पिछले साल की तरह इस साल भी आईपीएल के मैचों पर खतरा मंडराने लगा है। भारत में एक तरफ कोरोना ने रफ्तार पकड़ना शुरू किया है तो वही आईपीएल पर खतरा भी शुरू हो चुका है। इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन में भी कोरोना की एंट्री हो चुकी है। हाल ही में दिल्ली कैपिटल्स के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। उसी वजह से अब पूरी दिल्ली टीम को क्वारंटीन कर दिया गया है। जो की इस आईपीएल के लिए खतरे की घंटी है। टीम का अगला मैच पुणे में होना है। इसके लिए टीम को रवाना होना था, लेकिन कोरोना का केस मिलते ही दिल्ली की टीम को होटल में ही रोक दिया गया है। अब सभी खिलाड़ियों का बारी-बारी से दो दिन तक कोरोना टेस्ट होगा। इसके बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा। अब इस फैसले पर सबकी नजर टिकी हुई है क्योंकि कोरोना ने भारत में अपनी रफ्तार तेज कर दी है और आशंका जताया जा रहा है की भारत चौथे वेव की तरह बढ़ रहा है। अभी दिल्ली की टीम को डॉक्टरों के देख रेख में रखा गया है,अगर दिल्ली की टीम के और भी खिलाड़ी पॉजिटिव पाय जाते है तो फिर ये समझ लेना होगा की फिर से आईपीएल पर ब्रेक लगना तय है। दिल्ली की टीम अपना आखरी मुकाबला आरसीबी के साथ खेली थी और अगर दिल्ली की टीम के खिलाड़ी पॉजिटिव निकलते है तो फिर आरसीबी पर भी खतरा मंडराने लगेगा मतलब साफ है की आईपीएल पे ब्रेक लगना तय है। अगर क्रिकबज की रिपोर्ट की माने तो, ऋषभ पंत की कप्तानी वाली दिल्ली कैपिटल्स टीम को अपना अगला मैच पंजाब किंग्स के खिलाफ खेलना है। यह मुकाबला 20 अप्रैल को पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मैच के लिए दिल्ली टीम को 18 अप्रैल को ही पुणे के लिए रवाना होना था, लेकिन टीम मुंबई स्थित अपनी होटल में ही क्वारंटीन कर दिया गया है। अब सबसे बड़ी समस्या ये है की अभी टीम होटल में ही रुकी हुई है और उसका अगला मैच 20 तारीख को है और टीम वहा नही पहुंच पाई है जहा उसे पहुंचना था। अब सबको इंतजार है की दिल्ली के खिलाड़ियों का रिपोर्ट क्या आती है उसपे पूरा आईपीएल डिपेंड है। अगर कुछ खिलाड़ी पॉजिटिव पाय जाते है तो फिर आईपीएल का रुकना तय है। आपको बताते चले की हाल ही में दिल्ली टीम के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। रिपोर्ट्स की माने तो, पैट्रिक के बाद रैपिड एंटिजन टेस्ट में दिल्ली टीम का एक प्लेयर भी पॉजिटिव पाया गया है जो खतरे की घंटे है और सबकी नींद उड़ा रखी है। जो प्लेयर पॉजिटिव पाय गया है उसे बताया जा रहा है की वो विदेशी है। ये कोरोना ही वजह रही है कि दिल्ली फ्रेंचाइजी ने यह बड़ा कदम उठाया है। अब सभी खिलाड़ियों का दो दिन तक RT-PCR टेस्ट कराया जाएगा। इसके बाद ही आईपीएल पर कोई फैसला संभव होगा। एक तो पहले से ही आईपीएल की टीआरपी इस सीजन में उतनी अच्छी नही रही है और ऊपर से कोरोना की मार बहुत घाटा लगा सकता है स्पॉन्सर्स को।

 

पिछले साल भी कोरोना ने बिगाड़ा था खेल

 

आप को बताते चले की पिछले साल भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला था जब कोरोना के वजह से आईपीएल पर ब्रेक लगाना पड़ा था और 6 महीने बाद फिर से पूरा हुआ था। पिछले आईपीएल भी हर बार की तरह भारत में ही शुरू हुआ था, जिसे कोरोना महामारी के चलते 4 मई 2021 को बीच में ही सस्पेंड करना पड़ गया था जो क्रिकेट प्रेमियों के लिए बहुत बुरी खबर थी,जब आईपीएल रुका था इस महामारी के वजह से तब तक लीग में सिर्फ 29 मैच ही खेले गए थे। और उस समय टॉप पे सीएसके की टीम थी। पिछले सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा और दिल्ली कैपिटल्स के स्पिनर अमित मिश्रा कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिसके वजह से दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट टूर्नामेंट रोकना पड़ गया था। बाद में बीसीसीआई ने बाकी बचे मुकाबलों को UAE में सफलतापूर्वक आयोजित कराया था। कोरोना के कारण ही आईपीएल के 2020 सीजन को भी पूरी तरह से UAE में ही कराया गया था। कोरोना के बीच यह सभी आईपीएल सीजन बायो-बबल में ही कराए गए। अब सबसे बड़ा सवाल ये रहेगा की अगर अभी कोरोना के वजह से आईपीएल को रोक दिया जाता है तो बाकी के बचे मैच कहा होंगे और कब होंगे क्योंकि पिछली बार तो सितंबर के आखरी में हुआ था लेकिन इस बार तो उस समय पर वर्ल्ड कप और एशिया कप भी रहेगा। तो सबसे बड़ी चिंता रहेगी सबके सामने की इस सीजन को खत्म कैसे कराया जाय। लेकिन फिलहाल तो अभी सारे लोग दिल्ली की टीम का रिपोर्ट का इंतजार कर रहे है और देख रहे है की क्या 20 अप्रैल को होने वाले मुकाबले में दिल्ली की टीम खेलने उतरेगी। सबकी नजरें इसी पे टिकी हुई है तो वही इस साल दिल्ली का प्रदर्शन अभी तक मिला जुला रहा है और ऋषभ पंत के कप्तानी में दिल्ली अच्छा खेल रही है। ये सीजन उस मुकाम पर आकर खड़ा है जहा एक गलती और कोई एक टीम प्लेऑफ की दौड़ से बाहर। मुंबई इंडियंस की तो स्थिति इतनी खराब है की वो अपने खेल सभी मैच हार चुके है। मुंबई की टीम ने अभी तक 6 मुकाबले खेले है और सभी हारे है तो वही दूसरी तरफ सीएसके की टीम की स्थिती भी कुछ ठीक नही और उसने भी बस एक ही मैच जीते है। इस सीजन में आरसीबी एक अलग ही अंदाज में दिख रही है और क्या गजब का प्रर्दशन रहा है इस साल। भारत के कुछ युवा बल्लेबाजों ने अपना जौहर पूरी तरह से दिखाया है और भारतीय टीम के दावा ठोक दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here