CSK के आईपीएल सीजन 2022 में बनाये गए नए कप्तान रविन्द्र जडेजा ने बीच सफर में ही कप्तानी छोड़ दी , जिसमें उन्होंने कहा कि खेल पर ध्यान केंद्रित करने के लिए यह फैसला लिया गया है। हालांकि CSK का इस सीजन में प्रदर्शन काफी खराब रहा है , जिसमें CSK के द्वारा खेले गए 8 मैच में से सिर्फ 2 ही मैच में जीत हासिल हुई है। बीच सीजन में जडेजा के द्वारा कप्तानी छोड़ने के बाद CSK के पूर्व कप्तान एम एस धोनी को फिर से टीम की कमान सौंपी गई है। आईपीएल 2022 सीजन शुरू होने से 2 दिन पूर्व ही धोनी ने भी कप्तानी छोड़ी थी।

 

37 दिन में फिर धोनी को सौंपी गई टीम की कमान : CSK ने की आधिकारिक घोषणा

 

CSK टीम की शनिवार को प्रेस रिलीज के अनुसार जडेजा ने खेल पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया , जडेजा के फैसले को स्वीकार कर 37 दिन के अंदर ही धोनी को फिर से टीम की कमान सौंपी गई है एवं 1 मई को होने वाले मुकाबले में धोनी टीम की कप्तानी करते नज़र आएंगे। आईपीएल 2022 सीजन के 2 दिन पूर्व ही धोनी ने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था , जिसके बाद जडेजा को टीम का नया कप्तान बनाया गया था। लेकिन कप्तानी के दवाब में टीम के प्रदर्शन के साथ-साथ जडेजा का भी खराब प्रदर्शन रहा , जिसके चलते उन्हें बीच में ही कप्तानी छोड़नी पड़ी।

 

जडेजा ने खेल पर ध्यान केंद्रित करने की बताई वजह , धोनी से किया कप्तानी का अनुरोध 

 

CSK के हालिया खराब प्रदर्शन के बाद जडेजा ने बीच सीजन में ही कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है। जडेजा के द्वारा उनके खराब प्रदर्शन को कप्तानी छोड़ने की वजह बताया गया है और उन्होंने कहा है कि वो अपना ध्यान खेल पर केंद्रित करना चाहते है। एमएस धोनी से उन्होंने CSK की पुनः कप्तानी करने का अनुरोध किया , धोनी ने भी टीम के हित में कप्तानी करना स्वीकार किया है।

 

CSK के साथ- साथ जडेजा का भी खराब प्रदर्शन

 

जहां एक ओर कप्तान जडेजा के नेतृव में टीम का प्रदर्शन खराब रहा और 8 में से सिर्फ 2 मैच ही जीत दर्ज कर पाई , वहीं दूसरी ओर जडेजा भी बल्ले और गेंद से कुछ खास नही कर पाए और सिर्फ संघर्ष ही करते नज़र आये । उनके द्वारा सीज़न में खेली गई 8 परियों में 121.7 के स्ट्राइक रेट से जहां सिर्फ 112 रन बनाए वहीं गेंद से भी 8.19 के इकॉनमी रेट से सिर्फ 5 विकेट ले पाए।

 

CSK को 8 में से सिर्फ 2 ही मैच में मिली जीत , अंकतालिका में 9वें स्थान पर

 

रविन्द्र जडेजा की कप्तानी में CSK ने इस सीजन खेले गए 8 में से 2 मैच में ही जीत दर्ज की है और खराब प्रदर्शन की वजह से अंकतालिका में 9वें पायदान पर है। पहली जीत बैंगलुरु के खिलाफ मिली , वहीं दूसरी जीत इस सीजन में सबसे नीचे पायदान पर चल रही मुम्बई इंडियंस के विरुद्ध मिली । ऐसे में धोनी के ऊपर बड़ी जिम्मेदारी होगी कि आगे आने वाले मैच में टीम के प्रदर्शन में कैसे सुधार कर अंकतालिका में ऊपर लेके जाए , हालांकि दवाब में कप्तान की भूमिका को धोनी से अच्छा कोई क्या जाने , फिर भी अब CSK की लड़खड़ाई हुई पारी की जिम्मेदारी कैप्टेन कूल के ही हाथ मे है।

 

टीम बाहर होने की कगार पर , रविवार को हैदराबाद के साथ मैच

 

टीम की कमान धोनी को ऐसे समय मे दी गयी है जहां से टीम बाहर होने की कगार पर है। शनिवार के CSK के आधिकारिक घोषणा के बाद टीम का कप्तान धोनी को बनाया गया है और जब टीम रविवार यानी 1 मई को अपने 9 वें मैच में सनराइज़र्स हैदराबाद से मैच खेलने मैदान में उतरेगी तब टीम की कमान एमएस धोनी के हाथ मे होगी , यहां से टीम के प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए धोनी की कप्तानी अहम भूमिका होगी। हालांकि धोनी के लिए आगे की राह आसान नही होगी लेकिन दवाब में खेलना धोनी बखूबी जानते है।

 

चौथी बार किया गया CSK टीम की कप्तानी में बदलाव

 

जडेजा के कप्तानी छोड़ने के बाद धोनी को टीम के चौथे कप्तान के रूप में दूसरी बार चेन्नई की कमान सौंपी गई है।इससे पहले धोनी ने अपनी कप्तानी में चेन्नई को 213 मैच में 130 मैच में जीत दिलाई है। चेन्नई के लिए सुरेश रैना भी कप्तानी कर चुके है । रैना ने चेन्नई के लिए 6 मैचों में कप्तानी की , जिसमे से सिर्फ 2 मैच में ही जीत मिली।

24 मार्च को आईपीएल 2022 सीजन के 2 दिन पूर्व ही जब धोनी ने अचानक टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया तो रविन्द्र जडेजा को CSK टीम का नया कप्तान बनाया गया । तब जडेजा चेन्नई के तीसरे कप्तान बने थे।

 

जडेजा की हो रही थी आलोचना , धोनी को कप्तानी मिलने के बाद फैन्स में उत्साह

 

CSK टीम के लगातार खराब प्रदर्शन से चेन्नई टीम के नए कप्तान जडेजा की आलोचना हो रही थी । वैसे तो जडेजा का आईपीएल में शानदार प्रदर्शन होता है लेकिन कप्तानी के दवाब में इस सीजन में जडेजा कुछ खास नही कर पाए है। जिसके चलते टीम के फैन्स में जडेजा के लिए काफी नाराज़गी थी। लेकिन धोनी को पुनः कप्तानी मिलने से CSK टीम और धोनी के फैन्स में फिर से एक नया उत्साह देखने को मिल रहा है।

 

धोनी का हो सकता है आखिरी आईपीएल , अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से पहले ही ले चुके हैं सन्यास

 

40 बर्षीय एम एस धोनी को फिर से चेन्नई टीम की कमान सौंपी गई है । वर्ष 2008 में खेले गए आईपीएल के पहले सीजन से धोनी टीम के कप्तान रहे हैं और चेन्नई ने धोनी की कप्तानी में चार बार आईपीएल के खिताब को अपने नाम किया है। लेकिन यह सीजन धोनी का आखिरी आईपीएल हो सकता है। भारतीय टीम के सबसे सफल कप्तान एमएस धोनी पूर्व में ही अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से भी सन्यास ले चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here