जब भी क्रिकेट और क्रिकेटरों की बात होती है तो उसमे से सबसे बड़ा नाम निकल कर आता है लिटिल मास्टर और क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का। सचिन का किसी भी खिलाड़ी से कभी भी विवाद नही रहा है वो हमेसा अपने क्रिकेट पे फोकस रहते थे। तभी उन्हें देश के खिलाड़ी हो या विदेश के सभी इज्जत करते है लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है जो सचिन के ऊपर भी उम्मीद से ज्यादा ही बोल गया। पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज शोएब अख्तर को तो आप सब जानते ही होंगे की वो किस प्रकार के खिलाड़ी है। हमेसा उनका विवादों से नाता रहा है और हमेसा भारतीय खिलाड़ियों पर टिप्पणी करके खबरों में बने रहते है। किसी छोटे से यूट्यूब चैनल से इंटरव्यू के दौरान शोएब अख्तर ने 2006 की बात उठाई, जिसमे भारत और पाकिस्तान के बीच तीसरा टेस्ट खेला जा रहा था। अख्तर उस मैच को लेकर बताते है की वो ये बात पहली बार किसी से सामने कर रहे है इसके पहले उन्होंने ये बात कभी किसी से नहीं की। अख्तर बताते है की उस तीसरे टेस्ट में सचिन को मारना चाहता थे, उन्होंने मन बना लिया था की उस टेस्ट मैच में सचिन तेंदुलकर को किसी भी तरह से जख्मी करना ही है। शोएब आगे बताते है की इजमाम ने आकर उन्हें समझाया की वो गेंद को विकेट के नजदीक डाले या फिर विकेट पर डाले लेकिन उन्हें तो सचिन को जख्मी करना था इस लिए वो बाउंसर डाल रहे थे ताकि सचिन के सर पर गेंद लगे और वो जख्मी हो जाए। एक गेंद लगी भी हेलमेट पे, तब अख्तर कहते है की ऐसा लगा की वो (सचिन) मर गया लेकिन बाद में पता चला की उसने आप को बहुत ही चालाकी से बचा लिया है। इतने होने के बाद भी वो सचिन को नही छोड़ रहे थे, उन्होंने फिर से प्रयास किया की सचिन तेंदुलकर को चोटिल किया जाए। लेकिन सचिन ने अपने आप को बार बार बचाया। अब शोएब अख्तर के इस सच्चाई से काफी क्रिकेट फैंस नाराज है क्योंकि क्रिकेट एक खेल है आपको इसे एक खेल की तरह खेलना चहिए नाही किसी को चोटिल करने के लिए।

 

शोएब अख्तर का ये बयान ही बताता है की सचिन क्यों क्रिकेट के सबसे महान बल्लेबाज है

 

जब एक खिलाड़ी रन बना रहा हो और उसे गेंदबाज आउट न कर पाय और वो गेंदबाज दुनिया का सबसे तेज गेंदबाज हो तो उस गेंदबाज को गुस्सा तो आएगा ही वही शोएब अख्तर के साथ भी हुआ। उस समय में वो कितने भी अच्छे गेंदबाज क्यों न रहे हो लेकिन सचिन तेंदुलकर के सामने वो आम गेंदबाज ही थे। वो गेंदबाज ही क्या जो विकेट न ले पाय तो बल्लेबाज को चोटिल करने की सोचने लगे। एक बार वीरेंद्र सहवाग ने भी बताया था की एक मैच के दौरान शोएब अख्तर उनको बाउंसर मार कर बोल रहे थे की छक्का मार कर दिखा, तब सहवाग ने अख्तर से बोला था की नॉन स्ट्राइक पे सचिन खड़ा है उसको यही बाल डाल कर दिखा। और जब सचिन बैटिंग करने आय तब शोएब अख्तर ने वही गेंद डाली और सचिन ने उसे अपर कट मार कर छक्का लगा दिया। तब सहवाग अख्तर के पास गए और बोले की बाप बाप होता है और बेटा बेटा। आपको बता दे की सचिन को लेकर जो खुलासा शोएब अख्तर ने किया है इसकी आलोचना हर क्रिकेट फैंस कर रहा है क्योंकि सचिन वो खिलाड़ी थे जो अंपायर के फैसले का भी इंतजार नही करते थे अगर वो आउट है तो ईमानदारी से वापस लौट जाते थे।

