बीते दिनों पंजाब के फिरोजपुर में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली होनी थी। लेकिन वहा की सरकार के नाकामियों की वजह से प्रधानमंत्री की रैली को रद्द करना पड़ा। सुरक्षा कारणों की वजह से देश के प्रधानमंत्री रैली स्थल तक ना पहुंच सके और उन्हें वापस लौटना पड़ा। इस बीच चन्नी ने कहा, इस संबंध में मैंने प्रियंका गांधी जी से बात की है और उन्हें सारे मामले से अवगत कराया है। चन्नी के इस बयान को भाजपा ने आड़े होथों लिया है भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने चन्नी पर पलटवार करते हुए कहा है कि यह दुर्भाग्य की बात है कि चन्नी ने इस संबंध में प्रियंका गांधी जी को सारी बातें बताई है।

 

संबित पात्रा ने कहा आखिर है क्या वो जिसे अपने ब्रीफ किया|

 

संबित पात्रा ने कहा कि एक सीटिंग चीफ मिनिस्टर ने पीएम की सिक्योरिटी जैसे संवेदनशील मुद्दे को लेकर प्रियंका गांधी को ब्रीफ किया है। उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा है कि सीएम ने ऐसा क्यों किया। क्या प्रियंका गांधी किसी संवैधानिक पद पर हैं जो उन्हें ब्रीफ किया गया। प्रियंका गांधी कौन हैं जिसे एक सीटिंग चीफ मिनिस्टर ने ब्रीफ किया है। पीएम सिक्योरिटी को लेकर प्रियंका गांधी होती कौन हैं. उन्होंने चन्नी पर तंज कसते हुए कहा है कि चन्नी साहिब थोड़ा ईमानदार हो जाइए। आपने प्रियंका गांधी को अवश्य यह बात कही होगी कि “काम हो गया सी आपने जो बोला था,वो हो गया!” यानी आपने जो कहा वह काम हो गया। सीएम चरणजीत सिंह का यह रिकॉर्ड कंफर्म हो चुका है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर प्रियंका गांधी को ब्रीफ किया है। हालांकि यह अभी साफ नहीं है कि सीएम ने किस नियम के तहत पीएम की सिक्योरिटी जैसे संवेदनशील मामले में प्रियंका गांधी को ब्रीफ किया है। क्या चीफ मिनिस्टर प्रियंका गांधी को यह रिपोर्ट कराने के लिए गए थे कि वह लक्ष्य से चूक गए।

 

चन्नी ने क्या कहा?

 

इससे पहले पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा था कि यहां पीएम को कोई खतरा नहीं था। वह पूरी तरह सुरक्षित थे। कोई भी उनके पास नहीं गया। चन्‍नी ने कहा कि मैंने पीएम से बात करने का समय मांगा है. वे मेरे सम्माननीय हैं और मैं उनकी लंबी आयु की कामना करता हूं। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि ने आश्चर्य जताया कि चन्नी ने प्रियंका गांधी को क्यों जानकारी दी और उनके पास कौन सा संवैधानिक पद है? उन्होंने ट्वीट किया, “सोनिया गांधी के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी को जवाब नहीं दिया, लेकिन प्रियंका वाड्रा को जानकारी दी। बस यह जानने के लिए उत्सुक हूं कि प्रियंका वाड्रा कौन हैं।”

 

देश के राष्ट्रपति ने भी चिंता जताई।

 

बता दें कि गुरुवार को देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक पर गंभीर चिंता जताई थी। वहीं उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी इसपर अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री के सुरक्षा प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन होना चाहिए। इस पूरे घटना के बाद मोदी राष्ट्रपति से भी मिले थे जिसको लेके चर्चा भी हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here