आईपीएल 2022 का छठवा मुकाबला मुंबई के डॉ. डीवाई पाटिल स्पोर्ट्स एकेडमी में कोलकाता और आरसीबी के बीच खेला गया जिसमें आरसीबी ने एक कड़े मुकाबले में कोलकाता को 3 विकेट से हरा दिया। इस सांस रोक देने वाले मैच ने दर्शकों को नींद उड़ा दी लेकिन अंत में मैच आरसीबी ने जीत लिया। कोलकाता की बैटिंग एकदम अच्छी नहीं रही और लगातार अंतराल पे विकेट गिरता रहा जिसके वजह से टीम के बड़ा स्कोर खड़ा करने में असफल रही। आप को बता दे की आरसीबी के कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला लिया जो सफल भी रहा। डुप्लेसिस का यह फैसला तब सही साबित हुआ, जब श्रेयस अय्यर की कप्तानी वाली केकेआर पूरे 20 ओवर तक भी नही टिक पाई। केकेआर की पूरी टीम 18.5 ओवर में 128 रन ही बना पाई। जो अभी तक का सबसे कम स्कोर रहा। अच्छे प्लेयर होने के बाद भी केकेआर एकदम फिसड्डी साबित हुई। तो दूसरी तरफ आरसीबी के बोलिंग में वो धार नजर आई जो पिछले मैच में नजर नही आई थी। गेंदबाजी देखी जाए तो वानिंदु हसरंगा ने 4 ओवर में 20 रन देकर 4 विकेट झटके। आकाशदीप ने 3.5 ओवर में 3 विकेट चटकाए। हर्षल पटेल ने 4 ओवर में 11 रन देकर 2 विकेट लिए यही नहीं बल्कि उन्होंने 2 ओवर में मेडन भी फेंके जो इस आईपीएल में अपने आप में एक रिकॉर्ड भी है। पिछले मैच में महंगे साबित हुए मोहम्मद सिराज ने भी 25 रन देकर एक विकेट लिया। वही केकेआर की ओर से रसेल ने सबसे ज्यादा रन बनाए और थोड़ी बहुत मदद की अपने टीम को सम्मान जनक स्कोर तक पहुंचाने में। उन्होंने 25 रन बनाए। उमेश यादव और वरुण चक्रवर्ती ने आखिरी विकेट के लिए 27 रन की एक छोटी सी साझेदारी की,उमेश 18 रन बनाकर आउट हुए। वह टीम के दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी भी रहे। उन्होंने 12 गेंद की अपनी पारी के दौरान 2 चौके और एक छक्का लगाया। वरुण 10 रन बनाकर नाबाद रहे।
रोमांचक मुकाबले में आरसीबी ने केकेआर को 3 विकेट से हराया
जब आईपीएल शुरू होता है तो दर्शकों को इंतजार होता है की किसी भी दो टीमों में एक कड़ा मुकाबला हो  जिसको अच्छा खेलने वाली टीम जीत ले। कल के मैच में ठीक वैसा ही हुआ,एक छोटा स्कोर देने के बाद भी केकेआर ने आर पार की लड़ाई लड़ी और आखिर ओवर तक लड़ते रहे। एक समय तो ऐसा लग रहा था की मैच आरसीबी के हाथ से निकल गया है लेकिन दिनेश कार्तिक के छक्के ने पूरा काम कर दिया। मैच में रोमांच तब आया जब रदरफोर्ड और हसरंगा आउट होकर वापस पवेलियन लौट गए। आप को जानकारी होगी की 18वें ओवर की दूसरी गेंद पर आरसीबी को छठा झटका लगा। टिम साउदी ने शेरफेन रदरफोर्ड को विकेट के पीछे जैक्सन के हाथों कैच करा के एक बड़ा झटका दिया। रदरफोर्ड 40 गेंद में 28 रन बनाकर आउट हुए जो दिखाता है की आरसीबी कितने दबाव में आ गई थी एक छोटे से स्कोर का पीछा करने में। रदरफोर्ड ने अपनी पारी के दौरान