गर्मी के मौसम में लगातार बहता पसीना और गर्म हवाएं हमें ठंडी चीज़ें खाने पर मजबूर कर देती है । गर्मी मौसम में हम सभी आइसक्रीम, ठंडे जूस जैसी चीज़ों को काफी पसंद करते है , लेकिन यह आपका वज़न बढ़ाने के साथ आपके दांतो को भी नुकसान पहुंचाने का काम करती है । यही वज़ह है कि गर्मियों में दांतों का भी खास ख्याल रखने की ज़रूरत होती है । तो आइए जानें कि गर्मी के मौसम में दांतों की सेहत के लिए किन बातों का ख्याल रखना चाहिए ? गर्मीयों के दिनों में कड़ी धूप में कोल्ड ड्रिंक या आइसक्रीम का आनंद किसे लेना पसंद नहीं होता है । लेकिन अगर हमारे दांत अत्यधिक तापमान के प्रति संवेदनशील है , तो हमें ठंडे पदार्थों का सेवन एक दर्दनाक अनुभव हो सकता है । इसलिए, जितना हो सके खाने और पीने की एसिडिक चीज़ों से बचने की सलाह दी जाती है । यह इनेमल को नरम करते है और आपके दांतों को कमज़ोर और अधिक संवेदनशील बनाते है । इसलिए एसिडिक चीज़ों को खाने के बाद पानी ज़रूर पीना चाहिए ।

 

काफी लोग ऐसे है , जिनके दांतों में कोई न कोई समस्या है ही । काफी लोग अक्सर ये शिकायत करते है कि इतने महंगे टूथपेस्ट के इस्तेमाल के बावजूद भी उनके दांत साफ नहीं होते और चमक नहीं दिखाई देती है । तो अगर आप भी इस तरह की समस्या से दो-चार हो रहे है तो आपके दांतों के लिए कुछ घरेलू उपाय काफी कारगर साबित हो सकते है । दांत साफ , सुंदर और मजबूत बने रहें तो चेहरा सुंदर दिखाई देता है और शरीर भी स्वस्थ और मजबूत बना रहता है । चूंकि हम जो कुछ भी खाते है, उसे दांतों से चबाते हैं और जितनी अच्छी तरह से चबाते है, उतना ही हाजमा दुरुस्त रहता है ।

 

ऐसे बनाएं अपने दांतों को चमकदार-

अपने दांत चमकदार बनाने के लिए एक चम्मच खाने का सोडा ले, एक चम्मच बारीक नमक और पिसा हुआ सुहागा लेकर तीनों मिला लें और पिर उसे एक शीशी में रख लें । अब इसी से अपने दांतों को रोजाना साफ करना चाहिए । थोड़े से बेकिंग सोडा में ताजा नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना ले । अब दांतों को एक बार अच्छे से टिशू पेपर से रगड़कर साफ कर लें । अब बने हुए पेस्ट को ब्रश की मदद से दांतों पर अच्छी तरह से लगाएं । आप चाहें तो सरसों के तेल में नमक मिलाकर सुबह-शाम इस्तेमाल करने से दांतों से खून आना, मसूड़ों और दांतों के दर्द में आराम पहुंचता है. इससे आपके दांत चमकदार भी होते है ।

 

