भारत को एक ऐसा गेंदबाज मिल चुका है जिसकी गेंदे आज कल आईपीएल में आग उगल रही है। जी हां अपने रफ्तार से सबको चौंकाने वाले उमरान मलिक ने कल आईपीएल के एक मैच में 157 kmph की रफ्तार से गेंद फेकी जो आईपीएल के इतिहास में दूसरा सबसे तेज गेंद थी और इस सीजन की सबसे तेज गेंद। कल यानी गुरुवार को हैदराबाद की टीम का मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स की टीम के साथ और तब ये रिकॉर्ड बनाया गया मलिक द्वारा। उमरान मलिक ने आईपीएल 2022 में लगातार धूम मचाई है और अपनी रफ्तार से हर किसी को हैरान किया है। उनकी स्पीड हर मैच में बढ़ती ही जा रही हैं। गुरुवार को भी ऐसा ही हुआ, जब दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ उमरान मलिक ने आखिरी ओवर डाला। इस ओवर की लगभग हर बॉल 150 से ऊपर की स्पीड की थी। उमरान अपने आखरी ओवर में और घातक दिखाई पड़ रहे थे। उन्होंने अपना आखरी ओवर इस स्पीड से फेका,पहली बॉल 153 KMPH की रफ्तार से गई उसके बाद उन्होंने दूसरी गेंद पर अपनी स्पीड थोड़ी कम की ओर 145 KMPH की रफ्तार से बॉल फेंकी, तीसरी गेंद पर फिर मलिक ने रफ्तार बढ़ाई और 154 KMPH के रफ्तार से बॉल फेंकी,चौथी गेंद पे तो रिकॉर्ड ही बन गया और आईपीएल इतिहास की दूसरी सबसे तेज गेंद रही चौथी बॉल,उन्होंने चौथी बॉल 157 KMPH की रफ्तार से फेंकी, वही पांचवी गेंद उन्होंने 156 KMPH की रफ्तार से फेंकी। स्पीड के बेताज बादशाह बन चुके हैं उमरान मलिक।

 

स्पीड के बावजूद भी लुटाया रन

 

हालांकि, उमरान मलिक भले ही फुल स्पीड से बॉलिंग कर रहे हों लेकिन इस ओवर में उन्होंने जम के रन बरसाए। 157 KMPH स्पीड वाली बॉल पर दिल्ली कैपिटल्स के रॉवमैन पावेल ने चौका मारा था। जबकि इस पूरे ओवर में 19 रन बने थे। मलिक की रफ्तार तो तेज है लेकिन उस रफ्तार का फायदा सामने वाला बल्लेबाज उठा रहा है। आईपीएल इतिहास की सबसे तेज़ गेंद इन गेंदबाजों ने डाला है, शॉन टैट- 157.71 KMPH, उमरान मलिक- 157.00 KMPH, एनरिक नॉर्किया- 156.22 KMPH, उमरान मलिक- 156.00 KMPH, एनरिक नॉर्किया- 155.21 KMPH, उमरान मलिक- 154.80 KMPH इसमें भारतीय एक ही गेंदबाज है और वो है उमरान मलिक। आपको बता दें कि उमरान मलिक ने लगातार आईपीएल 2022 में अपने तूफानी स्पीड से सबको हैरान किया है। वह लगभग हर मैच में सबसे तेज गेंदबाजी के लिए अवॉर्ड भी ले चुके हैं। इसी आईपीएल में एक इंटरव्यू के दौरान उमरान मलिक ने कहा था कि वह जल्द ही 155 की स्पीड को पार करना चाहते हैं और उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हुए मैच में ऐसा कर भी दिया। उन्होंने अपनी रफ्तार का लोहा मनवा लिया है पूरे विश्व में, अच्छे अच्छे खिलाड़ी इनकी रफ्तार को लेकर तारीफ कर रहे है। लेकिन, कल यानी गुरुवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हुए इस मैच में उमरान मलिक काफी महंगे साबित हुए थे। उमरान मलिक ने गुरुवार को अपने चार ओवर में 52 रन दिए थे। डेविड वॉर्नर ने उनके एक ओवर में 21 रन बनाए, जबकि रॉवमैन पावेल ने उनके आखरी ओवर में 19 रन बना डाले।

 

