सूर्यकुमार यादव और रवींद्र जडेजा दोनो ही इस सीजन आईपीएल के बचे मुकाबलों से बाहर हो गए हैं। सूर्यकुमार यादव जहा मुंबई के तरफ से खेल रहे थे वही रविन्द्र जडेजा चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान भी बनाए गए थे इस साल,लेकिन उन्होंने कप्तानी छोड़ दी और फिर से धोनी को कप्तान बना दिया गया। पहले ही प्लेऑफ की रेस से बाहर हो चुकी मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स से ज्यादा यह टीम इंडिया के लिए बुरी खबर बताया जा रहा है क्योंकि दोनो ही स्टार खिलाड़ी है। सूर्यकुमार यादव के बाएं हाथ की मांसपेशियों को चोटिल करवा चुके दाएं हाथ के बल्लेबाज की इंजरी कितनी गहरी है, अभी इस बात का पता नहीं लग पाया है। बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनके हालात पर नजर बनाई हुई है। मिडिल ऑर्डर का यह बेहतरीन बल्लेबाज (सूर्यकुमार यादव) ऑस्ट्रेलिया में होने वाले वर्ल्ड टी-20 के लिए वह टीम इंडिया का हिस्सा भी हो सकते है क्योंकि वो अच्छे फॉर्म में है।

 

आईपीएल में अच्छे टच में थे सूर्यकुमार यादव

 

मुंबई इंडियंस के मिडिल ऑर्डर के सबसे भरोसमंद बल्लेबाज और टीम इंडिया के खिलाड़ी सूर्यकुमार यादव ने आईपीएल के इस सीजन में पांच बार की चैंपियन टीम के लिए आठ मैच खेले और तीन शानदार अर्धशतकों के साथ 43.29 की औसत से 303 रन बनाए। इस सीजन में वो मुंबई इंडियंस के लिए एक मात्र बल्लेबाज थे जो अपनी टीम के लिए रन बना रहे थे जब पूरी टीम रन नही बना पा रही थी। खबरों की माने तो ‘सूर्यकुमार यादव को छह मई को गुजरात टाइटंस के खिलाफ मैच के दौरान चोट लगी थी। वही उनकी टीम मुंबई इंडियंस ने एक बयान में कहा है कि, ,’सूर्यकुमार यादव के बाएं हाथ की मांसपेशियों में खिंचाव है। वह मौजूदा सत्र से अपने चोट के कारण बाहर हो गए है। बीसीसीआई की चिकित्सा टीम से संपर्क करने के बाद उन्हें आराम करने की सलाह दी गई है।’ मतलब वो बीसीसीआई की देख रेख में रखे गए हैं। आपको बता दे कि सूर्यकुमार यादव इस सीजन में मुंबई इंडियंस के लिए पहले दो मैचों में भी नहीं खेल पाए थे,कारण चोट ही था, असल में वेस्टइंडीज के खिलाफ फरवरी में कोलकाता में खेला गया तीसरा और आखरी टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में फील्डिंग करते वक्त उन्हें हेयरलाइन फ्रैक्चर का सामना करना पड़ा था। वह इसके बाद ‘रिहैबिलिटेशन’ के लिए बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में थे। और यही कारण रहा की मुंबई के लिए वो पहला दो मैच नही खेल पाय थे। अब ये चिंता मुंबई की टीम के लिए नही है क्योंकि मुंबई तो इस टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है लेकिन भारतीय टीम के लिए जरूर चिंता का विषय है क्योंकि सूर्यकुमार यादव अच्छे फॉर्म में चल रहे थे और भारत को आगे टी 20 वर्ल्ड कप भी खेलना है।

 

भारत के स्टार ऑलराउंडर जडेजा भी आईपीएल से बाहर

 

अभी भारतीय टीम सूर्यकुमार यादव के चोटिल होने से जहा निराश होगी तब तक एक बुरी खबर और आ गई की उनके स्टार ऑलराउंडर जडेजा भी चोट के कारण आईपीएल से बाहर हो गए। जडेजा के लिए वैसे भी ये आईपीएल बहुत बुरा रहा क्योंकि पहले तो उन्होंने कप्तानी छोड़ी और फिर उन्होंने कई मैचों में आसान से कैच टपकाए,वही बॉलिंग में अच्छा नही कर पाय और बैटिंग एकदम बेकार रही। कही न कही जडेजा पर कप्तानी हाबी थी इसी लिए उन्होंने कप्तानी छोड़ दी ताकि वो अपने खेल पर ध्यान दे सके। और उन्होंने अपने स्टेटमेंट में यही बात दोहराई थी। आपको बता दे कि रवींद्र जडेजा को हाथ में यह चोट रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ मैच के दौरान फिल्डिंग करते हुए लगी थी। चोट के बाद चेन्नई ने अपना अगला मुकाबला दिल्ली से खेला था जिसमे रविन्द्र जडेजा नही दिखे थे और उनके स्थान पर शिवम दुबे को प्‍लेइंग इलेवन में मौका दिया गया था। चेन्‍नई को अपने बाकी बचे मैचों में रविवार को गुजरात टाइटंस और फिर 20 मई को राजस्‍थान रॉयल्‍स का सामना करना है। जैसा की सब जानते है कि सीएसके फ्रेंचाइजी ने जडेजा को इस सीजन कप्‍तान के तौर पर पेश किया था। हालांकि नेतृत्‍व की जिम्‍मेदारी मिलने के बाद यह भारतीय ऑलराउंडर कोई खास कमाल नहीं कर पाया और खुद का फॉर्म भी खराब कर बैठा। लगातार बिगड़ते प्रदर्शन को देखते हुए रवींद्र जडेजा ने आधे से ज्‍यादा टूर्नामेंट बीतने के बाद कप्‍तानी वापस धोनी को सौंपने का निर्णय लिया और उसके कुछ दिन बाद उनको चोट लग गई। अब उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स इस टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है इस लिए चेन्नई को ज्यादा टेंशन नहीं होगा जडेजा को लेकर बल्कि बीसीसीआई को सबसे ज्यादा टेंशन होगा क्योंकि आगे वर्ल्ड कप है और रवींद्र जडेजा टीम के स्टार ऑलराउंडर है। अब समस्या ये है की जब वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट सामने होते है तो खिलाड़ी पैसों के लिए इन सब टूर्नामेंट में क्यों भाग लेते है जिसके वजह देश के लिए खेलने का मौका गवा बैठते है। ऐसे ही कई भारतीय खिलाड़ी इस आईपीएल में चोटिल हुए है लेकिन वो खिलाड़ी मुख्य नही है इस लिए उनका नाम सामने नही आ रहा। इसपर बीसीसीआई को भी चिंतन करने की आवश्यकता है ताकि ऐसा न हो की बड़े बड़े टूर्नामेंट में हम अपने मुख्य खिलाड़ियों के बिना उतरे। इस लिए बीसीसीआई को आईपीएल ऐसे समय पर कराना चाहिए जब आगे कोई बड़ा टूर्नामेंट न हो। अगर सूर्यकुमार यादव और रवींद्र जडेजा टी 20 वर्ल्ड कप नही खेल पाते है अपने चोट के वजह से तो ये इंडियन क्रिकेट टीम के लिए बहुत बड़ा झटका होगा टी 20 वर्ल्ड कप के पहले ही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here