क्या आपको लगता है कि मच्छर हर जगह आपको ही ढूंढ-ढूंढकर काटते हैं या आपके पीछे पड़े रहते हैं तो आप बिल्कुल भी गलत नहीं है । मच्छर लोगों की भीड़ में भी खासतौर से आपको ही खाते हैं और इसके पीछे आपका वहम नहीं बल्कि कई कारण है । स्टडीज बताती हैं कि मच्छरों का आपको सबसे ज्यादा काटने के पीछे क्या कारण हैं जोकि आपको बहुत हैरान कर सकते है । हालांकि, यहां मामला मीठे या कड़वे खून का नहीं है बल्कि कई अलग चीजे है । आप भी जान लीजिए इसकी असल वजह –

ब्लड टाइप का है महत्वपूर्ण रोल 

कई स्टडीज का कहना है कि ब्लड टाइप O को ज्यादा मच्छर काटते है । मच्छर इस ब्लड ग्रूप से ज्यादातर आकर्षित होते हुए देखे गए है ‌। वहीं, मेटाबॉलिक रेट भी मच्छरों की पसंद को प्रभावित करता है । प्रेग्नेंट औरतों और मोटे लोगों का मेटाबॉलिक रेट ज्यादा होता है जिस चलते मच्छर उन्हें ज्यादा काटते है ।

पसीना और महक भी हो सकते है वज़ह

मच्छर खुशबू-बदबू सब सूंघ सकते है । उन्हें लैक्टिक एसिड, अमोनिया और अन्य कंपाउंड्स की भी पहचान होती है, जो पसीने के माध्यम से शरीर से निकलते है । अगर मच्छरों को आपके शरीर से आ रही गंध अच्छी लगेगी तो वे आपको ज्यादा काट सकते है ।

 

स्किन के ऊपर मौजूद बैक्टीरिया मच्छरों के लिए है आमंत्रण

स्किन के ऊपर मौजूद बैक्टीरिया मच्छरों के लिए आमंत्रण होता है । कई रिसर्च कहती हैं कि व्यक्ति के शरीर पर जितने बैक्टीरिया होंगे उतने ही मच्छर उसकी तरह आएंगे । इस चलते भी मच्छर ज्यादातर पैरों में काटते है क्योंकि वहां बैक्टीरिया ज्यादा देखे जाते है ।

गैस भी है महत्वपूर्ण कारण

कार्बनडाइऑक्साइड ऐसी गैस है, जिसकी मच्छरों को पहचान है । इसके साथ ही, मच्छर 5 से 15 मीटर दूर से भी मच्छर अपने निशाने को पहचान लेते है ‌। जो लोग जितनी लंबी सांसे लेते है । यानी कार्बनडाइऑक्साइड प्रोड्यूस करते हैं, उतने ही मच्छर उनकी तरफ आकर्षित होते है ।

मच्‍छर बच्चों के लिए हो सकता है बहुत घातक

मच्‍छर के काटने से बच्‍चों को कई तरह की बीमारियां हो सकती है । चूंकि, बच्‍चों की इम्‍यूनिटी बहुत कमजोर होती है इसलिए वो इन बीमारियों से ठीक तरह से लड़ भी नहीं पाते है । ऐसे में बच्‍चों को मच्‍छरों से बचाना बहुत जरूरी है वरना उनकी सेहत को खतरा हो सकता है । मच्‍छरों से बचने के लिए बच्‍चों को पूरी बाजू के कपड़े पहनाना या शाम के समय खिड़की-दरवाजों को बंद रखना ही काफी नहीं है बल्कि इसके लिए आपको एक अहम बात का भी ध्‍यान रखना होगा ।

मच्छर के काटते से होने वाली बीमारियां

मच्छर काटते पर क्यों होती है खुजली ?