 

भारतीयों से इतनी नफरत की उबरते सितारे पर भी कर चुके है टिप्पणी

 

जैसा की आप सब जानते ही है कि भारतीय तेज गेंदबाज उमरान मलिक की रफ्तार का हर कोई कायल होता जा रहा है, पूरे विश्व में चर्चा है भारत के इस तेज गेंदबाज की। दुनियाभर के बड़े बड़े दिग्गज उमरान मलिक की चर्चा कर रहे हैं। कइ तो ये बोल रहे है कि अगर वह इसी तरह अपनी रफ्तार को उमरान मलिक बढ़ाते रहे तो शोएब अख्तर का वर्ल्ड रिकॉर्ड टूटने में ज्यादा दिन नहीं लगेंगे। इंडियन सनसनी के बारे में जब रावलपिंडी एक्सप्रेस शोएब अख्तर से पूछा गया तो उन्होंने पहले तो यह कहा कि उन्हें खुशी होगी कि उमरान यह रिकॉर्ड तोड़ दें, लेकिन उन्होंने ताना मारने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी। जाहिर सी बात है की शोएब एक पाकिस्तानी खिलाड़ी है कैसे वो एक भारतीय खिलाड़ी को आगे बढ़ते देख सकते हैं। शोएब अख्तर ने स्पोर्ट्सकीड़ा को अपना एक इंटरव्यू दिया जिसमे उन्होंने कहा कि, ‘मेरे वर्ल्ड रिकॉर्ड को 20 वर्ष से अधिक हो चुके हैं। लोग इस बारे में मुझसे पूछते हैं तो मैं भी सोचता हूं कि कोई तो होगा जो यह रिकॉर्ड तोड़ेगा। मुझे खुशी होगी कि उमरान मेरा रिकॉर्ड तोड़ें। हां, लेकिन मेरा रिकॉर्ड तोड़ते-तोड़ते वह अपनी हड्डियां न तुड़वा बैठें (ये बोलते हुए शोएब बहुत तेज हस रहे थे) बस मेरी यही दुआ होगी। फिर उन्होंने सफाई में ये कहा कि कहने का मतलब है कि उमरान पूरी तरह से फिट रहें।’

 

आपको बता दे कि शोएब अख्तर के नाम 161.3 kph की रफ्तार से गेंद फेंकने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। जो आज तक कोई तोड़ नही पाया है लेकिन अब उमरान मलिक से उम्मीदें जगी है की वो फेंक सकते है। उमरान मलिक इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के इतिहास के दूसरे सबसे तेज गेंदबाज हैं। उन्होंने हाल ही में एक मुकाबले में 157 kph की रफ्तार से बॉल की थी, जो IPL की दूसरी सबसे तेज थी। पहले पर अभी भी शान टेट की फेकी हुई गेंद है। आपको जानकर ताज्जुब होगा की उमरान मलिक लगातार 155+ के स्पीड से गेंदबाजी करते है और यही वजह है की भारत के पूर्व खिलाड़ी हरभजन से लेकर रवि शास्त्री तक मलिक को टीम इंडिया में लाने की वकालत कर रहे है लेकिन कुछ का कहना है की स्पीड ही सब कुछ नही होता इस लिए अभी उमरान मलिक को अपने लाइन और लेंथ पर ध्यान देने की आवश्यकता है। हालाकि अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में उमरान का चयन हो चुका है टीम इंडिया में और इस बात से भी हो सकता है शोएब मलिक को मिर्ची लगी हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here