एक फाइबर युक्त आहार से आप दांतों को साफ कर सकते है –

एक फाइबर युक्त आहार आपके दतों को प्राकृतिक रूप से साफ कर सकता है और लार के निर्माण में सहायता कर सकता है । आपके दांतों पर हमला करने वाले एसिड और एंज़ाइम के प्रभाव को कम करने के लिए लार बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है । पनीर, दूध और अन्य डेयरी उत्पादों का भी सेवन कर सकते है । इनमें मौजूद कैल्शियम और फॉस्फेट अन्य खाद्य पदार्थों के प्रतिकूल प्रभावों के कारण आपके दांतों में खोए हुए खनिजों को रीस्टोर करने में मदद करते है । साथ ही यह इनेमल को दोबारा बनाने में भी मददगार साबित होते है ।दांत साफ , सुंदर और मजबूत बने रहें तो चेहरा सुंदर दिखाई देता है और शरीर भी स्वस्थ और मजबूत बना रहता है । चूंकि हम जो कुछ भी खाते है, उसे दांतों से चबाते हैं और जितनी अच्छी तरह से चबाते है, उतना ही हाजमा दुरुस्त रहता है । इसके अलावा बिना शुगर वाली च्युइंग गम भी खाएं, एक लार को बनाने का काम करती है और साथ ही मुंह से खाद्य कणों को निकालती भी है ।

 

दांतों को कमज़ोर और अधिक संवेदनशील बनाते ये चीजें-

गर्मीयों के दिनों में कड़ी धूप में कोल्ड ड्रिंक या आइसक्रीम का आनंद किसे लेना पसंद नहीं होता है । लेकिन अगर हमारे दांत अत्यधिक तापमान के प्रति संवेदनशील है , तो हमें ठंडे पदार्थों का सेवन एक दर्दनाक अनुभव हो सकता है । इसलिए, जितना हो सके खाने और पीने की एसिडिक चीज़ों से बचने की सलाह दी जाती है । यह इनेमल को नरम करते है और आपके दांतों को कमज़ोर और अधिक संवेदनशील बनाते है । इसलिए एसिडिक चीज़ों को खाने के बाद पानी ज़रूर पीना चाहिए ।

 

अपने डाइट में शामिल करे फलों को-

फलों में कई तरह के एंजाइम और दूसरे जरूरी तत्व होते है , जो दांतों को नेचुरल तरीके से साफ कर देते है । खासतौर पर ऐसे फल जिनमें विटामिन सी की मात्रा हो ।

 

करे हाइड्रोजन पराक्साइड का इस्तेमाल-

बता दें कि शुगर-फ्री च्युइंगम का इस्तेमाल भी कर सकते है । इससे स्लाइवा ज्यादा मात्रा में बनता है जो प्लाक एसिड को साफ करने का काम करता है । हाइड्रोजन पराक्साइड को पानी के साथ मिलाकर मुंह साफ करने से मुंह में मौजूद सभी बैक्टीरिया नष्ट हो जाते है । आप चाहें तो हाइड्रोजन पराक्साइड को पानी के साथ मिलाकर मुंह साफ करने से मुंह में मौजूद सभी बैक्टीरिया नष्ट हो जाते है । कई बार हमारे लापरवाही के नतीजे से दांतों में छेद, मसूड़े का रोग, टूटे हुए दांत, संवेदनशील दांत और दांतों का नुकसान हो सकता है । इसलिए यह बहुत ही जरूरी है कि इसको रोकने का पहली फुर्सत में प्रयास किया जाए । हालांकि, उम्र ढलने, बैक्टीरिया से दांत की मैल का निर्माण और गैर सेहतमंद जीवनशैली के कारण लोगों को ढीले दांतों से संघर्ष करते हुए भी अक्सर देखा गया है ‌।

 

लहसुन में हमारे दांतों के लिए बेहतर स्वास्थ्य के फायदे –

लहसुन में हमारे दांतों के लिए बेहतर स्वास्थ्य के फायदे  है‌ । उसमें मजबूत एंटी माइक्रोबियन तत्व पाया जाता है । अगर आपके ढीले दांतों की वजह बैक्टीरिया का हमला है, तब लहसुन उससे लड़ेगा और नुकसानदेह माइक्रोब्स को दूर करने में मदद करता है ‌। इसके लिए जरूरी है कि लहसुन का एक दाना लेकर छीलें और दो टुकड़ों में काट लेना चाहिए । एक टुकड़े को प्रभावित जगह के नजदीक अपने मसूढ़े के बीच में रखें । रस को दांतों पर ढंकने दे‌। जहां तक संभव हो सके उसे इसी तरह छोड़े ।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here