दिल्ली के बल्लेबाज़ों ने हैदराबाद के गेंदबाजों को धोया

 

दिल्ली की टीम जब बैटिंग करने उतरी तो उसकी शुरूआत बिलकुल खराब रही क्योंकि पहला विकेट ही शून्य पर गिर गया। मंदीप सिंह और डेविड वार्नर ओपनिंग करने उतरे थे लेकिन मनदीप सिंह जल्दी आउट हो कर वापस लौट गए। लेकिन फिर भी दिल्ली कैपिटल्स के बल्लेबाजों ने इस मैच में रनों का अंबार लगा दिया। अपनी पुरानी टीम के खिलाफ सीनियर प्लेयर डेविड वॉर्नर का बल्ला खूब गरजा और उन्होंने 92 रनों की शानदार तेजतर्रार पारी खेली और हैदराबाद के बॉलर्स की जमकर खबर ली। डेविड वॉर्नर भले ही अपने शतक से चूक गए लेकिन उन्होंने अपनी टीम को 207 के स्कोर पर तक पहुंचाया और अपनी पुरानी टीम के गेंदबाजों की अच्छे से खबर ली।

 

डेविड वॉर्नर के अलावा दिल्ली के रॉवमैन पावेल भी पीछे नहीं रहे और उन्होंने तो तूफान ही ला दिया था छक्कों का। रॉवमैन पावेल ने मात्र 35 गेंदों में 67 रनों की पारी खेली, इसमें 3 चौके और 6 शानदार छक्के शामिल थे। रॉवमैन ने पारी के आखिरी ओवर में 19 रन बटोरे और आईपीएल के सबसे तेज गेंदबाज उमरान मलिक पर टूट पड़े। जब सब मार ही रहे थे तो कप्तान ऋषभ पंत पीछे कैसे रह जाते उन्होंने भी आते खेलना शुरू कर दिया लेकिन वो अपने स्कोर को लंबा नही खीच पाय और 16 गेंदों में 26 रन बनाकर आउट हो गए उन्होंने अपनी 26 रन की पारी में 3 शानदार छक्के लगाए।

 

अच्छी बल्लेबाजी के बाद भी हारी हैदराबाद

 

हैदराबाद की शुरुआत इस मैच में अच्छी नही रही और फॉर्म में चल रहे अभिषेक शर्मा और कप्तान केन विलियमसन जल्दी ही आउट हो गए। जब टीम का स्कोर 8 रन था तभी अभिषेक शर्मा आउट हो कर वापस लौट गए उसके बाद कप्तान केन विलियमसन ने काफी धीमी पारी खेली और उन्होंने 4 रन बनाने के लिए 11 गेंद खेले और उसके बाद जब टीम का स्कोर 24 रन था तब वो भी आउट हो कर पवेलियन लौट गए। 2 विकेट गिरने के बाद भी टीम संभली नही और राहुल त्रिपाठी भी जल्दी चले गए। ये एक बड़े स्कोर का प्रेशर ही था जो जल्दी जल्दी 3 विकेट गिर गए। सनराइजर्स हैदराबाद के लिए सबसे अच्छी पारी निकोलस पूरन ने इस मुकाबले में खेली पूरन ने कमाल कर दिया। उन्होंने 34 बॉल में 62 रनों की पारी खेली, जिसमें 6 शानदार छक्के शामिल थे। निकोलस पूरन जब खेल रहे थे तो ऐसा लगने लगा था की वो अकेले अपने दम पर मैच जीता देंगे, लेकिन वह आखिरी में अपना विकेट दे बैठे और जैसे ही वो आउट हुए वैसे ही हैदराबाद की जीतने की उम्मीदें भी टूट गई। खराब शुरुआत के बाद में एडन मर्करम ने 42 रनों की तेज पारी खेली लेकिन वो उस पारी को ज्यादा नही बढ़ा सके, और जैसे ही वो आउट हुए वैसे ही निकोलस अकेले पड़ गए। खराब शुरुआत के बाद भी हैदराबाद की टीम ने अच्छी खासी लड़ाई दे दी दिल्ली की टीम को लेकिन वो मैच जीत नही सके। हैदराबाद की टीम का अंकतालिका में छठा स्थान है जबकि उसके भी उतने ही अंक है जीतने दिल्ली के है लेकिन दिल्ली का रनरेट हैदराबाद से अच्छा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here