आईपीएल अपने पूरे रोमांच पर आ पहुंचा है। बल्लेबाज हो या गेंदबाज सभी अपनी पूरी जान लगाए हुए अपनी टीम को लेकर। किसी की फॉर्म में वापसी हुई है तो कोई लगातार रन बना रहा है। वही कई गेंदबाजों ने अपनी गेंदों से सभी को चौकाया है। ये आईपीएल ने भारतीय टीम को कई सितारे दिये है और इस आईपीएल में भी कई सितारे मिले है लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है जो अपने फॉर्म से लेकर जूझ रहा है। विराट कोहली ही वो खिलाड़ी है जो अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे है,आईपीएल से पहले भी वो अच्छे फॉर्म में नही थे उनके फैंस को उम्मीद थी की विराट कोहली के बल्ले से रन देखने को मिलेंगे लेकिन विराट कोहली ने निराश ही किया है। विराट कोहली कब शतक बनाएंगे ये उम्मीद नही बल्कि एक पुराने सवाल जैसा हो गया है। विराट कोहली के जितने भी फैंस है उनकी आंखे तरस सी गई है एक अच्छी पारी के लिए। विराट कोहली ने टीम इंडिया और आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी भी छोड़ दी है लेकिन उसके बाद भी वो बतौर बल्लेबाज अब तक अपने कद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ पिछले मैच में कोहली शून्य पर आउट हो गए,और मुश्कुराते हुए वापस लौट गए। उनकी वो फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई। इस मैच में कोहली पहली ही गेंद पर बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए थे। कोहली को लेकर रवि शास्त्री समर्थन में आए है। जो की टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच भी रह चुके है। रवि शास्त्री ने कोहली के फॉर्म को लेकर चिंता जताया है। उन्होंने विराट कोहली को क्रिकेट से फिलहाल ब्रेक लेने को कहा है ताकि वो पहले से ठीक हो जाए। रवि शास्त्री का कहना है कि बायो-बबल से जुड़ी पाबंदियों के बीच हमें खिलाड़ियों की परवाह करने के साथ उनका ख्याल भी रखना चाहिए ताकि उनपे किसी तरह का प्रेशर न लगे। आप को बता दे की बायो बबल कोरोना के वजह से जरूरी कर दिया गया है इसमें खिलाड़ियों को बिलकुल दूर रखा जाता है बाहर की चीजों से,किसी भी खिलाड़ी का कोई संपर्क नहीं।

 

6-7 साल और विराट का क्रिकेट बचा

 

रवि शास्त्री विराट कोहली को लेकर काफी चिंतित है क्योंकि जब विराट कप्तान थे टीम इंडिया के तब रवि शास्त्री हेड कोच हुआ करते थे टीम के। लेकिन फिलहाल कोच राहुल द्रविड़ है और टीम के कप्तान रोहित शर्मा है। अब कोहली को लेकर शास्त्री कहते है कि पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली में अब भी 6-7 साल का क्रिकेट बचा है और शास्त्री टीम इंडिया मैनेजमेंट को कहते है की उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वो कोहली पर क्रिकेट खेलने के लिए अधिक जोर ना दें। खासतौर पर ऐसे समय में जब बायो-बबल से जुड़ी थकान चिंता की वजह बनी हुई है। अब सवाल ये है कि उसी बायो-बबल में रहकर बाकी खिलाड़ी तो अच्छा प्रदर्शन कर रहे है लेकिन कोहली क्यों नही। पहले कोहली से ये उम्मीद लगाया जाता था की कोहली सचिन तेंदुलकर यानी क्रिकेट के भगवान का 100 शतको का रिकॉर्ड तोड़ने लेकिन फिलहाल कोहली कुछ सालो से एक भी शतक नही लगा पाए है जो उनके फॉर्म को दर्शाता है की वो कितने खराब फॉर्म से जूझ रहे है।

 

अब टीम इंडिया के पूर्व कोच कोहली को लेकर आगे बताते है की, “वो सीधे मुख्य खिलाड़ी की बात करता हूं। विराट कोहली बुरी तरह पक चुके हैं। इस वक्त अगर किसी को ब्रेक की जरूरत है तो वो कोहली ही हैं। फिर चाहें 2 महीने या डेढ़ महीने का हो, चाहें इंग्लैंड दौरे से पहले या बाद में, लेकिन उन्हें आराम दिया जाना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि कोहली में अभी भी 6-7 साल का क्रिकेट बचा है और कोई भी यह नहीं चाहेगा कि आप मौजूदा स्थिति में हम उन्हें खो दें क्योंकि आगे उनकी बहुत जरूरत है टीम इंडिया को। शास्त्री बताते है की कोहली अकेले ऐसे नहीं हैं, जो इस दौर से गुजर रहे हैं। इस वक्त वर्ल्ड क्रिकेट में एक-दो और खिलाड़ी ऐसे होंगे जो इससे गुजर रहे हैं। आपको समस्या का सामना करना पड़ेगा। इस कोरोना ने जिस तरह से दुनिया के बाकी चीजों को प्रभावित किया है ठीक उसी प्रकार क्रिकेट और उनके खिलाड़ियों को प्रभावित किया है।

 

इस आईपीएल में भी कोहली का बल्ला खामोश

 

जैसे कोहली का बल्ला आईपीएल के पहले खामोश था ठीक वैसे ही इस आईपीएल में भी उनका बल्ला खामोश है। आईपीएल 2022 से पहले कोहली ने न सिर्फ भारतीय टीम की कप्तानी छोड़ी बल्कि आरसीबी की कप्तानी भी छोड़ दी थी तब ऐसा उम्मीद लगाया जाने लगा था कि वो बतौर बल्लेबाज शानदार प्रदर्शन करेंगे,लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही हुआ और वो पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुए है अभी तक। विराट कोहली ने इस सीजन में अभी तक 7 मैच खेल चुके है और उन्होंने 19.83 की औसत से मात्र 119 रन ही बनाए है जो कोहली के कद से काफी छोटा है,विराट कोहली इसके लिए जाने ही नही जाते। अब देखना है की क्या कोहली बाकी के बचे आईपीएल के मैचों में अच्छा प्रदर्शन करके अपने बल्ले से सबको जवाब देंगे या फिर उनका फ्लॉप शो जारी रहेगा। रवि शास्त्री ने जो बात कोहली को लेकर कही है उसके समर्थन में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन भी आ गए है और उन्होंने शास्त्री के बात को लेकर सहमति जताई है। उन्होंने कोहली को सुझाव भी दिया और बोला की कोहली को सोशल मीडिया से पूरी तरह दूरी बना के रखना चाहिए और सिर्फ क्रिकेट पर ही फोकस करना चाहिए,ताकि उनके बल्लेबाजी में सुधार हो सके। उन्होंने भारतीय टीम के लिए अपनी राय रखी की कोहली एक बड़े खिलाड़ी है और वो वापस जब ब्रेक से लौटे तो उनकी जगह टीम में होनी चाहिए। उन्होंने रवि शास्त्री की बातो से सहमति जताते हुए कहा की सभी का परिवार होता है और सभी खिलाड़ी कुछ समय अपने परिवार के साथ रहना पसंद करते है उनकी अपनी निजी जिंदगी होती है। अब देखना होगा की क्या आईपीएल के खत्म होने के बाद विराट कोहली को आराम दिया जाता है या फिर लगातार वो खेलते रहेंगे क्योंकि आगे इसी साल एशिया कप और टी 20 वर्ल्ड कप जैसे बड़े टूर्नामेंट होने है जिसके लिए कोहली का टीम में रहना बहुत जरूरी है भारतीय टीम के लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here