आज पूरी दुनिया में एक ऐसा समय जब पूरी दुनिया हेल्थ और हाइजीन पर फोकस कर रही है । तब भी भारत में महिलाओं का एक बड़ा प्रतिशत मेंस्ट्रुअल हाइजीन यानी मासिक धर्म के दौरान रखी जाने वाली साफ-सफाई के बारे में ठीक से जानता तक नहीं है । यह अज्ञानता गम्भीर संक्रमणों से लेकर मृत्यु तक का कारण बन जाती है । पहले के सामय में मासिक धर्म के दौरान रखी जाने वाली साफ-सफाई से अंजान औरतें अपने उन दिनों में घरेलू कपड़े इस्तेमाल करती थी और सबको यही इस्तेमाल करने की भी सलाह देती थी । अपने उन महीने के मुश्किल समय में कपड़े के इस्तेमाल करने से आपकी निजी अंगों में तेज खुजली और जलन हो सकती है । लेकिन कपड़े का इस्तेमाल करने से महिलाओं को अज्ञान गम्भीर संक्रमणों से लेकर मृत्यु तक का कारण बनने वाली बीमारी भी हो सकती है ।

 

वही हमारे ही देश भारत में एक बड़ा वर्ग ऐसा भी है जिसके पास सामान्य सैनेटरी नैपकिन खरीदने की ताकत तक नही है, जिसके लिए बाज़ार में कॉस्मेटिक और फैशनेबल कपड़ों की बहार है लेकिन बाज़ार में जरूरत पड़े तो शौचालय या बाथरूम नही है और बहुत सारा महिलाओं का वर्ग ऐसा भी है जो आज भी अपनी शारीरिक तकलीफों के बारे में बात करने से हिचकिचाता है। अब भी करीबन 55 प्रतिशत से अधिक महिलाएं देश में ऐसी है जो हर महीने सैनेटरी पैड्स अफोर्ड नहीं कर सकती है। इतना ही नहीं कोरोना महामारी के आने के बाद कई लोगों की नौकरियां चली गई और इसका प्रभाव महिलाओं के सैनेटरी पैड्स खरीदने की क्षमता पर भी पड़ा है और उनकी हिचकिचाहट भी इसको लेकर बढ़ती जा रही है ।

 

आज के बदलते जीवनशैली में प्रदूषण और खानपान में बदलाव की वजह से अक्सर महिलाओं में पीरियड्स के दिनों में बहुत अधिक दर्द की समस्या आज बेहद आम है । भले ही इस तकलीफ से तुरंत आराम के लिए पेन किलर दवाओं के विकल्प होते है पर कई बार महिलाएं डॉक्टरी परामर्श से इन दवाओं के लेने में हिचकिचाती है । ऐसे में इस समस्या से आराम के लिए ऐसे कई घरेलू उपाय है जिन्हें मासिक धर्म के समय होने वाले तेज दर्द में आराम के लिए अपनाया जा सकता है । इनका न तो कोई साइड एफेक्ट है और न ही ये अधिक खर्चीली है ।

 

पीरियड्स के पेन से निजात दिलाएंगे ये घरेलू उपाय-

बदलते लाइफ स्टाईल और खान-पान में बदलाव की कारण से भी अक्सर महिलाओं में पीरियड्स के दिनों में बहुत अधिक दर्द की समस्या देखी जाती है । पीरियड्स के दौरान ज्यादातर महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है ‌। तो आइए जानते है उन उपायों के बारे में इससे आप पीरियड के दर्द से छुटकारा पा सकती है –