एक चौका और एक छक्का लगाया। रदरफोर्ड की जगह वानिंदु हसरंगा क्रीज पर आए। वह तीसरी गेंद पर कोई रन नहीं बना पाए, लेकिन चौथी गेंद पर चौके से अपना खाता खोला। हालांकि, पांचवीं गेंद पर वह आंद्रे रसेल को अपना कैच थमा बैठे और अपनी टीम को फसा कर चले गए। आरसीबी को जीत के लिए तब भी 13 गेंद में 18 रन चाहिए था। मुकाबला एकदम कड़ा था,दर्शकों को जिस मैच का इंतजार था वो उनके टीवी स्क्रीन पर चल रहा था। जो दिनेश कार्तिक कभी केकेआर की कप्तानी कर रहे थे वही कार्तिक अपने पुरानी टीम के खिलाफ आग उगल रहे थे और जीत का अहम भूमिका भी उन्होंने ही निभाया। दिनेश कार्तिक एक बार फिर आरसीबी के लिए फिनिशर साबित हुए। कार्तिक ने सिर्फ सात बॉल खेलीं और 14 रन बनाए और अपना फिनिशिंग टच सबके सामने रखा।  इस छोटी सी पारी में उन्होंने 1 छक्का और एक चौका लगाया, जो मैच विनिंग शॉट थे। कार्तिक के ये 14 रन ही अंत में टीम के काम आए और जीत अपने नाम की। इस तरह से वो अपने टीम के लिए फिनिशर भी साबित हुए।
केकेआर की बैटिंग रही खराब 
टॉस हारने के बाद बैटिंग करने उतरी केकेआर की टीम की शुरुआत ही अच्छी नहीं रही बल्लेबाजों ने तो गैर जरूरी शॉट्स खेल कर अपने विकेट दान में देकर चले गए। दो बार की पूर्व चैम्पियन टीम ने अपने आखिरी छह विकेट 57 रन पर गंवा दिए। एक समय उसका स्कोर तीन विकेट पर 44 रन था जो 14.3 ओवर में नौ विकेट पर 101 रन हो गया। केकेआर के लिये आंद्रे रसेल ने 18 गेंद में 25 रन बनाए जबकि उमेश यादव ने 18 और वरुण चक्रवर्ती ने 10 रन का योगदान दिया। केकेआर के लिये सर्वोच्च साझेदारी 27 रन ही उमेश और वरुपण के बीच रही। आकाश दीप ने अपनी पहली ही गेंद पर वेंकटेश अय्यर का विकेट लिया। मोहम्मद सिराज ने पांचवें ओवर में अजिंक्य रहाणे को पवेलियन भेजकर केकेआर को दूसरा सबसे बड़ा झटका दिया। नीतिश राणा ने आकाश दीप को पहली ही गेंद पर छक्का जड़ दिया लेकिन उन्हीं की गेंद पर डेविड विली को एक आसान सा कैच दे बैठे। केकेआर के पहले तीन विकेट छह ओवर में 44 रन के भीतर ही गिर गए थे और तभी टीम प्रेशर में आ चुकी थी। कप्तान श्रेयस अय्यर भी हसारंगा की गेंद पर फाफ डु प्लेसी को एक आसान सा कैच दे कर कैच प्रैक्टिस करा गए। खराब स्थिति में टिककर खेलने की बजाय सुनील नरेन भी शॉट खेलने के चक्कर में हसारंगा को अपना विकेट देकर चले गए। हसारंगा ने अगली ही गेंद पर शेल्डन जैक्सन को आउट किया। केकेआर ने नौ ओवर में छह विकेट 67 रन पर गंवा दिए। इतनी खराब स्थिति के बाद उठना मुश्किल होता है और वही हुआ। पिछले सीजन में अपने टीम के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे हर्षल पटेल ने लगातार दो विकेट मेडन डालकर रिकॉर्ड बनाया। टिम साउदी को हसारंगा ने लॉन्ग ऑन पर डु प्लेसी के हाथों कैच कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here