अपने शुरुआती मुकाबले हारने के बाद सनराइजर्स हैदराबाद ने क्या गजब की वापसी की है। हैदराबाद अपने शुरुआत के 2 मुकाबले हार गए थे फिर उसके बाद हैदराबाद ने लगातार तीन शानदार जीत दर्ज किए और बाकी टीमों को बता दिया की उनमें भी दम है। हैदराबाद के कप्तान खुद केन विलियमसन है जो बड़े ही कुल माने जाते है और उनकी तुलना कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी से भी होती आई है। शुरुआती हार के बाद लोगो ने सनराइजर्स हैदराबाद को ट्रोल भी किया था और वजह रहे थे डेविड वार्नर। मामला ये था की पिछले साल डेविड वार्नर को टीम में जगह नहीं मिली थी और उन्हें दर्शक दीर्घा में बैठ कर मैच देखते देखा गया था। हालाकि वार्नर ने कभी अपने टीम के खिलाफ बयान नहीं दिया है लेकिन टीम मैनेजमेंट के रुख से सब पता चल जाता है। मेगा ऑक्शन में हैदराबाद की टीम ने वार्नर पर दाव भी नही लगाया था। वार्नर की इतनी बाते इस लिए हो रही है क्योंकि वार्नर सबसे बेहतरीन खिलाड़ी थे सनराइजर्स हैदराबाद के। लेकिन हैदराबाद ने ये दिखाया है की वो बिना वार्नर के भी कमजोर नही है। शुक्रवार यानी 15 अप्रैल को खेले गए मैच में केन विलियमसन के लड़ाकों ने कोलकाता नाइट राइडर्स को सात विकेट से पटखनी दे दी। सनराइजर्स हैदराबाद टीम की जीत के हीरो बने युवा बल्लेबाज राहुल त्रिपाठी जिन्होंने शानदार छक्के चौकों से दर्शकों का मनोरंजन कराया। राहुल त्रिपाठी का हर आईपीएल में प्रदर्शन अच्छा होता है। और इस मैच में सबसे बड़ी बात ये रही की जिसके विरोध में वो आज खेल रहे थे वो उनकी पुरानी टीम थी। यानी राहुल त्रिपाठी पिछले साल कोलकाता के टीम के सदस्य थे लेकिन इस साल हुए मेगा ऑक्शन में उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद ने अपने टीम में शामिल कर लिया।

 

कोलकाता की धीमी शुरूआत के बाद रफ्तार तेज

 

कोलकाता नाइट राइडर्स शुरू में पहले टॉस हारा और फिर मैच खत्म होते होते मैच भी हार गए। कोलकाता की टीम टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए आठ विकेट पर 175 का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया जिसमे नीतीश राणा ने सबसे ज्यादा 54 रनों का योगदान दिया। राणा की पारी में 6 शानदार चौके और दो गगनचुंबी छक्के शामिल रहे। नीतीश राणा की ये पारी तब आई जब सबसे ज्यादा जरूरत उनकी टीम को और उन्हे खुद भी चाहिए थी। दूसरी ओर आंद्रे रसेल ने भी 25 गेंदों पर चार तेजतर्रार छक्कों एवं इतने ही चौके की मदद से नाबाद 49 रनों की तूफानी पारी खेली। सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से टी. नटराजन ने सबसे ज्यादा तीन और उमरान मलिक ने दो खिलाड़ियों को आउट किया। जो भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छे संकेत है। हो सकता है की इन खिलाड़ियों को टी 20 वर्ल्ड कप में मौका भी मिल जाए क्योंकि दीपक चाहर हाल में ही आईपीएल से बाहर हुए है तो उनकी जगह के तलाश में किसी खिलाड़ी को देखा जा सकता है। लेकिन इसी मैच में एक ओवर ऐसा भी आया था जब टी नटराजन का एक ओवर बहुत महंगा साबित हुआ था। पहले ओवर में सिर्फ छह रन देने वाले नटराजन दूसरे ओवर में थोड़े महंगे साबित हुए। नीतिश राणा ने उनके ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाया और फिर बाद में एक चौका भी जड़ा। उस ओवर में कुल 13 रन आए। ये तो अभी उतना बड़ा ओवर नही था लेकिन भुवनेश्वर कुमार की भी आज अच्छे से पिटाई हुई। आंद्रे रसेल ने भुवनेश्वर कुमार के तीसरे ओवर में 16 रन जड़ दिए,जो हैदराबाद के मुख्य बॉलर माने जाते है। रसेल ने इस ओवर में एक छक्का और दो शानदार चौके लगाए।