  • पीरियड्स के दौरान दूध और दूध के बने उत्पाद का सेवन महिलाओं के लिए बहुत ही आवश्यक होता है। जिन महिलाओं के शरीर में कैल्शियम की कमी होती है , उन्हें मासिक धर्म से संबंधित समस्याएं अधिक होती है । ऐसे में न सिर्फ पीरियड्स बल्कि हमेशा दूध व डेयरी उत्पाद का सेवन महलिओं के बहुत जरूरी है , क्योंकि इनमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है । इसलिए दूध और दूध के बने उत्पाद का सेवन करने से महिलाओं में पीरियड से हो रहे दर्द से छुटकारा मिलता है ।
  • अक्सर यह देखा गया है कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं में गैस्ट्रिक की समस्या बढ़ जाती है , जिसकी वजह से भी पेट में तेज दर्द होता है । अजवाइन का सेवन इससे निपटने में बेहद कारगर है । आधा चम्मच अज्वाइन और आधा चम्मच नमक को मिलाकर गुनगुने पानी के साथ पीने से दर्द से तुरंत राहत मिल सकती है । इसके अलावा, पीरियड्स के दिनों में अज्वाइन को चुकंदर, गाजर और खीरे के साथ जूस बनाकर पीने से भी दर्द नहीं होता । इसे महिलाएं पीरियड्स के दौरान करेंगे तो उन्हें जल्द ही पीरियड्स पेन से छुटकारा मिल जाएगा या फिर महिलाएं चाहे तो अजवाइन को चाय में डालकर भी इसका सेवन कर सकती है और पीरियड्स से हो रहे है पेन से छुटकारा पा सकती है ।
  • पीरियड्स में दर्द के दौरान अदरक का सेवन भी तुरंत 8:00 से हो रहे दर्द से राहत पहुंचाता है । एक कप पानी में अदरक के टुकड़े को बारीक काटकर उबाल ले और चाहें तो इसमें स्वादानुसार शक्कर भी मिला लें । दिन में तीन बार भोजन के बाद इसका सेवन कर सकते है । अगर महिलाएं ऐसा ना करना चाहे तो अदरक को कूटकर इसे चाय में मिलाकर पीने से भी पीरियड से हो रहे है दर्द से बहुत चल छुटकारा पा सकता है ।
  • आयुर्वेद में तुलसी को एक बेहतरीन नैचुरल पेन किलर माना जाता है , जिसे पीरियड्स के दर्द में बेझिझक महिलाएं ले सकते है । इसमें मौजूद कैफीक एसिड दर्द में आराम पहुंचाता है । ऐसे में दर्द के समय तुलसी के पत्ते को चाय में मिलाकर पीने से भी आराम मिलता है । अधिक परेशानी होने से महिलाएं चाहे तो आधा कप पानी में तुलसी के 7-8 पत्ते डालकर उबालें और छानकर उसका सेवन करे तो उन्हें जल्द से जल्द पीरियड के दर्द से छुटकारा पा सकते है ।
  • पीरियड्स के दर्द से राहत के लिए महिलाएं चाहे तो गर्म पानी की थैली से पेट और कमर को सेंकती है। गरम पानी के थैले के उपयोग से पीरियड्स के दर्द इससे तुरंत आराम मिलता है । या आप दर्द से निजात पाने के लिए हॉट वॉटर बाग का भी उपयोग कर सकते है । इसके अलावा महिलाओं को हॉट वॉटर बाथ भी पीरियड्स के दौरान लेना चाहिए । हॉट वॉटर बाथ लेने से शरीर में हो रहे दर्द से छुटकारा मिलता है।
  • कई बार ऐसा होता है कि पीरियड्स के दौरान फ्लो ठीक तरीके से न हो पाने के कारण भी महलिओं को अधिक दर्द होता है । ऐसे में महिलाओं को पपीते का सेवन एक बेहतरीन विकल्प है । पपीते का सेवन करने से पीरियड्स के दौरान फ्लो ठीक संतुलित तरीके से होता है, जिससे दर्द नहीं होता है। इसीलिए महिलाओं को पीरियड्स के दौरान पपीते का अवश्य ही सेवन करना चाहिए ।
  • पीरियड्स पेन से निजात पाने के लिए महिलाओं को रोजाना एक्सरसाइज भी करना चाहिए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here