उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अब तक पांच चरण का मतदान हो चुका है और छठे चरण का मतदान कल होना है। छठे चरण के लिए मंगलवार को शाम छह बजे तक अनुमति थी जोकि अब प्रचार प्रसार रुक चुका है। आपको बता दे तीन मार्च यानी कल कुल 57 सीटों पर मतदान होना है। जिसके लिए कुल 676 प्रत्याशी रण में है। छठे चरण के कुल 10 जिले है, अंबेडकरनगर, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संतकबीरनगर, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, और बलिया 57 विधानसभा सीटों के लिए कल मतदान होगा।

 

छठे चरण के लिए विधानसभा सीटे।

 

कटेहरी, टांडा, आलापुर (सुरक्षित), जलालपुर, अकबरपुर, तुलसीपुर, गैंसड़ी, उतरौला, बलरामपुर (सुरक्षित), शोहरतगढ़, कपिलवस्तु (सुरक्षित), बांसी, इटवा, डुमरियागंज, हर्रैया, कप्तानगंज, रुधौली, बस्ती सदर, महादेवा (सुरक्षित), मेंहदावल, खलीलाबाद, धनघटा (सुरक्षित), फरेंदा, नौतनवा, सिसवा, महराजगंज (सुरक्षित), पनियरा, कैम्पियरगंज, पिपराइच, गोरखपुर शहर, गोरखपुर ग्रामीण, सहजनवा, खजनी (सुरक्षित), चौरी-चौरा, बांसगांव (सुरक्षित), चिल्लूपार, खड्डा, पडरौना, तमकुही राज, फाजिलनगर, कुशीनगर, हाटा, रामकोला (सुरक्षित), रुद्रपुर, देवरिया, पथरदेवा, रामपुर कारखाना, भाटपार रानी, सलेमपुर (सुरक्षित), बरहज, बेल्थरा रोड (सुरक्षित), रसड़ा, सिकंदरपुर, फेफना, बलिया नगर, बांसडीह व बैरिया।

 

गोरखपुर शहर विधानसभा क्षेत्र 322 से सीएम योगी आदित्यनाथ है प्रत्याशी।

 

आपको बता दें कि, सीएम योगी आदित्यनाथ भी गोरखपुर शहर से प्रत्याशी है। और ये पहली बार है जब कोई सीएम विधानसभा चुनाव लड़ रहा है। और शायद इसीलिए कल का चरण बेहद खास है क्योंकि कल छठे चरण में गोरखपुर में भी मतदान होना है। और भारतीय जनता पार्टी इस सीट को किसी भी हाल में जीतना चाहती है और योगी आदित्यनाथ भी इसके लिए मेहनत कर रहे है। वही दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने सुभावती शुक्ला को अपना प्रत्याशी बनाया है। और इसलिए भारतीय जनता पार्टी की पूरी प्रतिष्ठा इससे जुड़ गई है। इसी तरह नेता प्रतिपक्ष और सपा के दिग्गज रामगोविंद चौधरी के अलावा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और बसपा प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर सिंह की सीट पर भी इसी चरण में मतदान होना है। सभी की नजर फाजिलनगर पर भी टिकी है, क्योंकि योगी सरकार में मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य भाजपा को मिट्टी में मिलाने की हुंकार के साथ इस बार सपा प्रत्याशी के रूप में ताल ठोंक रहे हैं।

 

आज आजमगढ़ की विधानसभा क्षेत्र सगड़ी में जनसभा को संबोधित किया सीएम योगी ने

 

योगी आदित्यनाथ ने कहा की छठे चरण तक के लिए चुनाव प्रचार बंद हो चुका है। और आज मैं सातवें चरण के लिए मऊ से शुरू करके अब आजमगढ़ की जनता को संबोधित करने आया हूं। कहा पांच चरण का मतदान हो चुका है और जो रुझान आ रहा है। उसमे भारतीय जनता पार्टी प्रचंड बहुमत से एक बार भी सरकार बनाने जा रही है। और कहा पांच चरण ने तो साबित कर चुका है और अब छठे चरण में जो छक्के लगेगे उससे 275 का आंकड़ा हम पर करेगे। और वही सातवें चरण में इस संख्या को 305 के भी ऊपर लेके जाना है। और ये संख्या इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि हम आपको एक दमदार सरकार दे सके। क्योंकि ऐसी सरकार जो सबको सुरक्षा दे सके, उन्होंने आपने देखा होगा भारतीय जनता पार्टी ने पांच साल सरकार चलाई है। जिसमे सुरक्षा सबको, सम्मान सबको, और विकास सबका। हमने जीरो टॉलरेंस की नीति से काम किया है जोकि पूरे प्रदेश में दिख भी रहा है। आगे मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि, घोर परिवारवादियों और दंगावादियो को जनपद आजमगढ़ ने ऐतिहासिक सबक मिलने जा रहा है। यहां की राष्ट्रवादी जनता -जनार्दन ने है बूथ पर ‘दंगेश’ को बुरी तरह से हराने व सुशासन को प्रचंड बहुमत से विजयी बनाने का निर्णय लिया है। जिसके लिए मैं पूरे आजमगढ़ वासियों को धन्यवाद कहता हूं।

 

दंगो में खुली जीप पर घूमने वाले योगी सरकार में घुटने पर – मोदी।

 

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गाजीपुर में सभा को संबोधित करने पहुंचे। वहा पर उन्होंने लगभग एक घंटे सभा को संबोधित किया। संबोधन की शुरुवात करते हुए उन्होंने कहा शहीदों की धरती गाजीपुर और यहां के शहीदों को पीएम ने नमन किया। अब्‍दुल हमीद और उनकी पत्‍नी को भी मंच से याद किया। मनोज सिन्‍हा का जिक्र करते हुए कश्‍मीर को जिम्‍मेदारी से संभालने की जानकारी दी। कहा कि पांच चरणों में बीजेपी परचम लहरा चुकी है। बीजेपी की सरकार बननी तय है, लेकिन रिकार्ड जीत दिलाने के लिए एक-एक वोट जरूरी है। डबल इंजन सरकार को आपका एक एक वोट ऊर्जा देगा। आपका एक एक वोट उन घोर परिवार वादियों को करारा जवाब देगा। घोर परिवारवादी इस क्षेत्र को इतने दशकों से विकास से वंचित रखा। गाजीपुर की धरती का संबंध मां गंगा और कृषि से है। परिवारवादियों ने अपने स्‍वार्थ में पुण्‍य क्षेत्र की पहचान बदल कर रख दी। उनके शासन में यहां की पहचान गहमर के वीर न होकर माफ‍िया और बाहुबली बन गए थे। क्‍या आपको यह प‍हचान मंजूर है। यह पहचान बदलने का मौका है। इनको सजा दोगे? आपको परिवारवादियों को सत्‍ता से बाहर रखना है। हमारे दलित भाई-बहनों की बस्‍ती जलाई थी। गाजीपुर के लोग भूले नहीं हैं, वह दौर जब हमारे होनहार साथी कृष्‍णानंद राय को गोलियों से छलनी कर दिया था। दंगों में खुली जीप पर घूमने वाले योगी सरकार में घुटनों पर आ गए हैं। गाजीपुर को उन परिस्‍थतियों से निकालकर योगी शासन में गाजीपुर के विकास को प्राथमिकता दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here