 

सनराइजर्स हैदराबाद की पारी

 

175 रन का पीछा करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का शुरूआत कुछ खास नहीं रहा और उसने 39 रनों के स्कोर पर दो विकेट खो दिए थे। इस तरह से हैदराबाद की टीम मुश्किलों में दिखने लगी थी। लेकिन इसके बाद जो तूफान आया वो कोलकाता को समेट ले गया। 2 विकेट गिरने के बाद क्रीज पर युवा राहुल त्रिपाठी और एडेन मार्करम ने तीसरे विकेट के लिए 94 रन जोड़कर मैच को सनराइजर्स की तरफ मोड़ दिया। राहुल त्रिपाठी ने मात्र 37 गेंद पर 71 रनों की शानदार पारी खेली, जिसमें 6 गगनचुंबी छक्के और चार तेजतर्रार चौके शामिल थे, वहीं दूसरी तरफ राहुल का साथ दे रहे एडेन मार्करम ने नाबाद 68 रन की बेहतरीन पारी खेली। जिसमें 6 चौके और चार शानदार छक्के शामिल थे। एक ओवर ऐसा भी आया कोलकाता की तरफ से जिसमे राहुल त्रिपाठी ने जम कर रन बनाए। मिस्ट्री बॉलर कहे जाने वाले वरुण चक्रवर्ती के पहले ओवर में राहुल त्रिपाठी ने जम कर रन बनाए और उनके पहले ही ओवर में प्रेशर में ला दिया। राहुल त्रिपाठी ने वरुण चक्रवर्ती के इस ओवर में दो शानदार छक्के और एक चौका समेत कुल 18 रन बटोरे,जिसके बाद से ही मैच कोलकाता के हाथ से निकलता नजर आने लगा था। मार्करम ने मुकाबले को खत्म अपने ही अंदाज में छक्के के साथ किया। कोलकाता की ओर से अगर गेंदबाजी की बात की जाए तो आंद्रे रसेल ने दो विकेट निकाले और पैट कमिंस ने एक विकेट अपने खाते में डाले। आपको बताते चले की इस मैच के पहले कोलकाता का पलड़ा बहुत भारी था क्योंकि दोनो टीमों के बीच कुल 21 मुकाबले खेले गए है जिसमे सनराइजर्स हैदराबाद को 7 मुकाबले में जीत मिली है और कोलकाता नाइट राइडर्स को 14 मैचों में,इस तरह से कोलकाता बहुत आगे थी हैदराबाद से लेकिन वो इस मैच को जीत नही पाई। इस पूरे आईपीएल में कोलकाता अच्छा तो कर रही है लेकिन कभी कभी वो ऐसा खेल जाते है जब वो काफी कमजोर दिखने लगते है जैसा की आज के मैच में हुआ।

 

दोनो टीम इस प्रकार से थी

 

कोलकाता नाइट राइडर्स : वेंकटेश अय्यर, एरॉन फिंच, श्रेयस अय्यर (कप्तान), नीतीश राणा, आंद्रे रसेल, शेल्डन जैक्सन (विकेटकीपर), अमन खान, पैट कमिंस, सुनील नरेन, उमेश यादव, वरुण चक्रवर्ती।

सनराइजर्स हैदराबाद : अभिषेक शर्मा, केन विलियमसन (कप्तान), राहुल त्रिपाठी, एडेन मार्करम, निकोलस पूरन (विकेटकीपर), शशांक सिंह, भुवनेश्वर कुमार, मार्को जानसेन, जगदीश सुचिथ, उमरान मलिक, टी नटराजन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here