एक छक्का लगा कर चले गए अब दिल्ली की टीम दुविधा में दिखने लगी थी क्योंकि उसके विकेट लगातार अंतराल पर गिरते ही जा रहे थे। पंत के बाद लोगो को पावेल से बहुत उम्मीदें थी क्योंकि उन्होंने इस सीजन में गजब का प्रदर्शन किया है लेकिन इस मैच में पावेल पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए और 2 रन बनाने के लिए 6 गेंद खेला उन्होंने। पावेल के जाने के बाद थोड़ा बहुत अक्षर पटेल ने पारी को संभाला लेकिन तब जमे हुए मार्श आउट हो गए और दिल्ली को लगने वाला सबसे बड़ा झटका था। मार्श ने जाने से पहले मैदान के हर कोने में शॉट्स लगाए और उन्होंने 48 गेंदों पर 63 रनों की शानदार पारी खेली। उनकी पारी में 4 चौके और 3 छक्के शामिल थे। उन्ही के पारी के बदौलत दिल्ली की टीम 159 रन तक पहुंच सकी। उधर पंजाब ने कसी हुई गेंदबाजी की,उनके बॉलरों ने रन नही लुटाए, अर्शदीप और लिविंगस्टोन ने 3-3 विकेट लिए। रबाडा को भी एक विकेट मिला।

 

पंजाब के बल्लेबाज पूरी तरह से हुए फ्लॉप

 

एक साधारण से स्कोर का पीछा करने उतरी पंजाब किंग्स की टीम के बल्लेबाज़ों ने शर्मनाक प्रदर्शन किया। टीम के तरफ से जॉनी बेयरस्टो और शिखर धवन ने पारी की शुरुआत की और दोनो ने पहले विकेट के लिए 38 रन जोड़े। उसके बाद बेयरस्टो आउट हो गए,टीम को एक अच्छी शुरुआत देने के बाद एक गलत शॉट पे बेयरस्टो चलते बने उन्होंने जाने से पहले तेज पारी खेली जिसमे उन्होंने 15 गेंदों पर 28 रन बनाय। उन्होंने अपनी पारी में 4 चौके और एक छक्के लगाए। इनके जाने के बाद भानुका आय और जल्दी ही वापस भी लौट गए। अब पंजाब की टीम कही न कही बैकफुट पर आ चुकी थी और समय था उसे संभल कर खेलने का लेकिन ओपनिंग में उतरे शिखर धवन भी आउट हो गए। धवन ने जाने से पहले 16 गेंदों में 19 रन बनाय जो टीम के जीत के लिए काफी नही था। उन्होंने अपनी पारी में 3 चौके जड़े। टीम के कप्तान मयंक अग्रवाल भी इस मैच में कुछ ज्यादा नही कर पाय और टीम को संकट में छोड़ कर वापस लौट गए, उन्होंने मात्र 2 गेंदे ही खेली और एक रन भी नही बना उनसे। एक छोर पर जीतेश शर्मा टिके हुए थे और दिल्ली के गेंदबाजों का सामना कर रहे है थे लेकिन उनका साथ देने वाला कोई नही था। दूसरे छोर पर लगातार विकेट गिर रहे थे। लिविंगस्टोन से काफी उम्मीदें थी लेकिन उन्होंने उम्मीदों पर पानी फेर दिया, और 5 गेंदों पर मात्र 3 रन बनाकर आउट हो गए। ऐसे ही करके पूरी टीम धराशाई हो गई दिल्ली के गेंदबाजों के सामने। और दिल्ली ने 17 रन से मैदान मार लिया। उधर दिल्ली के गेंदबाजों ने रन नही दिए। दिल्ली की ओर से शार्दुल ठाकुर ने अपने 4 ओवर में 36 रन खर्च करके 4 विकेट उखाड़े,इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया। अक्षर पटेल और कुलदीप यादव को 2-2 विकेट मिले जो दिल्ली को जिताने में अहम भूमिका रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here