कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह ने कांग्रेस का दामन छोड़ कर भारतीय जनता पार्टी का सदस्यता ग्रहण कर लिया। उन्होंने आज दिल्ली बीजेपी पार्टी मुख्यालय में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के प्रभारी केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, सह प्रभारी केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, उत्तर प्रदेश के स्वतंत्र देव सिंह, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, और दिनेश शर्मा के मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। और आरपीएन सिंह के साथ ही कांग्रेस के प्रवक्ता और सहारनपुर जिले के 30 वर्ष से अधिक कांग्रेस जिला अध्यक्ष शशि मदान, और कांग्रेस के प्रदेश सचिव राजेंद्र अवाना भी भारतीय जनता पार्टी की कल्याणकारी नीतियों से प्रभावित होकर भाजपा में शामिल हुए।

 

सोचा बहुत पहले था लेकिन, देर आया दुरुस्त आया।

 

पार्टी की सदस्यता के बाद उन्होंने कहा की मैंने काफी पहले से सोच रखा था की भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन करना है लेकिन मैं कर नही पा रहा था लेकिन आज ये संभव हो पाया है। खैर देर जरूर आया लेकिन दुरुस्त आया। आगे कहा की मैं हृदय से देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी, अमित शाह जी और जेपी नड्डा जी का आभार व्यक्त करना हूं जिन्होंने मुझे भारतीय जनता पार्टी में जगह दी। आगे प्रधानमंत्री जी की बखान करते हुए कहा की प्राचीन संस्कृति को 21वी सदी से जोड़ कर राष्ट्र के निर्माण के लिए जो कार्य किया है जिसको पूरा देश सराह रहा है। बत्तीस सालो से मैं एक पार्टी में रहा लगन, मेहनत, और ईमानदारी से लेकिन जिस पार्टी में मैं इतने साल रहा वो पार्टी अब पार्टी न रही। ना तो वो सोच रह गई। पिछले सात सालो में प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में जेपी बड़ी योजनाएं उत्तर प्रदेश में हुई है वो पूरे देश में देखा है और पिछले पांच सालों में जो डबल इंजन की सरकार योगी जी उत्तर प्रदेश में और देश में प्रधानमंत्री जी और पूरे संगठन ने जिस तरह की बड़ी योजनाएं को किया गया है या यूं कहे की जो सपनो में देखा जाता था उसे हकीकत में बदलने का कार्य डबल इंजन की सरकार ने किया है।

 

हाल में ही कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों के लिस्ट में नाम जोड़ा था।

 

आपको बता देकि आरपीएन सिंह को सोमवार को ही कांग्रेस ने 30 सदस्यीय स्टार प्रचारकों की सूची मे आरपीएन सिंह का भी नाम शामिल किया था। लेकिन ऐसा क्या हुआ की उन्होंने एक दिन मे ही कांग्रेस को छोड़ कर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया। उन्होंने अपना इस्तीफा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौप दिया। और मंगलवार को बीजेपी मुख्यालय दिल्ली में भाजपा में शालिम हो गए।

 

कौन है आरपीएन सिंह?

 

कुंवर रतनजीत प्रताप नारायण सिंह (आरपीएन सिंह) को पडरौना का राजा साहेब कहा जाता है। वह इसी नाम से प्रसिद्ध हैं। पडरौना बहुत प्रसिद्ध जगह है, यहां भगवान बुद्ध ने आखिरी बार भोजन किया था। यह क्षेत्र कुशीनगर जिले के अंदर आता है। आरपीएन सिंह का जन्म 25 अप्रैल 1964 को दिल्ली में हुआ था। वह कुशीनगर के क्षत्रिय परिवार से हैं। 2002 में उन्होंने पत्रकार सोनिया सिंह से शादी की। पूर्व केन्द्रीय मंत्री आरपीएन और सोनिया के तीन बेटियां हैं। आरपीएन के पिता कुंवर सीपीएन सिंह कुशीनगर से सांसद थे। वह 1980 में इंदिरा गांधी कैबिनेट में रक्षा राज्यमंत्री भी रहे।

 

कांग्रेस ने कहा आरपीएन सिंह भाजपा में कालाधन लाने गए है।

 

भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने अपने ऑफिशियल ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया जिसमे आरपीएन सिंह कहते नजर आ रहे है कि, संकट में कौन है पूरा देश जानता है, प्रधानमंत्री के 4 साल बीत चुके है और वो अपने भाईयो और बहनों से इतने वादे किए है काला धन वापस आएगा, और भाईयो और बहनों के खाते में 15 लाख आएगा लेकिन आया नही और किसानों को 50 फीसदी से ज्यादा एमएसपी दूगा लेकिन आज किसानों की हालत क्या है आप देख रहे है। और नौजवानों के लिए कहा था हर साल 2 करोड़ रोजगार देगे वो भी नही दिया। इकोनॉमी का क्या हाल है, पाकिस्तान और चीन का कुछ नही कर पा रहे है। वीडियो पुराना है जिसमे वो भारतीय जनता पार्टी पर वॉर करते दिख रहे। इस वीडियो को कांग्रेस शेयर करके लिखती है की आरपीएन सिंह भारतीय जनता पार्टी में काला धन लाने गए है।

 

कहा देश गणतंत्र दिवस का उत्सव मना रहा और मैं अपने राजनैतिक जीवन का नया सफर आरंभ कर रहा।

 

अपने ट्विटर पर आरपीएन सिंह लिखते है की जहा देश एक तरफ गणतंत्र दिवस का उत्सव मना रहा है, वही मैं अपने राजनैतिक जीवन का नया अध्याय आरंभ करने जा रहा हूं। आगे लिखते है यह मेरे लिए एक नई शुरुवात है मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी और माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी के दूरदर्शी नेतृत्व और मार्गदर्शन में राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान के लिए तत्पर हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here