Meena Kumari intresting tale

ट्रेजडी क्वीन के नाम से मशहूर अभिनेत्री मीना कुमारी ने अपने जीवन में कई बेहतरीन फिल्मों में अभिनय किया ।मीना कुमारी बॉलीवुड की एक मशहूर अभिनेत्री थी । वह एक अच्छी एक्ट्रेस ही नहीं बल्कि, एक उम्दा शायरा और पार्श्व गायिका थी । उन्होंने भारतीय फिल्म उद्योग में 7 साल की उम्र में काम करना शुरू कर दिया था । लेकिन उनको बैजू बावरा के लिए बेस्ट अभिनेत्री का फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला । उस दौर में ये पुरस्कार पाने वाली वह पहली अभिनेत्री थी ।

 

ये थी अभिनेत्री की पहली फिल्म और पहली कमाई

कम उम्र में ही मीना कुमारी ने एक्टिंग की दुनिया में कदम रख दिया था । बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट उनकी पहली फिल्म ” लेदरफेस ” थी, जो कि सन् 1939 में रिलीज हुई थी । कहते है कि पहले दिन इस फिल्म के लिए मीना कुमारी को फीस के रूप में 25 रुपये मिले थे । इसके बाद उन्होंने बैजू बावरा, फूल और पत्थर, परिणीता, मेरे अपने, साझ और सवेरा, दो बीघा जमीन, दिल अपना और प्रीत पाराई, साहब बीवी और गुलाम, पाकीजा समेत करीब 90 से अधिक फिल्मों में काम किया । उनके करियर की अंतिम फिल्म ” पाकीजा ” थी ।

 

अभिनेत्री का फिल्मी करियर

मीना कुमारी ने अपने फ़िल्मी कैरियर की शुरुआत वर्ष 1939 में आयी फिल्म ” फ़रज़न्दे ” से की थी , बाद में उन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया और एक सुपरस्टार अभिनेत्री बनी , उनकी लोकप्रियता उस ज़माने में खूब हुआ करती थी‌ । दुर्भाग्य वश लीवर सिरोसिस की वजह से 40 साल की कम उम्र में ही इनका निधन हो गया था । मीना कुमारी ने अपने फ़िल्मी कैरियर में सैकड़ों फिल्मों में अभिनय किया था ।

 

इन अभिनेताओं के साथ अभिनय कर चुकी हैं अभिनेत्री

अभिनेत्री मीना कुमारी ने बॉलीवुड के मशहूर अभिनेताओं (दिलीप कुमार, राजेंद्र कुमार, राज कुमार, अशोक कुमार, देव आनंद, धर्मेंद्र और भारत भूषण) के साथ कई फिल्मों में अभिनय किया था ।

 

मीना कुमारी का असली नाम मज़हबी बानो था

पहले उनका नाम मज़हबी बानो था, बाद में फिल्म फ़रज़न्द-ए-वतन के निर्देशक विजय भट्ट ने इनका नाम बेबी मीना रखा था, कुछ समय बाद लोग इनको मीना कुमारी के नाम से पुकारने लगे थे, जिसकी वजह से इनका नाम मीना कुमारी पड़ गया ।

Meena Kumari Amrohi

 

मीना कुमारी का निजी जीवन

अभिनेत्री मीना कुमारी का फिल्मी करियर भले ही चमकते हुए सितारे की तरह रहा हो, लेकिन उनकी निजी जिंदगी अंधेरे और दुखों से भरी हुई थी । लेकिन कमाल अमरोही का मीना के जीवन में आना किसी बड़ी खुशी से कम नहीं था ।

 

मीना कुमारी और कमाल के मोहब्बत के अफसाने

एक बार मीना कुमारी एक अंग्रेजी मैग्जीन पढ़ रही थी , तभी उनकी नजर एक तस्वीर पर पड़ी और ये तस्वीर थी कमाल अमरोही की । बस फिर क्या था, मीना कुमारी कमाल अमरोही को दिल दे बैठीं और यहीं से दोनों की मोहब्बत के अफसाने शुरू हो गए थे ।उनका प्यार परवान चढ़ाता गया और मीना ने 14 फरवरी 1952 को दो बच्चों के पिता कमाल से शादी रचा ली । मीना कुमारी कमाल को प्यार से चंदन कहती थीं और वह इनको मंजू नाम से पुकारते थे । मीना कुमारी एक सुपरस्टार बन चुकी थीं और सिनेमाई दुनिया के उभरते डायरेक्टर और निर्देशक को ये कतई बर्दाश्त नहीं था उनकी पहचान उनकी पत्नी के नाम से हो । बस फिर क्या था, दोनों के रिश्ते में खटास आने लगी और 1964 में दोनों की राहें जुदा हो गई ।