इस मौसम में मच्छरों के काटने से बीमारियां फैलने का खतरा सबसे ज्यादा बढ़ जाता है । मच्छर न लेवल शरीर से खून चूसते हैं बल्कि उनके काटने से अहसहनीय खुजली भी होने लगती है । लेकिन कई लोग ये नहीं जानते कि शरीर की जिस जगह पर मच्छर काटते हैं वहाँ खुजली क्यों होने लगती है?  आइए जानते हैं इसके पीछे का कारण –

मादा मच्छर शरीर से खून चूसने के लिए अपना बारीक डंक शरीर में चुभोती है । मनुष्य के शरीर में खून का थक्का बहुत जल्दी बनने की वजह से खून चूसते समय शरीर में एक विशेष तरह का जहरीला रसायन मिला देती है । इस वजह से मच्छर को खून चूसने में परेशानी नहीं होती । जहरीला रसायन जब शरीर में पहुंचता है उसी वजह से व्यक्ति को खुजली होने लगती है ।

मच्छर अपने डंक की मदद से जिस प्रोटीन को शरीर में प्रवेश करवाते हैं उसके साइडइफेक्ट से बचने में रोग प्रतिरोधक क्षमता व्यक्ति की मदद करती है । इस रोग प्रतिरोधक क्षमता को हिस्टामिन के नाम से जाना जाता है जो एक कंपाउंड रिलीज करती है । यह कंपाउंड शरीर के अंदर मौजूद व्हाइट ब्लड सेल्स को प्रभावित क्षेत्र तक पहुंचाकर उस प्रोटीन से लड़ने में मदद करता है । हिस्टामिन नाम के इस कंपाउंड की वजह से भी व्यक्ति को खुजली और सूजन महसूस होती है ।

रात के समय है मच्छर का सबसे ज्यादा खतरा

रात के समय मच्‍छर सबसे ज्‍यादा एक्टिव होते है और यही वो समय है जब मच्‍छरों से सबसे ज्‍यादा खतरा रहता है । दिन में सूरज की रोशनी मच्‍छरों को मार सकती है लेकिन इसलिए वे शाम होने के बाद एक्टिव रहते है‌ ।

मच्‍छर ठंडी जगहों पर होते है और शाम होते ही बाहर निकलते है । रात में भी मच्‍छर काटते हैं और सुबह होने से पहले ही मच्‍छर भाग जाते है । सिर्फ डेंगू फैलाने वाला एडीज मच्‍छर ही उन मच्‍छरों में से एक है जो दिन में काटते है ।

सुबह के समय डेंगू फैलाने वाले एडीज जैसे मच्‍छरों का आतंक रहता है । सुबह जब हम सो के उठते है तो इस समय उन्‍हें मच्‍छरों से खतरा रहता है । स्‍कूल में खासतौर पर स्‍विमिंग पूल में, बगीचे में मच्‍छर ज्‍यादा रहते है ।

स्‍कूल के बाद जब हम टीवी देखते हैं, घर में खेलते हैं या घर में ही घूमते रहते है । इस समय भी मच्‍छर बाहर निकले हो सकते हैं और आपको काट सकते है । इस समय मच्‍छरों को दूर भगाने के लिए मच्‍छर मारने की दवा का इस्‍तेमाल जरूर करें।

 

मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियां

मच्छर कई तरह की बीमारियों को फैलाने के लिए जिम्मेदार होते है । वे वेक्टर-जनित, परजीवी या जीवाणु रोग हो सकते है । उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में मच्छरों द्वारा बीमारियों के फैलने की दर सबसे अधिक है । मच्छर के काटने से होने वाली कुछ गंभीर बीमारियां हैं: कई तरह की बीमारियों को फैलाने के लिए जिम्मेदार होते हैं । मच्छर वेक्टर-जनित, परजीवी या जीवाणु रोग हो सकते है । उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में मच्छरों द्वारा बीमारियों के फैलने की दर सबसे अधिक है। मच्छर के काटने से होने वाली कुछ गंभीर बीमारियां है –

  • मलेरिया
  • डेंगू
  • जीका वायरस
  • पीला बुखार
  • चिकनगुनिया
  • लिम्फेटिक फाइलेरिया
  • जापानी एन्सेफलाइटिस आदि बीमारियां मच्छरों के काटने से होती है।

बता दें कि मच्छरों से बचाव के लिए अपने आस-पास साफ-सफाई रखने से इन बीमारियों को रोकने में काफी मदद मिलेगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here