हमारे देश में ज्यादातर लोग विटमिन-डी की कमी से जूझ रहे है । ऐसे में यह जानना जरूरी है कि कहीं आपको भी तो विटामिन डी की कमी नहीं है । विटमिन डी‌ जिसे सनशाइन विटमिन भी कहते है क्योंकि इस विटमिन का सबसे बड़ा सोर्स सनलाइट यानी सूरज की रोशनी ही है । बाकी सभी अन्य विटमिन्स और पोषक तत्वों की तरह विटमिन डी भी हमारे शरीर को फिट रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ।

हमारी हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत रखने की जिम्मदारी इस विटामिन की है । लेकिन इसके साथ ही हमारे दिमाग से लेकर बालों तक पर इस विटामिन की कमी का असर साफ नजर आता है । रिसर्च की मानें तो भारत के 70 से 90 प्रतिशत लोग विटमिन डी की कमी से जूझ रहे है । ऐसे में आपको यह जानना जरूरी है कि कहीं आप भी तो विटामिन डी की कमी का शिकार तो नहीं है ।

एक स्वस्थ शरीर के लिए अनेको विटामिन की आवश्यकता होती है, विटामिन डी भी उन्हीं में से एक है । अगर आप बीमारियों से दूर रहना चाहते है, तो आपको दूसरे पोषक तत्वों की तरह विटामिन डी से भरपूर खानपान की चीजों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए ।

विटामिन डी का सबसे बड़ा स्रोत सूरज की रौशनी है । यही कारण है कि विटामिन डी को सनशाइन विटामिन भी कहा जाता है । यह विटामिन आपके शरीर को कई प्रकार से फायदा पहुंचता है जैसे कि हड्डियों और दांतों को स्वस्थ और मजबूत बनाना आदि ।

विटामिन डी क्या है ?

विटामिन डी वसा में आसानी से घुलने वाले स्रावी स्टेरॉयड का एक समूह है जिसके अंतर्गत डी1, डी2 और डी 3 आते हैं। विटामिन डी अनेक पोषक तत्व जैसे कि कैल्शियम, मैग्नीशियम और फॉस्फेट आदि को आंतों द्वारा अवशोषित होने में मदद करता है। विटामिन डी की कमी होने पर हड्डियां कमजोर और पतली हो जाती हैं।

विटमिन डी

डिप्रेशन और मूड खराब होना

अगर बिना किसी वजह के भी आपको पूरे समय डिप्रेशन और ऐंग्जाइटी फील होती है और छोटी छोटी सी बात पर आपको गुस्सा आ जाता और मूड खराब हो जाता है तो ये भी आपके खून में विटमिन डी की कमी का संकेत हो सकता है ।

पीठ और हड्डियों में हर वक्त हो दर्द:

आपको बता दें कि विटमिन डी की कमी होने पर शरीर में कैल्शियम को सोखने की क्षमता भी कम या खत्म हो जाती है । जिसके कारण कैल्शियम की कमी होना भी तय होता है । ऐसे में कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और पीठ और हड्डियों में हर समय दर्द बना रहता है ।

थकान महसूस होना:

अगर समय पर खाना खाने और भरपूर नींद लेने के बाद भी आपको पूरे समय थकान का अनुभव होता रहता है तो आप विटामिन डी की कमी का शिकार है ।

बालों का गिरना:

बालों का रफ होना, झड़ना और डैंड्रफ होना भी विटामिन डी की कमी का आम लक्षण है । ऐसा इसलिए क्योंकि यही वो न्यूट्रिएंट है जो हेयर फॉलिकल्स को बढ़ने में मदद करता है ।

चोट का लंबे समय तक बने रहना:

अगर हमें कहीं भी नॉर्मल चोट लगती है तो आप तौर पर वह 3-4 दिन में ठीक हो जाती है । लेकिन अगर आपके शरीर में विटामिन डी की कमी है तो चोट को ठीक होने में लंबा समय लग सकता है ।

 

विटामिन डी की कमी से होते है ये नुकसान

शरीर में विटामिन डी की कमी होने पर प्रतिरक्षा प्रणाली यानी इम्युनिटी कमजोर हो जाती है जिसके कारण आप हमेशा थकान महसूस करते है । विटामिन डी की कमी होने के कारण आपको अनेको समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिसमें शामिल है ।

  • थकान ।
  • सुस्ती ।
  • उदासी ।
  • बाल झड़ना ।
  • हड्डियों में दर्द ।
  • पीठ में दर्द ।
  • मांसपेशियों में दर्द ।
  • घाव या जख्म दर्द ठीक नहीं होना ।
  • इम्युनिटी कमजोर होना ।

लंबे समय तक विटामिन डी की कमी होने के कारण कुछ गंभीर समस्याएं पैदा हो सकती हैं जिनमें निम्न शामिल है 

  • दिल से संबंधित बीमारियां  ।
  • ऑटोइम्यून संबंधित समस्याएं  ।
  • न्यूरोलॉजिकल बीमारियां ।
  • गर्भावस्था में जटिलताएं ।
  • शरीर में अन्य प्रकार के कैंसर ।
  • प्रोस्टेट कैंसर, कोलन कैंसर और स्तन कैंसर का खतरा बढ़ना ।

 

विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए आपको अपनी जीवनशैली और खानपान में कुछ खास बदलाव लाने की आवश्यकता होती है । शरीर में विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए आप निम्न खानपान की चीजों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते है ।

 

धूप में बैठना

धूप यानी सूरज की रौशनी विटामिन डी का सबसे अच्छा और प्राकृतिक स्रोत है । आप धूप से अपने शरीर में विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते है । धूप से विटामिन डी पाने के लिए आप रोजाना सुबह कुछ समय तक धूप में बैठ सकते है ।

अंडा की जर्दी

अंडा में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते है । अंडा की जर्दी में विटामिन डी मौजूद होता है । अगर आप विटामिन डी की कमी को पूरा करना चाहते है, तो अंडा का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है ।

मछली का सेवन

अगर आप नॉन-वेज खाने वालों में से है, तो कुछ ख़ास तरह की मछलियां आपके लिए फायदेमंद हो सकती है । हेरिंग, टूना, मैकेरल और सैल्मन मछलियों में विटामिन डी भरपूर मात्रा में पाया जाता है । आप इन मछलियों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते है ।

गाय का दूध

गाय के दूध विटामिन डी और कैल्शियम का बेस्ट स्रोत है । विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए आप रोजाना एक गिलास गाय का दूध पी सकते है । इससे काफी फायदा होगा ।

दही का सेवन

दही भी विटामिन डी का एक बढ़िया सा स्रोत है । यह आपको विटामिन डी प्रदान करने के साथ-साथ आपके शरीर को ठंडा भी रखता है । गर्मी के मौसम में दही पेट के लिए फायदेमंद होता है ।

 

विटामिन डी के लिए इन आहार का करें सेवन –

  • संतरा ।
  • अनाज ।
  • ओट्स ।
  • मशरूम ।

इन सबकी मदद से आप अपने शरीर में विटामिन डी की कमी को आसानी से पूरा कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here