Meena Kumari on love

मीना कुमारी से विवाह से पूर्व कमाल पहले से ही शादीशुदा थे

सिंगर किशोर कुमार के भाई अशोक कुमार ने फिल्म मेकर कमाल अमरोही को मीना कुमारी से मिलवाया था । वहीं कमाल अपनी अगली फिल्म ” अनारकली ” में मीना को लेना चाहते थे , जिसके चलते अक्सर दोनों की मुलाकातें होने लगीं थी । 21 मई 1951 को मीना कुमारी की कार का भीषण एक्सीडेंट हुआ और उन्हें लंबे समय तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा और कमाल उनसे मिलने के लिए हफ्ते में एक बार वहां जाने लगे । कहा जाता है कि इसी दौरान दोनों की नजदीकियां बढ़ने लगी थी, जिसके बाद 14 फरवरी 1952 को दोनों ने गुपचुप तरीके से निकाह कर लिया था । शादी के समय मीना महज 18 साल और कमाल 34 साल के थे । यही नहीं कमाल पहले से ही शादीशुदा थे और उनके निकाह से उन्हें 3 बच्चे भी थे ।

Meena Kumari love affair

 

मीना कुमारी के जीवनी पर बनेगी फिल्म

अभिनेत्री मीना कुमारी के जीवनी पर फिल्म बनाने जा रहे है फिल्म निर्देशक हंसल मेहता । अब मीना कुमारी की भूमिका के लिए कृति सेनन के चयन की तैयारी चल रही है । इस फिल्म का निर्माण टी- सीरीज कंपनी करने वाली है । इस बात की पुष्टि हो गई है कि हंसल मेहता इस बायोपिक फिल्म का निर्देशन करेंगे ।

 

मीना कुमारी के करियर की लास्ट फ़िल्म

मीना कुमारी के करियर की आखिरी फिल्म पाकीजा थी । 16 जुलाई 1956 को शुरू हुई फिल्म जब 4 फरवरी 1972 को रिलीज हुई । इस फिल्म को बनाने में लगे इतने वक्त के पीछे की वजह मीना कुमारी और कमाल के बीच की अनबन थी । वैसे तो फिल्म पाकीजा से जुड़े इतने किस्से है कि उनपर एक किताबें लिखी जा चुकी है । कमाल से तलाक के बाद मीना कुमारी खूब शराब पीने लगीं और बीमार रहने लगी । पाकीजा की आधी शूटिंग हो चुकी थी, दोनों के रिश्तों में खटास की वजह से फिल्म की शूटिंग अधर में लटक गई । बाद में सुनील दत्त और नरगिस नें उनको फिल्म पूरी करने के लिए मनाया ।

 

अभिनेत्री के लास्ट फ़िल्म के रिलीज होने में 14 साल लंबा वक्त लगा 

मीना कुमारी के आखिरी फिल्म ” पाकीजा ” को रिलीज होने में 14 साल लंबा वक्त लग गया था । इस फिल्म की शूटिंग के वक्त ही मीना कुमारी बहुत बीमार रहने लगी थी , हालात ऐसे थे कि वह सारे सीन खुद करने की स्थिति में नहीं थी । तब मीना कुमारी की डुप्लीकेट बनकर पद्मा खन्ना ने उनके तमाम रोल पूरे किए । फिल्म ” पाकीजा ” की कहानी और कैमरे का कमाल ऐसा कि 16 जुलाई 1956 को शुरू हुई फिल्म जब 4 फरवरी 1972 को रिलीज हुई तो कोई भी दर्शक ये न पकड़ पाया कि परदे पर कहां असली मीना कुमारी है और कहां उनकी डुप्लीकेट बनकर नाचतीं पद्मा खन्ना ।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here